घोटाला: अकोला की जिला परिषद में भ्रष्टाचार का कांग्रेस के जिप सदस्यों ने किया खुलासा

February 20th, 2022

डिजिटल डेस्क, अकोला। कचरापेटी खरीदी प्रक्रिया में धांधली की गई है। जांच समिति की ओर से किए गए निरीक्षण में 144 कचरा पेटियों की जगह सिर्फ 23 पेटियां ही मिली है। इस मुद्दे को लेकर शुक्रवार को हुई जिला परिषद स्थायी समिति की सभा में कांग्रेस गुट के सदस्य ने देने की बात कही। उन्होंनें जांच रिपोर्ट के आधार पर भ्रष्टाचार का खुलासा किया। इस पर पंचायत विभाग के डिप्टी सीईओ ने दोषियों पर कार्रवाई प्रस्तावित करने की बात कही। वाड़ेगांव ग्राम पंचायत की मासिक सभा में कचरा पेटी खरीदने के विषय मंजूर किए गए। यह खरीदी 15 वें वित्त आयोग की निधि से की गई। मात्र ग्रामसेवक गजानन डिवरे की समयावधि में ग्राम पंचायत में नियमबाह्य काम होने का आरोप करते हुए वाडेगांव के जिप सदस्य चंद्रशेखर चिंचोलकर ने विभागीय आयुक्त व जिप के सीईओ से शिकायत की।

साहित्य मिलने से पहले राशि की गई वितरित

कचरा पेटी के लिए 22 अक्टूबर 2021 को 7 लाख 77 हजार रुपए खर्च बताया गया। संपूर्ण साहित्य कब्जे में लेने के बाद खर्च करना अपेक्षित था किन्तु इस पध्दति को दरकिनार करते हुए ग्राम पंचायत ने पहले ही राशि खर्च कर डाली। यह बात जांच में सामने आई है। जिसका उल्लेख रिपोर्ट में किया गया है। 

शिवसेना, बीजेपी, निर्दलीय सदस्य रहे अनुपस्थित

स्थायी समिति की सभा में शिवसेना, भाजपा व निर्दलिय सदस्य उपस्थित नहीं थे। सभा के लिए आवश्यक संख्या पूरी न होने से सभा स्थगित होती नजर आ रही थी इस बीच एक सभापति समय पर पहुंचने से सदस्यों की संख्या पूरी हो गई। दोपहर 2.10 बजे सभा शुरु हुई जो 2.40 बजे समाप्त हो गई।

रास्तों का मुद्दा गूंजा

शिवणी, कुंभारी इस ग्रमीण रास्ते को लेकर वंचित के गुट नेता ज्ञानेश्वर सुलताने ने अगली सभा में जानकारी प्रस्तुत करने की मांग की। यह रास्ता 21 फीट है इसका उपयोग, देखभाल, दुरुस्ती के लिए एमआईडीसी की ओर से की गई मांग के अनुसार जिला परिषद ने यह रास्ता हस्तांतरित किया है। इस रास्ते की चौड़ाई का कार्य करते समय  एमआईडीसी ने मंजूर रस्ते से ज्यादा काम करने का आरोप लगाया। अतिक्रमण होने से बाधित निवासी, व्यवसायिक व किसानों को परेशानी होने का मुद्दा भी उठाया।

इस पर शुक्रवार को स्थायी समिति की सभा में चर्चा हुई। चिंचोलकर ने कचरा पेटी खरीदी प्रक्रिया में अनियमितता का मामला उजागर किया तथा संबंधितों से वसूली कर अपराध दर्ज करने की मांग की। इस पर डिप्टी सीईओ बालासाहब बोटे ने कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी ऐसी जानकारी दी। सभा के दौरान जिप अध्यक्षा प्रतिभा भोजने, उपाध्यक्षा सावित्री राठोड, सभापति पंजाबराव वड़ाल, सम्राट डोंगरदिवे, आकाश सिरसाट, स्फूर्ति गावंडे, सीईओ सौरभ कटियार, एसीईओ सुभाष पवार समेत विविध विभागों के विभाग प्रमुख, जिप सदस्य उपस्थित थे।