comScore

Corona : अप्रैल-मई में चरम पर होगी दूसरी लहर, नागपुर के अस्पताल में बिस्तर का टोटा- विदर्भ में मृतकों का आंकड़ा भी बढ़ा

Corona : अप्रैल-मई में चरम पर होगी दूसरी लहर, नागपुर के अस्पताल में बिस्तर का टोटा- विदर्भ में मृतकों का आंकड़ा भी बढ़ा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। सबसे पहले देश की आर्थिक राजधानी मुंबई की बात करें तो यहां कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार 5 हजार से ज्यादा आने से हड़कंप मच गया है लेकिन मुंबई महानगर पालिका को आशंका है कि जल्द ही रोजाना सामने आ रहे संक्रमितों की संख्या 10 हजार तक पहुंच जाएगी। बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने बताया कि इस स्थिति से निपटने के तैयारी की जा रही है और महानगर में जल्द ही कोविड मरीजों के लिए अस्पताल में उपलब्ध बिस्तरों की संख्या बढ़ाकर 21 हजार तक पहुंचा दी जाएगी। चहल ने गुरुवार को बताया कि 23 मार्च को 40400 लोगों की जांच की गई जिनमें से 13.5 फीसदी यानी 5458 कोरोना संक्रमित पाए गए। इनमें से भी 83 फीसदी लोगों में इसके कोई लक्षण नहीं थे। 24 मार्च को भी 47000 लोगों की जांच की गई जिनमें से 5365 पॉजिटिव (12 फीसदी) मिले और इनमें से 84 फीसदी लक्षणविहीन थे। चहल ने बताया कि मुंबई में फिलहाल कोविड मरीजों के लिए 13 हजार 773 बिस्तर हैं जिनमें से 5140 खाली हैं। लेकिन अगले 15 दिनों में कोविड मरीजे के लिए 21 हजार बिस्तर तैयार किए जाएंगे। हम यह मानकर तैयारी कर रहे हैं कि अगले कुछ दिनों में रोजाना 10 हजार नए मरीज सामने आएंगे जिनमें से 15 फीसदी को अस्पताल में दाखिल कराने की जरूरत हो सकती है। इन मरीजों को 14 दिन अस्पताल में रखना होगा। इसलिए रोजाना 10 हजार मरीजों के लिए अगले 6 से 8 सप्ताह में 21 हजार बेड की जरूरत पड़ेगी। जल्द ही जांच को बढ़ाकर 60 हजार प्रतिदिन तक किया जाएगा। बीएमसी 10 हजार तक रोजाना मरीजों के लिए तैयार है। 

देवगिरी में 9 लोग कोरोना संक्रमित 

उपमुख्यमंत्री अजित पवार के सरकारी आवास देवगिरी में 9 लोग कोरोना संक्रिमत पाए गए हैं। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि मेरे आवास के कर्मचारियों की बुधवार को कोरोना जांच करवाई गई थी। जिसमें से 9 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। 

मृत्युदर घटी, टीकाकरण पर जोर 

इकबाल सिंह चहल ने बताया कि इस साल 20 फरवरी से 24 मार्च तक 200 लोगों की कोरोना के चलते मौत हुई है। यानी रोजाना औसत 4.6 लोगों की जान इस बीमारी के चलते गई है। इस दौरान 56220 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए थे। मृत्युदर सिर्फ 0.3 फीसदी ही रह गई है। उन्होंने कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है, स्थिति नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि गुरूवार तक 10 लाख लोगों को टीका लगाया जा चुका है। आने वाले दिनों में रोजाना एक लाख लोगों को टीका लगाने की योजना है क्योंकि फिलहाल इस बीमारी से लड़ने का यही सबसे कारगर तरीका है। उन्होंने लोगों से भी अपील की कि वे कोरोना संक्रमण रोकने के लिए जारी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए प्रशासन को सहयोग दें। 

पुलिस ने भी बढ़ाई सख्ती

मास्क न पहनने वालों के खिलाफ मुंबई पुलिस ने भी सख्ती बढ़ा दी है। मुंबई महानगर पालिका के साथ पुलिस को भी 20 फरवरी से मास्क न पहनने वालों से जुर्माना वसूलने का अधिकार दिया गया है जिसके बाद से अब तक मुंबई पुलिस द्वारा 2 लाख 3 हजार लोगों से 4 करोड़ 6 लाख रुपए जुर्माना वसूला जा चुका है। मुंबई पुलिस के प्रवक्ता डीसीपी चैतन्य एस ने बताया कि वसूले गए जुर्माने में से आधी रकम बीएमसी को दी गई है, जबकि आधी रकम पुलिस कल्याण निधि में जमा की गई है।  

उपराजधानी नागपुर में सबसे ज्यादा केस

नागपुर देश के उन दस जिलों में शामिल है, जहां सबसे अधिक एक्टिव केस हैं। गुरुवार को जिले में कुल 16,064 टेस्टिंग हुई।जिसमें 3579 नए मरीज मिले हैं। इसमें ग्रामीण के 978, शहरी इलाके के 2597 और बाहर से आए 4 शामिल हैं। इसके अलावा इलाज के दौरान कुल 47 लोगों की मौत हुई है। जिनमें ग्रामीण इलाके के 10, शहर के 34 और 4 दूसरे इलाकों से बताए जा रहे हैं। इलाज के बाद कुल 2285 लोग ठीक हुए हैं, इनमें ग्रामीण इलाकों के 410 और शहर के 1865 शामिल हैं।

कमेंट करें
fBO8c