comScore

कांग्रेस ने कहा- लगाएं जैमर ईवीएम से हो सकती है छेडछाड़, एग्जिट पोल्स के आंकडों से भाजपा में उत्साह

October 22nd, 2019 19:57 IST
कांग्रेस ने कहा- लगाएं जैमर ईवीएम से हो सकती है छेडछाड़, एग्जिट पोल्स के आंकडों से भाजपा में उत्साह

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बाला साहेब थोरात ने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की आशंका जताते हुए स्ट्रांग रुम और मतगणना केंद्रों पर जैमर लगाने की मांग की है। थोरात ने इसको लेकर राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी बलदेव सिंह को पत्र लिखा है। थोरात ने कहा है कि जनभावना है कि इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को टैंपर किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मतगणना के दौरान प्रत्येक राउंड के बाद आकड़ों का एलान किया जाए। इसके बाद दूसरे फेरी की मतगणना शुरु की जाए। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि वीवीपैट पर्ची गणना के लिए ईवीएम चुनने का अधिकार मतगणना एजेंट को मिलना चाहिए। किसी ईवीएम के बारे में आशंका होने पर उस मशीन के वोटों की गिनती चार बार होनी चाहिए और उसके 50 फीसदी वीवीपैट पर्ची की गणना होनी चाहिए।  

एक्जिट पोल पर कांग्रेस को एतराज

प्रदेश कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव परिणाम को लेकर न्यूज चैनलों द्वारा जारी एक्जिट पोल के आकड़ों को सत्य से परे मानते हुए कहा कि इससे जनता में रोष है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि एक्जिट पोल को लेकर न्यूज चैनलों में प्रतिस्पर्धा है। उन्होंने कहा कि एक्जिट पोल के परिणाम जाहिर करने वाले न्यूज चैनल विधानसभा वार और बुथवार आकड़े जाहिर करें। जिससे जनता वस्तुस्थिति जान सके। 

भाजपा ने संभावित चुनाव नतीजों के परिदृश्य पर की चर्चा

उधर नई दिल्ली में महाराष्ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनाव के एग्जिट पोल्स के आंकडों से भाजपा में उत्साह का माहौल है। एग्जिट पोल्स के नतीजों के बाद पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नढ्‌ढा ने मंगलवार को पार्टी के महासचिवों की बैठक बुलाई थी। सूत्रों के अनुसार बैठक में दोनों राज्यों के गुरुवार को आने वाले संभावित चुनाव नतीजों के परिदृश्य पर चर्चा की गई। सोमवार को दोनों राज्यों में मतदान के बाद कई खबरियां चैनलों ने एग्जिट पोल्स के नतीजे घोषित किए है जिसमें महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना गठबंधन को पूर्ण बहुमत मिल रहा है। हालांकि पार्टी के आंतरिक सर्वेक्षण ने दोनों राज्यों में भारी जीत का अनुमान लगाया है। हाल ही में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद विनय सहस्त्रबुद्दे ने भी औनपचारिक बातचीत में संकेत दिए थे कि पार्टी मजबूती के साथ वापसी कर रही है और हम अपने दम पर सरकार बना लेंगे। सूत्रों के अनुसार पार्टी मुख्यालय में हुई बैठक में इस मुद्दे पर भी मंथन किया गया है कि भाजपा को अकेले बहुमत मिल भी जाता है तो भी वह केन्द्र की तरह अपने सहयोगियों को सांकेतिक रुप में सरकार में जगह देगी। चुनाव नतीजे आने के बाद पार्टी के संसदीय बोर्ड की बैठक होगी। जिसमें इन मुद्दों पर चर्चा होगी और आगे की रणनीति तय की जायेगी। 

कमेंट करें
8ICsM