‌Crime : ट्रांसपोर्टर की मां ने खुद का गला रेता, जानिए - पिछले कुछ घंटों में क्या - क्या हुआ

August 18th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। ट्रांसपोर्टर की मां ने खुद का गला रेत डाला। घटना वाले दिन सुबह करीब 7 बजे अशोका एन्कलेव के पांचवें माले पर रहने वाले मोहर मुन्नीसिंह (70) फ्लैट के गैलरी में मृत अवस्था में पाई गई। सब्जी काटने के चाकू से उसका गला बुरी तरह से रेता हुआ था। घटना के दौरान फ्लैट में माेहर की बहू रिंकी (32) और उसकी 10 वर्षीय पुत्री थी, जबकि पुत्र विपिन सिंह ट्रांसपोर्ट कारोबार के संबध में चार दिन से हैदराबाद गया हुआ है। उसका भाई ब्रिज बिहारी पटना और मुरारी सिंह कोलकाता में रहता है। सुबह सास का शव देखकर घबराई हुई रिंकी ने पति विपिन को फोन कर घटना की जानकारी दी। पड़ोसियों को बताया गया। घटना की सूचना मिलते ही आला पुलिस अधिकारी सदल-बल मौके पर पहुंचे। पुलिस के मुताबिक बीमारी से त्रस्त होकर मोहर ने खुद ही सब्जी काटने के चाकू से गला काट लिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्थिति साफ होने होगी। प्रारंभिक तौर पर यह आत्महत्या का मामला लग रहा है। पहले पुलिस लूटपाट के चलते हत्या का मामला मान रही थी, लेकिन आभूषण, नकदी सब जैसे का वैसा ही है। कोई वस्तु इधर की उधर नहीं हुई है। फिर भी हत्या की आशंका बनी हुई है। 

अंतरराज्यीय गिरोह के 6 सदस्य नागपुर में गिरफ्तार

वहीं भंडारा डकैती कांड का पर्दाफाश हो गया। अंतरराज्यीय गिरोह के पांच सदस्यों को नागपुर क्राइम ब्रांच की टीम ने मंगलवार को दबोच लिया। उनसे लूट का माल भी जब्त किया है। आरोपी भंडारा पुलिस को सौंपना बाकी है।  गिरफ्तार आरोपियों में ओम यादव (26), रघु यादव (23), वासुदेव यादव (21), श्रावण यादव (21), चिरंजीव उर्फ शुभम संजय यादव, सभी मध्य प्रदेश और राकेश विजय प्रधान (50), ओडिशा निवासी है। गिरोह के अन्य फरार सदस्यों की सरगर्मी से तलाश जारी है, जो सूरत, भंडरा और नागपुर के हैं। दर्ज शिकायत में विनोद ने लगभग 55 से 70 लाख के आभूषण लूटने का उल्लेख किया है। ताजा मामले में रेकी के बाद ही घटना को अंजाम दिया गया। पुलिस आयुक्त अमितेशकुमार, उपायुक्त गजानन राजमाने ने आरोपियों को भंडारा पुलिस को जल्द सौंपे जाने की जानकारी दी है।

दो थानों की पुलिस ने खोज निकाले 23 मोबाइल

नागपुर के दो थानों की पुलिस ने 23 मोबाइल फोन खोज निकाले। इन मोबाइल  की संबंधित थानों में गुम होने की शिकायतें दर्ज थीं। मोबाइल की कीमत करीब 3.92 लाख रुपए है। गुम मोबाइल वापस पाकर नागरिक के चेहरों पर रौनक लौटी। पुलिस के अनुसार कपिल नगर पुलिस ने 1.29 लाख कीमत के 12 मोबाइल फोन खोज निकाले, जबकि, शांति नगर पुलिस ने 11 मोबाइल खोज निकाले हैं। इसकी कीमत करीब 1 लाख 63 हजार रुपए बताई गई है। शांतिनगर थाने में 11 शिकायतें दर्ज हुईं थीं। सभी मोबाइल पुलिस उपायुक्त लोहित मतानी की मौजूदगी में मोबाइल धारकों  काे सौंपे गए। 

