दैनिक भास्कर हिंदी: आतंकी हमले से जेएनयू हिंसा की तुलना : संजय राऊत ने समझाया उद्धव के कहने का मतलब 

January 7th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे जेएनयू हिंसा की तुलना मुंबई के साल 2008 के 26/11 आतंकी हमले से करने पर हुई आलोचना के बाद शिवसेना अपने नेता के बचाव में उतर आई है। शिवसेना सांसद संजय राऊत ने कहा कि मुख्यमंत्री के पास ज्यादा जानकारी होती है। मुख्यमंत्री जेएनयू में हिंसा करने वाले नकाबपोश के बारे में कहना चाह रहे थे। मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में राऊत ने कहा कि मुख्यमंत्री का कहना था कि हिंसा करने वाले मुंह छिपा कर क्यों जेएनयू के भीतर जा रहे थे। राऊत ने कहा कि रात के अंधेरे में कहीं पर आंतकी जाते हैं या फिर डेकैत और चोर जाते हैं। मैं किसी पर आरोप नहीं लगा रहा हूं। क्योंकि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हिंसा मामले की जांच के आदेश दिए हैं। 

जेएनयू हिंसा की तुलना आतंकी हमले से करने पर घिरे मुख्यमंत्री के बचाव में पार्टी 

शाह के भाजपा की ओर से नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर चलाए जा रहे अभियान की अगुवाई करने पर राऊत ने कहा कि इसकी कोई जरूरत नहीं है। देश के गृह मंत्री का काम घर-घर जाकर पम्पलेट बांटना नहीं है। पम्पलेट बांटना गृह मंत्री को शोभा नहीं देता। हम समझते हैं कि गृह मंत्रालय में बहुत काम पड़ा है। राऊत ने कहा कि शाह ने सीएए के समर्थन में देश के सामने जो बातें रखी हैं और संसद में जो कानून पास हुआ है उस पर उन्हें विश्वास होना चाहिए। इस बीच राऊत ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में हम लोग एक बार फिर से उत्तर प्रदेश के अयोध्या में जाएंगे। उन्होंने कहा कि अयोध्या दौरे की तारीख जल्द ही बताई जाएगी। 
 

खबरें और भी हैं...