comScore

पेटीएम की ऑनलाइन केवाईसी के बहाने महिला को लगाया एक लाख का चूना, डिजिटल लोन कार्ड से भी ठगी

पेटीएम की ऑनलाइन केवाईसी के बहाने महिला को लगाया एक लाख का चूना, डिजिटल लोन कार्ड से भी ठगी

डिजिटल डेस्क, मुंबई। पेटीएम एप बंद होने का डर दिखाकर ऑनलाइन पहचान साबित करने (केवाईसी) के बहाने एक महिला को अज्ञात शख्स ने एक लाख रुपए का चूना लगा दिया। महिला ने बांद्रा पुलिस स्टेशन में मामले की शिकायत दर्ज कराई है। ठगी का मामला दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुट गई है। मामले की शिकायत करने वाली महिला का बांद्रा पश्चिम इलाके में रहती है। वहीं एसवी रोड पर उसका क्लीनिक सेंटर है। डिंपल नाम की शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया कि उसे मोबाइल पर अंजान नंबर से एक संदेश आया जिसमें लिखा हुआ था कि उसका पेटीएम अकाउंट बंद कर दिया गया है और उसे फिर शुरू कराने के लिए संदेश में दिए गए नंबर पर संपर्क करने को कहा गया था। डिंपल ने उस नंबर पर कई बार फोन किया लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। लेकिन बाद में उसी नंबर से महिला को दोबारा फोन आया। फोन करने वाले शख्स ने दावा किया कि वह पेटीएम ऐप के कस्टमर केयर से बोल रहा है। उसने कहा कि केवाईसी न होने के चलते डिंपल का पेटीएम अकाउंट बंद कर दिया गया है और प्रक्रिया पूरी करने के बाद उसे फिर शुरू कर दिया जाएगा। इसके बाद फोन करने वाले शख्स ने महिला को टीम व्यूअर नाम का एप्लिकेशन अपने मोबाइल में डाउनलोड करने और उसका एप्लिकेशन कोड बताने को कहा। महिला ने ऐसा ही किया। लेकिन ऐसा करते ही महिला के मोबाइल का नियंत्रण आरोपी के पास चला गया। लेकिन आरोपी ने इसे सामान्य प्रक्रिया बताते हुए महिला को कहा कि वह अपने डेबिटकार्ड का इस्तेमाल करते हुए 10 रुपए पेटीएम खाते में डाले। इसके बाद महिला ने जैसे ही खाते में पैसे डाले उसे खाते से एक लाख रुपए किसी और खाते में जाने का संदेश आया। इसके बाद आरोपी ने महिला से संपर्क तोड़ लिया। महिला ने बैंक से संपर्क किया तो उसे ठगी का एहसास हुआ। इसके बाद उसने बांद्रा पुलिस स्टेशन में मामले की शिकायत दर्ज कराई।    
 

नागपुर में डिजिटल लोन कार्ट से ठगी

इधर नागपुर में एक आराेपी ने एक व्यक्ति को कर्ज दिलाने के नाम पर उससे दस्तावेज ले लिए और उन दस्तावेजों के आधार पर डिजिटल लोन कार्ड बनाकर खुद के लिए 50 हजार का माल बिग बाजार से खरीद लिया। इस मामले में पीड़ित तारेंद्र हरिराम राणा की शिकायत पर गणेशपेठ पुलिस ने आरोपी आकाश अशोक मुलेवार के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी ने यह कारनामा 19 से 24 जून-2019 के बीच किया। पुलिस सूत्रों के अनुसार साईंकृपा सोसाइटी पारडी निवासी तारेंद्र राणा ने आरोपी आकाश मुलेवार के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला गणेशपेठ थाने में दर्ज कराया है। उन्होंने पुलिस को बताया कि आरोपी आकाश मुलेवार  नंदनवन गली नं.-5, केडीके  काॅलेज रोड निवासी ने उन्हें 50 हजार रुपए कर्ज दिलाने का झांसा दिया। आरोपी ने उनसे कहा कि, वह उन्हें  बजाज फायनांस कंपनी से कर्ज दिला देगा। आरोपी ने उन्हें उक्त तिथि के बीच  बिग बाजार, एम्प्रेस माॅल में बुलाया। वहां आरोपी ने उनका आधार कार्ड, पैन कार्ड  व बैंक पासबुक की जेराॅक्स ली। साथ ही उस पर आरोपी ने हस्ताक्षर भी ले लिए। उसके बाद आरोपी ने डिजिटल लोन कार्ड का उपयोग कर  बिग बाजार से  50 हजार रुपए की खरीदारी की और तारेंद्र को चूना लगा दिया। तारेंद्र को जब इस धोखाधड़ी के बारे में पता चला तो उन्होंने इस मामले की शिकायत दर्ज कराई। गणेशपेठ पुलिस ने आरोपी आकाश मुलेवार के खिलाफ धारा  420 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

