comScore

कैंपस, हॉस्टल में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश बंद

कैंपस, हॉस्टल में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश बंद

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  राज्य सरकार के आदेश के बाद नागपुर में स्कूल-कॉलेज बंद रहे। जो कुछ विद्यार्थी जानकारी के अभाव में पहुंचे, उन्हें गेट से ही लौटा दिया गया। किसी भी स्कूल-कॉलेज में कक्षाएं नहीं ली गई। कॉलेजों में होने वाली इंटरनल और प्रैक्टिकल परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं।

इधर, राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय ने अपने कैंपस, प्रशासकीय परिसर, परीक्षा भवन और हॉस्टलों में किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश बंद कर दिया। यूनिवर्सिटी ने परिसर के बाहर ही सूचना लगा दी गई है कि कोरोना वायरस से सावधानी के चलते अगले कुछ दिन बाहरी व्यक्तियों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। विश्वविद्यालय ने विद्यार्थियों को केवल कैंपस में जाकर परीक्षा के हॉल टिकट लेने की छूट दी है। 

यह फैसला लिया गया है 
कोरोना के अलर्ट के बाद भी शहर में कुछ स्कूल शुरू रहे। रेशिमबाग, जयताला और वायुसेना के नामी स्कूलों ने अपने यहां छुट्टी नहीं दी। इन स्कूलों के विद्यार्थी स्कूल बस से ही स्कूल आए। हालांकि अधिकांश स्कूलों ने सरकारी निर्देश का पालन करते हुए स्कूल बंद रखे।  स्कूलों में जारी परीक्षाओं को भी टाल दिया गया है। स्कूलों ने पालकों को सूचना दी है कि बचे हुए पेपर अप्रैल में लिए जाएंगे। जिन स्कूलों के छोटे-मोटे विषयों के एक-दो पेपर शेष बचे थे, उन्होंने एवरेज अंक देकर विद्यार्थियों को अगली क्लास में प्रमोट करने का फैसला लिया है। 

विभाग प्रमुख, कर्मचारियों को छुट्टी नहीं
विश्वविद्यालय ने कॉलेज-विभागों में छुट्टियां केवल विद्यार्थियों को दी है। विभाग प्रमुखों और कर्मचारियों को नियमित रूप से आना है, क्योंकि प्रशासकीय कामकाज जारी रखा गया है। विभाग प्रमुख के निर्देश पर शिक्षकों को भी ड्यूटी पर आना होगा। 

हॉस्टल खाली कराने की तैयारी 
शाम को परीक्षाएं स्थगित करने के बाद नागपुर विश्वविद्यालय अब अपने हॉस्टल भी खाली कराने की तैयारी कर रहा है। अब तक विश्वविद्यालय ने हॉस्टल खाली करने की अनिवार्यता नहीं की थी। ग्रीष्मकालीन परीक्षाओं के मद्देनजर हॉस्टल छोड़ने का फैसला विद्यार्थियों पर छोड़ा गया था। अब चूंकि 31 मार्च तक परीक्षाएं स्थगित की गई हैं, इसलिए हॉस्टल भी खाली कराने पर विचार चल रहा है। जल्द ही इसकी घोषणा हो सकती है।

कमेंट करें
jpqDy