comScore

वर्धा हिंदी विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ कांग्रेस ने की कार्रवाई की मांग

वर्धा हिंदी विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ कांग्रेस ने की कार्रवाई की मांग

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कांग्रेस ने विद्यार्थियों के निलंबन के मामले में वर्धा स्थित महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इस संबंध में शनिवार को कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल ने राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय को पत्र सौंपा। पार्टी की ओर से विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई। कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि विश्वविद्यालय ने 9 अक्टूबर को एससी प्रवर्ग के तीन और ओबीसी प्रवर्ग के तीन कुल छह विद्यार्थियों के खिलाफ निष्कासन की कार्रवाई की है। इन विद्यार्थियों की गलती केवल इतनी थी कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर समाज में होने वाली गलत घटनाएं उनके संज्ञान में लाने की कोशिश की।

ये विद्यार्थी किस दल से जुड़े नहीं हैं। केवल विद्यार्थियों ने कांशीराम की जयंती के मौके पर समाज की अनूचित घटनाएं प्रधानमंत्री के संज्ञान में लाने के लिए पत्र लिखा था। इस पर विश्वविद्यालय ने विद्यार्थियों को निलंबत कर दिया। विश्विद्यालय प्रशासन ने कहा है कि विद्यार्थियों ने विधानसभा चुनाव के लिए लागू आचार संहिता का उल्लंघन किया है। सावंत ने कहा कि देश में पांच साल में मनुवादी विचारधारा को स्थापित करने का कोशिश संघ विचार के माध्यम से शुरू है। इसके लिए जानबूझकर विद्यार्थियों को निशाना बनाया जा रहा है। बहुजन समाज के विद्यार्थियों पर अत्याचार किया जा रहा है। 

कमेंट करें
wZu9v