दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर में होगा कोरोना सर्वेक्षण, पहले पॉजिटिव मरीज की तीसरी रिपोर्ट भी नेगेटिव

March 25th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में मिले पहले पॉजिटिव मरीज की मंगलवार को 14 दिन पूरे होने पर सुबह 11 बजे कोरोना जांच की गई। अच्छी खबर यह है कि 14 दिन के अंतराल में की गई उसकी तीनों जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। मरीज की सिटी स्कैन की भी जांच की गई। मंगलवार को मरीज ने घर वालों और रिश्तेदारों से वीडियो कॉलिंग पर बात की। मोबाइल और लैपटॉप पर मनोरंजन किया। भागवत गीता पढ़ी। संगीत सुना और दोपहर को आराम किया। यहां आपको बता दें कि पहले पॉजिटिव मरीज की पत्नी और 2 साथी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल (मेडिकल) में भर्ती हैं जिसमें 2 लोगों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है।
 

यह था मामला
 

नागपुर में कोरोना के 45 वर्षीय पहले मरीज के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि 11 मार्च को इंदिरा गांधी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल (मेयो) में जांच के बाद हुई थी। वह 5 मार्च को नागपुर पहुंचा था। मरीज को 4 दिन से बुखार और गले में दर्द था। मेयो में उपचार के दौरान 15 और 16 मार्च को बुखार बढ़ गया था। हालांकि 15 मार्च और फिर 17 मार्च को मरीज की दो बार कोरोना की जांच की गई, जो निगेटिव आई। वहीं नियमित रूप से छाती का एक्स-रे, लिवर और किडनी सहित अन्य जांच की जा रही है।
 

22 सैंपल की जांच की गई
 

मंगलवार को 22 सैंपल की जांच गई, जिसमें मेयो के 4 सैंपल थे। जिसमं एक पॉजिटिव मरीज का था, जबकि तीन संदिग्ध मरीजों के थे। वहीं, 9 सैंपल मेडिकल, 3 सैंपल महानगरपालिका, 4 सैंपल अकोला, 1 सैंपल अमरावती और 1 सैंपल गोंदिया से भेजे गए थे। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है, जबकि मंगलवार की शाम को 30 सैंपल जांच के लिए लगाए गए हैं।
 

मेडिकल में भर्ती हुए 8 मरीज
 

मंगलवार को मेडिकल में 8 मरीजों को भर्ती किया गया, इसमें 5 पुरुष और 3 महिलाएं शामिल हैं। मंगलवार को वार्ड 25 से 9 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। वहीं अन्य वार्डों से 6 सैंपल ऐसे कुल 15 सैंपल भेजे गए हैं, जिसमें 8 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। 7 संदिग्ध मरीजों की जांच रिपोर्ट का इंतजार है

 

उपराजधानी में होगा कोरोना सर्वेक्षण

 

लक्ष्मी नगर, धरमपेठ जोन के बाद अब मनपा ने संपूर्ण शहर का कोरोना सर्वेक्षण करने का निर्णय लिया है। मनपा कर्मचारी घर-घर पहुंचेंगे। नागरिकों से स्वास्थ्य संबंधी संपूर्ण जानकारी पूछी जाएगी। उनके जवाब का रिकार्ड बनाया जाएगा। कोरोना के साथ स्वास्थ्य से संबंधित अन्य जानकारी भी सर्वेक्षण के माध्यम से जुटाई जाएगी। मनपा ने दो दिन में लक्ष्मी नगर और धरमपेठ जोन अंतर्गत 50 हजार परिवारों के 2 लाख लोगों का कोरोना सर्वेक्षण किया।

इसलिए लिया निर्णय : शहर में मिले चारों पॉजिटिव मरीज चूंकि लक्ष्मी नगर, धरमपेठ जोन जोन में रहते हैं, इसलिए उनके निवास से 3 किलोमीटर के दायरे में रहने वाले संपूर्ण परिवारों का सर्वेक्षण करने का मनपा निर्णय लिया था। सर्वेक्षण दौरान नागरिकों से कुछ सवाल पूछे गए। यह इसलिए किया गया, पहले पॉजिटिव मरीज के अमेरिका से आने पर उसकी कोई भी जांच नहीं हुई थी। अस्वस्थता के चलते जब खुद जांच कराया, तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। तब तक उसे पता ही नहीं था कि वह कोरोना पॉजिटिव है। इस दौरान जिन लोगों के संपर्क में आए, उनकी जानकारी जुटाकर जांच कराई गई। इससे भी आगे जाकर मनपा ने उनके निवास से 3 किलोमीटर दायरे में रहने वाले संपूर्ण परिवारों का सर्वेक्षण किया।

कदम उठाने का उद्देश्य : कोरोना संक्रामक बीमारी है। यह संक्रमित मरीज के संपर्क में आने पर एक-दूसरे में फैलती है। जाने-अनजाने में संक्रमितों के प्रत्यक्ष, अप्रत्यक्ष संपर्क में आने से बीमारी फैल सकती है। वैसे भी शुरुआत में 3 देश की यात्रा से लौटे यात्रियों की जांच कराई गई। इसके बाद 7 देशों से आए यात्रियों की जांच शुरू की गई। बाद में 10 देश और अब विश्व के किसी भी देश से यात्रा कर लौटे यात्रियों की जांच कराई जा रही है। शुरूआत में अन्य देशों से आए यात्रियों की स्वास्थ्य जांच नहीं कराई गई। सर्वेक्षण में उनकी भी जानकारी जुटाई जाएगी। मनपा कर्मचारी घर-घर पहुंचकर स्वास्थ्य के अलावा उनकी दिनचर्या, यदि कोई विदेशयात्रा से आया है तो लौटने का समय, विदेश यात्रियों से संपर्क आदि जानकारी पूछेंगे।

सर्वेक्षण टीमें बढ़ाई जाएंगी

लक्ष्मी नगर, धमरपेठ जोन में सर्वेक्षण के लिए 16 टीम गठित की गई। एक टीम में 26 कर्मचारियों का समावेश है। संपूर्ण शहर का सर्वेक्षण करने और भी टीमें बढ़ाई जाएंगी। आशा वर्कर, अंगनवाड़ी कर्मचारी तथा मनपा के अन्य िवभागों के कर्मचारियों को भी सर्वेक्षण प्रशिक्षण दिया जाएगा।

नागपुर के बाद मुंबई में भी सर्वेक्षण

कोरोना पॉजिटिव मरीज के निवास से 3 किलोमीटर दायरे में रहने वाले संपूर्ण परिवारों का सर्वेक्षण नागपुर मनपा ने किया है। नागपुर से सबक लेकर मुंबई मनपा ने भी सर्वेक्षण करने का निर्णय लिया है।

स्वास्थ्य समस्या की कंट्रोल रूम को जानकारी दें

स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण गंटावार के मुताबिक कोरोना से संबंधित कोई समस्या रहने पर मनपा के कंट्रोल रूम को सूचित करें। नागरिकों को अस्पताल जाने की आवश्यकता नहीं है। स्वास्थ्य विभाग की टीम घर पहुंचकर उपचार करेगी। आगे का आदेश जारी होने तक नागरिक घर में ही रहें।