दैनिक भास्कर हिंदी: कलमेश्वर से नागपुर लाए गए कोरोना संदिग्ध

March 21st, 2020

डिजिटल डेस्क,  कलमेश्वर(नागपुर)। शहर में कुछ दिन पहले नाइजीरिया से आए कोरोना संदिग्धों को नागपुर रवाना किया गया है। जानकारी के अनुसार इन संदिग्धों को कलमेश्वर में 14 दिन डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया था। निगेटिव पाए जाने पर उन्हें डॉक्टरों ने उन्हें घर जाने की अनुमति दे दी थी। बताया जाता है कि, कलमेश्वर तहसील निवासी व्यक्ति का भाई नाइजीरिया से कुछ दिन पूर्व आया था। यह व्यक्ति कब, कितने दिन पहले आया, इसकी जानकारी समाचार लिखे जाने तक नहीं मिली है। उसके परिवार में उनके डेढ़ साल के बच्चे को बुखार आने पर उसे कलमेश्वर मेन रोड स्थित पांडे चाइल्ड हॉस्पिटल में गुरुवार की रात को भर्ती कराया गया था। इसी दौरान बच्चे के पिता की भी तबीयत बिगडने पर उसे कलमेश्वर के सरकारी अस्पताल में जांच कराने ले जाया गया।

अस्पताल में डाक्टर को उसकी गतिविधियों पर संदेह होने पर उन्हें तुरंत नागपुर मेडिकल हॉस्पिटल भेजा गया है। 2 दिन बाद उनकी रिपोर्ट आने पर ही पता चलेगा कि, दोनों पॉजिटिव है या निगेटिव। यदि वह कोरोना पीड़ित पाया जाता है तो उनके आस-पास रहने वाले लोगों की भी जांच किए जाने की जानकारी सरकारी अस्पताल के अधिकारियों ने दी है। पांडे हॉस्पिटल से बच्चे को भी नागपुर भेजने की बात डॉक्टर ने कही है। पांडे अस्पताल मिली जानकारी के अनुसार अस्पताल ने बच्चे को नागपुर मेयो हॉस्पिटल भेजा है। इस घटना से शहर के नागरिकों में दहशत फैल गई है। सभी लोग डरे-सहमें हुए हैं।

डरें नहीं, सहयोग करें -पालकमंत्री
कोरोना को लेकर सावधानी की उपाय योजनाओं पर अमल करने का आह्वान करते हुए पालकमंत्री डॉ. नितीन राऊत ने कहा है कि फिलहाल जो स्थिति है, उसमें सजगता ही समाधान है। कोई भी डरें नहीं, बल्कि सहयोग करें। सरकार की ओर से जारी निर्देशों का पालन करें। अफवाहों को रोकें। नागरिकता धर्म का पालन करें। नागपुर में सजगता के तौर पर लाॅकडाउन घोषित किया गया है। इसका अलग आशय न निकालें। यह केवल सामान्य कर्फ्यू जैसी स्थिति है। विविध संस्थाओं, प्रतिष्ठानों व व्यावसायिक संगठनों से आव्हान है कि वे भी इस कार्य में सहयोग दें। गैर सरकारी संस्थाओं से भी सहयोग की अपील करते हैं। 
 

 

खबरें और भी हैं...