फ्यूजन कैफे के अंदर चल रहे हुक्का पार्लर पर देर रात छापा

उधर अंबाझरी क्षेत्र में फ्यूजन कैफे के अंदर चल रहे  हुक्का पार्लर पर पुलिस उपायुक्त विनीता साहू ने शुक्रवार की देर रात छापा मारा। इस दौरान कुछ युवक हुक्का पीते मिले। पुलिस ने हुक्का पॉट आैर हर्बल फ्लेवर जब्त किया है। अंबाझरी, बजाजनगर, सीताबर्डी क्षेत्र में कई होटल, बार और अन्य प्रतिष्ठान देर रात तक शुरू रहते हैं। इस क्षेत्र में देर रात तक सावजी भोजनालय भी शुरू रहते हैं। इनके खिलाफ कार्रवाई नहीं किए जाने की शिकायत मिलने पर पुलिस उपायुक्त साहू ने शुक्रवार की देर रात फ्यूजन कैफे के अंदर चल रहे हुक्का पार्लर पर छापा मारा। यह हुक्का पार्लर रात करीब 2.30 बजे लक्ष्मी भवन चौक परिसर में शुरू होने की गुप्त सूचना मिलने पर साहू ने स्वयं कार्रवाई करने पहुंचीं। पुलिस ने इस मामले में आरोपी मयंक गौरीशंकर अग्रवाल (20) इतवारी निवासी के खिलाफ कार्रवाई की।

सेल्समैन ने किया लाखों का गबन

वहीं एमआईडीसी क्षेत्र में एक कंपनी के सेल्समैन पर 6 लाख 27 हजार रुपए के गबन करने का मामला सामने आया है। इस मामले में एमआईडीसी पुलिस ने आरोपी अखिलेश अशोक गोमासे पर धारा 406 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार कृष्ण विहार कॉलोनी क्वार्टर नं.-8 इसासनी रोड नागपुर निवासी प्रभात पंत ने एमआईडीसी थाने में आरोपी अखिलेश गोमासे के खिलाफ गबन का मामला दर्ज कराया है। पंत ने पुलिस को बताया कि गोमासे  उनकी एमआईडीसी स्थित ओम इंटरप्राइजेस फर्म सेंटर में सेल्समैन का काम करता था। अप्रैल 2019 से अगस्त 2019 के दरमियान  आरोपी गोमासे ने तृप्ति इंटरप्राइजेस से चार चेक और अन्य कुछ स्थानों से नकद रकम सहित करीब 6,27,288 रुपए लेकर आया था। पंत का आरोप है कि आरोपी गोमासे ने यह रकम कंपनी में जमा नहीं की। उसने उक्त रकम का गबन िकया। पुलिस ने पंत की शिकायत पर आरोपी अखिलेश गोमासे के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

हिगांव की महिला उपसरपंच के साथ मारपीट

स्थानीय नया पुलिस थाना कामठी अंतर्गत आने वाले लिहिगांव ग्राम पंचायत की उप-सरपंच सुनीता राजेंद्र बोरकर (47)  के साथ दो युवकों ने मारपीट की। घटना शनिवार की दोपहर करीब 1 बजे घटित हुई। इस मामले में दो युवकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। जानकारी अनुसार लिहिगांव ग्राम पंचायत की उप-सरपंच सुनीता बोरकर के खेत में बबूल का पेड़ था। यह पेड़ कुणाल पांडुरंग बोरकर (30) और विश्वकर्मा पांडुरंग बोरकर (32), दोनों लिहिगांव निवासी ने तोड़ दिया। इस बारे में उपसरपंच बोरकर ने दोनों पूछा तो उन्होंने सुनीता के साथ हाथापाई शुरू कर दी। इतना ही नहीं, दोनों ने उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी।  सुनीता ने थाने में जाकर दोनों के खिलाफ शिकायत की। पुलिस ने दोनों युवकों के खिलाफ धारा 324, 447, 427, 504 और 506 के तहत मामला दर्ज किया। आगे की जांच पुलिस कर रही है।

