comScore

सोशल मैसेज के साथ यंगस्टर्स में गरबा के लिए बढ़ा टैटू का क्रेज

सोशल मैसेज के साथ यंगस्टर्स में गरबा के लिए बढ़ा टैटू का क्रेज

डिजिटल डेस्क, नागपुर। इन दिनों नवरात्र की धूम है। मां की भक्ति के साथ ही गरबा खेलने का क्रेज सभी को होता है। नौ दिन तक शहर के विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग संस्थानों द्वारा रास गरबा का आयोजन किया गया है। इसके लिए यंगस्टर्स की खास तैयारी है। युवतियां इसकी तैयारी काफी पहले से ही करना शुरू कर दी हैं। इस वर्ष भी नवरात्रि यहां कुछ अनोखे तरीके से मनाया जा रहा है। गरबा के लिए मेकअप से ड्रेसअप तक सब कुछ परफेक्ट होना चाहिए। गरबा के लिए बॉडी पेंट टैटू भी नवरात्रि समारोह का एक हिस्सा बन गए हैं।  यंगस्टर्स कुछ खास डिजाइनों के साथ परंपरा को जोड़ रहे हैं। डिजाइनर टैटू के साथ ही सोशल मैसेज वाले टैटू भी बनवाए जा रहे हैं। गरबा लवर्स और टैटू लवर्स के बीच एक अलग ही क्रेज देखने को मिल रहा है।

गरबा खेलते हुए कपल्स का टैटू

मार्केट में टैटू से जुड़ी अब कई तकनीक और आर्ट मौजूद हैं। गरबा के लिए टेम्पररी टैटू अधिक पसंद किए जा रहे हैं। यह टैटू बनवाते समय दर्द नहीं होता है। ये टैटू कुछ ही दिन के लिए डिजाइन करवाए जाते हैं। गुजराती या राजस्थानी पारंपरिक लहंगा और बैकलेस चोली के साथ यंग गर्ल्स गरबा खेलते हुए कपल्स का टैटू बनवाना पसंद करती हैं। कुछ लोग अपने टैटू में अपना नाम लिखवाते हैं और मां दुर्गा का कोई प्रतीक चिह्न जैसे त्रिशूल या शेर भी बनवाते हैं। कुछ लोग मां गौरी के प्रति श्रद्धा टैटू में दर्शाते हैं।

बॉडी पेंट के टैटू

पारंपरिक टैटू के साथ ही सोशल मैसेज के टैटू भी बनवाए जा रहे हैं। गरबा के लिए हर कोई अपने आप परफेक्ट लुक और परफॉर्मेंस के साथ ही टैटू भी विशेष बनवाता है। इस वर्ष टैटू में पीठ पर चंद्रयान-2, कश्मीर में अनुच्छेद 370, मोटर वाहन अधिनियम, पीएम नरेंद्र मोदी,  धरती को बचाने और प्लास्टिक बैन का संदेश देता टैटू बनवाकर जागरूकता  का संदेश दिया जा रहा है। 

यंगस्टर्स की दीवानगी

टैटू आर्टिस्ट प्रदीप मुलानी के मुताबिक यंगस्टर्स में हमेशा ही टैटू की दीवानगी रही है। यंगस्टर्स ज्यादातर परमानेंट टैटू बनवाते हैं, लेकिन रास गरबा के हर कोई टेम्पररी टैटू बनवाना चाहता है। बॉडी पेंट टैटू भी बनवाए जा रहे हैं। टैटू बनवाने का क्रेज यंगस्टर्स में ज्यादा रहता है। नवरात्रि में देश के हर कोेने मे गरबा की धूम है। युवाओं द्वारा ड्रेस और ज्वेलरी का सिलेक्शन किया जा रहा है। इसी के साथ टैटू भी यूनिक प्रकार के बनवाए जा रहे हैं। आजकल हर व्यक्ति समाज के विभिन्न मुद्दों के बारे में सोचता है। गरबा के लिए स्पेशल टैटू की डिमांड है। पारंपरिक टैटू का क्रेज उतना नही रहा, जितना पहले हुआ करता था। अब टैटू के थ्रू भी सोशल मैसेज दिए जा रहे हैं। 

कमेंट करें
jr8Ia