• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Corona Patients double increased in Maharashtra - Vaccine is not currently available for people aged 18 to 45 years

दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र में दोगुना मरीज बढ़े- 18 से 45 साल वालों के लिए फिलहाल उपलब्ध नहीं है वैक्सीन

April 23rd, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र में 1 मई से 18 से 45 साल आयु वालों को कोरोनारोधी टीका लगाने के लिए अभियान बहुत धीमी गति से चलने के आसार नजर आ रहे हैं। क्योंकि राज्य सरकार के पास 18 से 45 साल आयु वाले लोगों को टीकाकरण के लिए अभी तक टीका उपलब्ध नहीं हो पाया है।इस वर्ग के टीकाकरण के लिए महाराष्ट्र को 12 करोड़ टीके की जरूरत पड़ेगी। सरकार राज्य में व्यापक अभियान चलाने के लिए विदेश के टीके पर निर्भर है। सरकार ने विदेश से कोरोनारोधी टीका खरीदने के लिए संबंधित कंपनियों से चर्चा शुरू कर दी है। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने यह जानकारी दी। शुक्रवार को टोपे ने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे ने विदेशो से टीका खरीदने के लिए चर्चा कर दी है। कुंटे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उपमुख्यमंत्री अजित पवार को टीके की दर और उपलब्धता के बारे में जानकारी देंगे। इसके बाद राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में विदेश से टीका खरीदने के प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी। टोपे ने कहा कि सीरम संस्थान कोविशील्ड वैक्सीन 24 मई तक केंद्र सरकार को उपलब्ध कराएगा। इसलिए सीरम से राज्य को टीका मई माह तक नहीं मिल पाएगा। इसलिए मुख्यमंत्री भारत बायोटेक फार्मा की कोवैक्सीन के लिए प्रयास कर रहे हैं। टोपे ने कहा कि टीकाकरण करने की इच्छा होने के बावजूद थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है।टीकाकरण अभियान कोवैक्सीन की उपलब्धता पर निर्भर है। इसके अलावा कोई विकल्प नजर नहीं आ रहा है।टोपे ने कहा कि केंद्र सरकार को कोरोना के टीका के लिए एक देश, एक दर तय करने की मांग की है। टोपे ने कहा कि राज्य में गरीबों को मुफ्त में टीका उपलब्ध कराया जाएगा। यदि सरकार को कम दर पर टीका उपलब्ध हुआ तो समाज के बड़े समूह का भी विचार किया जा सकता है। 

चीनी मिलो में कोविड अस्पताल

टोपे ने बताया किराकांपा सुप्रीमो शरद पवार ने वसंतदादा शुगर इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष के रूप में सहकारी और निजी चीनी मिलों को कोवोडि अस्पताल शुरू करने को कहा है। उन्होंने चीनी मिलों को ऑक्सीजन तैयार करने की सलाह दी है। इसके अलावा खाली सिलेंडर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। 
रेमडेसिविर इंजेक्शन मरीजों के अनुपात में 
टोपे ने कहा कि केंद्र सरकार से राज्य के लिए कोरोना के सक्रिय मरीजों के अनुपात में रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध कराने की मांग की गई है। टोपे ने कहा कि प्रधानमंत्री ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी को रोकने के लिए कहा है। इस पर सरकार की ओर से कालाबाजारी को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाया जाएगा।
 

महाराष्ट्र में दोगुना, उत्तर प्रदेश में 24 गुना मरीज बढ़े

टोपे ने कहा कि कोरोना मरीजों के वृद्धि दर में महाराष्ट्र में 1.8 गुना यानि लगभग दोगुना बढ़ोतरी हुई है। जबकि उत्तर प्रदेश में 24 गुना, दिल्ली में 14 गुना, केरल में 7 गुना, मध्यप्रदेश में 6 गुना और पूरे देश में 4 गुना वृद्धि हुई है। टोपे ने कहा कि पूरे देश में कोरोना मरीजों का वृद्धि दर भयानक है। 

पहले कहा आग की घटना राष्ट्रीय खबर नहीं, फिर दी सफाई

स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने विरार के निजी अस्पताल की घटना को लेकर गैर जिम्मेदाराना बयान दिया। हालांकि विपक्ष के आलोचना के बाद उन्होंने सफाई दी।विरार के अस्पताल में आग की घटना सामनेआने के बाद सुबह टोपे ने कहा था कि आग की घटना कोई राष्ट्रीय खबर नहीं है। इस बयान पर विवाद बढ़ने पर टोपे ने कहा कि मेरे बयान को तोड़मरोड़ कर गलत तरीके से पेश किया गया है। टोपे ने कहा किमुझे प्रधानमंत्री की बैठक को लेकर सवाल पूछा गया था। जिसके जवाब में मैंने कहा था कि बैठक में ऑक्सीजन और रेमडेसिविर को लेकर चर्चा की जाएगी। इसी बीच विरार के आग के बारे में सवाल पूछा गया। जिस पर मैंने कहा कि यह घटना राष्ट्रीय खबर नहीं है। इस बारे में राज्य सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। टोपे ने कहा कि मेरे मन में इस तरह की भावना हो ही नहीं सकती। मुझे विपक्ष भी अच्छी तरह से जानता है। व्यक्ति का व्यक्तित्व एक दिन में नहीं बदलता है। 

खबरें और भी हैं...