घरेलू कलह के चलते विवाहिता ने लगाई फांसी

घरेलू कलह के चलते एक विवाहिता ने मकान की छत के सीलिंग पंखे में ओढनी बांधकर फांसी लगा ली। मृतका का नाम मोहिनी उर्फ बबली नंदूकुमार निशाद (22), शिव नगर, पारडी निवासी है। कहा जा रहा है कि, पति के साथ मामूली विवाद होने पर उसने यह कदम उठाया। पुलिस सूत्रों के अनुसार चार वर्ष पहले मोहिनी और नंदूकुमार  की शादी हुई थी। उनको ती बच्चे हैं। पति-पत्नी बच्चों की परवरिश में लगे हुए थे। गत शुक्रवार को सुबह पति के साथ किसी बात काे लेकर मोहिनी की कहा-सुनी हो गई। इसे लेकर वह पति से  काफी नाराज थी।  पश्चात पति सुबह घर से काम पर चला गया। दोपहर करीब 2 बजे भोजन करने के बाद मोहिनी सो गई। उसकी सास मकान की छत पर कपड़े सुखाने चली गई। इस बीच मोहिनी ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। 

ताला तोड़ कर सोने के गहने व नकदी चोरी

वाड़ी क्षेत्र में एक मकान का ताला तोड़ कर अज्ञात चोर सोने के गहने व नकदी सहित करीब 74 हजार रुपए का माल चुरा ले गए। पुलिस सूत्रों के अनुसार प्लाॅट नं-175, हिल टाॅप काॅलोनी, बुटले ले-आउट, नागपुर निवासी वसंत लक्ष्मण देशभ्रतार गत दिनों मकान को ताला लगाकर परिवार के साथ बाहरगांव गए थे। इसी दौरान अज्ञात चोर दरवाजे का ताला तोड़कर अंदर घुसा। बेडरूम में रखे सोने के गहने व नकद 14 हजार रुपए चुराकर फरार हो गया। देशभ्रतार परिवार को घर लौटने पर चोरी की बात पता चली। उन्होंने थाने में शिकायत की। वाड़ी पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज कर लिया है, मामले की जांच चल रही है।

सुरक्षा रक्षक को बंधक बनाकर चोरी का प्रयास

कलमेश्वर में सुरक्षा रक्षक को बंधकर बनाकर 4 आरोपियों ने एक कंपनी में चोरी का प्रयास किया। लेकिन गार्ड की सतर्कता से सभी आरोपी भाग गए। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार गोंडखैरी निवासी शंकर फकीरराव खड़से गोंडखैरी स्थित पैनासाॅनिक गोदाम बतौर सुरक्षा रक्षक कार्यरत है। शुक्रवार की रात करीब 1 बजे के दौरान जब शंकर कंपनी की सुरक्षा दीवार के पास लेटा हुआ था। इस बीच चार आरोपी चोरी के इरादे से वहां पहुंचे और शंकर से मारपीट कर घायल कर दिया। इतना ही नहीं तो शंकर को घसीटते हुए थोड़ी दूर ले जाकर प्लास्टिक के टेप से हाथ-पैर बांधा और दुपट्टे से मुंह बंद कर दिया। लेकिन कुछ हाथ नहीं लगने से आरोपी फरार हो गए। किसी तरह शंकर ने अपने आपको छुड़ाया और कलमेश्वर पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही कलमेश्वर पुलिस का दल मौके पर पहुंचा। गंभीर रूप से घायल शंकर को कलमेश्वर स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे नागपुर के मेयो अस्पताल रेफर किया गया। फरियादी की शिकायत कलमेश्वर पुलिस स्टेशन में भादंवि की धारा 341, 393, 397 के तहत मामला दर्ज किया गया। आरोपियों की तलाश व आगे की जांच महिला पुलिस उपनिरीक्षक चौरे कर रही हैं।

