comScore

Corona : नागपुर सहित विदर्भ में बढ़ा मृतकों का आंकड़ा, जानिए - क्या हैं ताजा हालात

Corona : नागपुर सहित विदर्भ में बढ़ा मृतकों का आंकड़ा, जानिए - क्या हैं ताजा हालात

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जिले में कोरोना के कारण गुरुवार को 74 लोगों की मौत हो गई, जो अब तक का रिकॉर्ड है। इसके पहले 8 अप्रैल को 73 लोगों की मृत्यु हुई थी। पिछले 24 घंटे में हुई जांच में 5813 नए संक्रमित मरीज मिले हैं और 4638 मरीज ठीक होकर घर पहंुचे। कोरोना संक्रमण के कारण स्थिति इतनी खराब हो गई है, लोगों को अस्पताल में न तो बेड मिल रहे हैं और न ही जीवन रक्षक दवा मिल रही है। लोग अस्पतालों के चक्कर काट रहे हैं। बेड उपलब्ध नहीं हो पाने के कारण भी कई लोगों की मृत्यु हो रही है। शहर में स्वास्थ्य सेवाएं कम पड़ने के कारण मरीजों को अमरावती के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। गुरुवार को जिले में हुई मौत में 39 शहर के, 30 ग्रामीण के तथा 5 जिले के बाहर के शामिल हैं। इसके साथ ही जिले में कोरोना मृतकों की संख्या 6034 पर पहुंच गई है। गुरुवार को 4638 मरीज ठीक होकर पहुंचने से कोरोना मुक्त मरीजों की संख्या 2 लाख 32 हजार 705 हो गई है। मरीज की रिकवरी दर कम होकर 77.60 प्रतिशत पर पहुंच गई है। वर्तमान में शहर में 39,390 और ग्रामीण क्षेत्रों में 21,720 मिलाकर 61110 सक्रिय रोगी हैं। इनमें से केवल 22.37 प्रतिशत यानी 13,672 मरीजों का इलाज मेयो, मेडिकल, सरकारी और निजी अस्पतालों में किया जा रहा है। बिना लक्षणों के 77.63 प्रतिशत या 47,438 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। गुरुवार को जिले में 22,575 परीक्षण किए गए। इनमें से 25.75 फीसदी यानी 5813 मरीजों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई। इसमें शहरी क्षेत्रों के 3458, ग्रामीण क्षेत्रों के 2350 और जिले के बाहर के 5 लोग शामिल हैं। इसके अलावा जिले में कोरोना पीड़ितों की कुल संख्या 2 लाख 99 हजार 849 तक पहुंच गई है।

श्मशान घाटों में शवों की लग रहीं कतारें

गुरुवार को विदर्भ के सात जिलों में बड़ी संख्या में कोरोना मरीजों की मृत्यु दर्ज की गई। एक ही दिन में 101 लोगों ने कोरोना संक्रमण से जूझते हुए दम तोड़ दिया। हालात इस कदर बिगड़ चुके हैं कि श्मशान घाटों में अंतिम संस्कार के लिए शवों की कतारें लगने लगी हैं। गड़चिरोली जैसे जिले में भी शवों के अंतिम संस्कार के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। विदर्भ के भंडारा, यवतमाल, गड़चिरोली, गोंदिया और अब चंद्रपुर में भी भयावह स्थिति पैदा हो गई है। गुरुवार को भंडारा में 22, गोंदिया में 16, चंद्रपुर में 16, गड़चिरोली में 9, यवतमाल में 22, वर्धा में 6 तथा अमरावती में 10 लोग कोरोना से जिंदगी की जंग हार गए। इसी प्रकार संक्रमितों की संख्या में भी जबरदस्त इजाफा हुआ है।  भंडारा में 1262,  गोंदिया में 616, चंद्रपुर में 1171, गड़चिरोली में 328, यवतमाल में 906, वर्धा में 481 तथा अमरावती में 534 मरीज पाए गए हैं। कोरोना संक्रमण के चलते बड़ी संख्या में हो रही मौतों के कारण श्मशान घाटों में अंतिम संस्कार के लिए जगह की कमी पडऩे लगी है। 

प्रतिबंध रहे बेअसर 

कोरोना की चेन को तोडऩे के लिए राज्य सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंध  टूटते नजर आए। विदर्भ के सात जिलों में से गोंदिया जिले को छोड़ कहीं पर भी पाबंदियों पर सख्ती से अमल होता नहीं दिखाई दिया। सड़कों पर आम दिनों की तरह चहल-पहल बनी रही। लोग सब्जी, किराना आदि के बहाने बेखौफ होकर सड़कों पर घूमते नजर आए। इन बहानों के सामने पुलिस भी बेबस दिखाई दी। गोंदिया में लोग स्वयं ही घरों में कैद रहे जिस कारण पुलिस को अधिक मशक्कत नहीं करनी पड़ी।

अकोला, बुलढाणा, वाशिम में 15 मृत, 1,449 नए संक्रमित

अकोल जिले में गुरुवार को 7 संक्रमितों की मौत होने से मृतकों की कुल संख्या 539 पर पहुंच गई है। 331 नए पॉजिटिव मिलने से कुल संक्रमितों की संख्या 32,171 हो गई है। 257 लोग डिस्चार्ज किए जाने से स्वस्थ होने वालों की कुल संख्या 27,564 पर पहुंच गई है। 4,068 एक्टिव मरीजों का इलाज जारी है। 

बुलढाणा जिले में गुरुवार को 3 मरीजों की मौत, 734 नए संक्रमित मरीज मिलने से संक्रमितों की संख्या 49,156 हो गई है। 791 मरीजों के स्वस्थ होने से अब ठीक हो चुके लोगों की तादाद 44,617 हो गई है। 

वाशिम जिले में गुरुवार को 5 मरीजों की मौत व 384 नए मरीज मिलने से कुल संक्रमित 20,341 और मृतक बढ़कर 216 हो गए हैं। 167 मरीजों के स्वस्थ हो जाने से ठीक होने वालों की संख्या 16,889 पर पहुंच गई है। 3,078 सक्रिय मरीजों पर उपचार जारी है। 
 

कोरोना प्रकोप : 15 मई तक बंद रहेंगे एएसआई संरक्षित सभी स्मारक

उधर नई दिल्ली में केन्द्रीय संस्कृति मंत्रालय ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) द्वारा संरक्षित सभी स्मारकों को आगामी 15 मई तक बंद रखने का निर्णय लिया है। यह जानकारी केन्द्रीय संस्कृति मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने ट्वीट करके दी। प्रह्लाद पटेल ने ट्वीट करके कहा, ‘कोरोना की महामारी के वर्तमान प्रकोप को देखते हुए संस्कृति मंत्रालय ने एएसआई द्वारा संरक्षित सभी स्मारकों को आगामी 15 मई तक बंद रखने का फैसला किया है’। इसी प्रकार एएसआई के आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को देखते हुए सभी केन्द्रीय संरक्षित स्मारकों/स्थलों तथा भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के तहत संग्रहालयों को तत्काल प्रभाव से 15 मई या अगले आदेश तक बंद रखने का फैसला किया गया है। जानकारी के मुताबिक इस दौरान 3693 स्मारक और 50 संग्रहालय आगामी 15 मई तक बंद रहेंगे। हालांकि जिन स्थलों पर पूजा होती है, उन स्थलों पर पूजा होती रहेगी। लेकिन वहां पर दर्शनार्थियों को जाने की इजाजत नहीं होगी।


 

 

कमेंट करें
c3XiI