सोयाबीन से भरी 27 बोरी चुरा ले गए चाेर

कुही के खेत में भरकर रखी सोयाबीन की करीब 27 बोरी अज्ञात आरोपी चुरा ले गए। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार नागपुर निवासी अजय चिरकुटाराव मेंडे (30) का पांचगांव में खेत है। उन्होंने सोयाबीन की करीब 16.20 क्विंटल सोयाबीन करीब 27 बोरियों में भरकर रखा था। जिसकी कीमत तकरीबन 55 हजार रुपए बताई जा रही है। गुरुवार की रात से शुक्रवार के बीच अज्ञात आरोपी चुरा ले गए। शुक्रवार की दोपहर जब अजय खेत में पहुंचे तो सोयाबीन से भरी बोरियां नदारद थी। जिसके बाद उन्हाेंने कुही पुलिस स्टेशन पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई। फरियादी की शिकायत पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ भादंवि की धारा 379 के तहत कुही पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया। आरोपियों की तलाश व आगे की जांच पुलिस हवलदार दिलीप लांजेवार कर रहे हैं।

बस स्टैंड परिसर में हथियार लेकर घूम रहा आरोपी गिरफ्तार

शुक्रवार को कोंढाली बसस्टैंड परिसर में हथियार लेकर घूम रहे आरोपी को कोंढाली पुलिस ने गिरफ्तार किया। पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार टिचर कॉलोनी में रहने वाला राहुल उर्फ लाला संजय जैस्वाल (24) मूलत: धुरखेड़ा निवासी है।  शुक्रवार को किसी वारदात को अंजाम देने के उद्देश्य से राहुल तलवार लेकर घूम रहा था। किसी ने इसकी जानकारी कोंढाली पुलिस को दी। जिसके बाद कोंढाली पुलिस ने तुरंत बस स्टैंड पहुंचकर आरोपी को तलवार के साथ गिरफ्तार किया। आरोपी के खिलाफ भारतीय शस्त अधिनियम की धारा 4, 25 के तहत मामला दर्ज किया गया। आगे की जांच पुलिस नाईक राठोड़ कर रहे हैं।

चाकू लेकर उत्पात मचाने वाला गिरफ्तार

स्थानीय कामठी शहर के नीलम लॉन मैदान पर चाकू लेकर उत्पात मचाने वाले व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया। प्राप्त जानकारी अनुसार कामठी के नया पुलिस थाना अंतर्गत नीलम लॉन मैदान परिसर में शनिवार को एक व्यक्ति चाकू लेकर उत्पात मचा रहा था। किसी ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। जानकारी मिलते ही नये थाने के बीट मार्शल पंकज गुप्ता, अतुल राठोड़, निलेश यादव, अतुल सांगोडे, अनिल गहलोत और संदीप भोयर घटनास्थल पर पहुंचे तो एक व्यक्ति हाथ में चाकू लेकर उत्पात मचाते नजर आया। पुलिस ने तुरंत उसके हाथ से हथियार छीना और पकड़कर थाने ले आई। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार व्यक्ति चितरंजन नगर, अब्दुल्ला शाह बाबा दरगाह समीप रहने वाला नागराज चरणदास थूल (42) है। उसे गांजा पीने की लत है। पुलिस ने उसके खिलाफ धारा 4/25 आर्म्स एक्ट और धारा 135 महाराष्ट्र पुलिस कानून के तहत मामला दर्ज किया। आगे की जांच दिलीप कुमरे कर रहे हैं।

परेशान होकर की आत्महत्या

बीमारी से परेशान होकर एक महिला ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मृतका का नाम छाया उर्फ रानी राजेश रायसदास,  गजानन नगर, नारा रोड निवासी है। पुलिस सूत्रों के अनुसार छाया का चार वर्ष पहले राजेश के साथ विवाह हुआ था। राजेश नौकरी करता है। उन्हें दो वर्ष का बेटा और 11 माह की बेटी है। पिछले कुछ समय से छाया की तबीयत ठीक नहीं रहती थी। वह बीमारी को लेकर  परेशान थी। इसके चलते गत दिनों उसने घर में सीलिंग पंखे को दुपट्टा बांधकर फांसी लगा ली। घटना की सूचना मिलने पर जरीपटका पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस ने शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए शासकीय अस्पताल भेज दिया। पुलिस ने आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज किया है। जांच कर रही है।

कमेंट करें
COS4X