शादी का झांसा देकर किशोरी से दुष्कर्म

वहीं शादी का झांसा देकर किशोरी से दुष्कर्म किए जाने का मामला उजागर हुआ है। सोमवार को बजाज नगर थाने में आरोपी युवक के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया। पीड़ित 15 वर्षीय किशोरी है। आरोपी क्रिष्णा राजेश वर्मा (19), हिंगना रोड भीम नगर निवासी है। क्रिष्णा ने प्रेम संबंधों में पीड़ितों को फांसकर उससे शादी का वादा किया और इसकी आड़ में मार्च 2019 से 16 अगस्त 2021 तक पीड़िता से दुष्कर्म करता रहा। इसका प्रतिकार करने पर पीड़िता से मारपीट की तथा घटना के बारे में किसी को कुछ बताने पर उसे जान से मारने की धमकी दी थी। पीड़िता ने परिजनों को इसकी जानकारी देने पर मामला थाने पहुंचा। प्रकरण दर्ज किया गया है। जांच जारी है।

मां के घर जाते ही गहने व नकदी चोरी

उधर वाठोड़ा में एक मकान का ताला तोड़कर अज्ञात चोर गहने व नकदी सहित करीब 90 हजार रुपए का माल चुरा ले गए। घटना 10 से 17 अगस्त के बीच हुई। पुलिस के अनुसार आराधना नगर, शिव मंदिर के पास बिड़गांव निवासी श्वेता रमेश नारनवरे गत 10 अगस्त को मकान को ताला बंद कर मां के घर गई थी। इस दौरान चोर उनके मकान का ताला तोड़कर घर में घुसे और अलमारी से नकद 20 हजार रुपए और सोने  व चांदी के गहने चुरा ले गए। चोरी के बारे में 17 अगस्त को घर वापस लौटने पर श्वेता को पता चला। उसने वाठोड़ा थाने में शिकायत दर्ज कराई। हवलदार अनिल येनोरकर ने चोरी का मामला दर्ज किया। 

देवर और भाभी के खिलाफ प्रकरण दर्ज

देवर और भाभी के खिलाफ मंगलवार को अजनी थाने में प्रकरण दर्ज किया गया। आरोप है कि, उन्होंने महिला को आत्महत्या के लिए मजबूर किया। रामेश्वरी रोड स्थित काशी नगर निवासी मृतका रवीना निक्की सरोटे (26) थी, जबकि आरोपी निक्की सरोटे (34) और उसकी भाभी आराधना सरोटे (30) है। रवीना और निक्की की शादी हुई थी। आरोप है कि शादी के बाद निक्की और उसकी भाभी शारीरिक और मानसिक रूप से रवीना को प्रताड़ित करते थे। इससे त्रस्त होकर 13 अगस्त 2021 को दोपहर में रवीना ने फांसी लगा ली। उसकी मौत हो गई। प्रकरण दर्ज किया गया है। जांच जारी है। 

फांसी लगाकर युवक ने की खुदकुशी

कोंढाली थाना अंतर्गत मोहगांव (ढोले) निवासी रोशन प्रभाकर फरकड़े (26) ने 15 अगस्त की रात खेत में बनाए मचान से रस्सी की सहायता से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। हालांकि आत्महत्या की वजह स्पष्ट नहीं हो पाई। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक रोशन प्रभाकर फरकाड़े(26) अडेगांव में अपने मामा की खेती करता था। दो वर्ष पहले रोशन का विवाह हुआ  था। बताया जाता है कि, रोजाना शराब  पीने की वजह से पत्नी से विवाद होते रहता था। इसके चलते पत्नी उसे छोड़कर अपने मायके चली गई। इस वजह से वह सदैव निराश रहता था। ऐसे में निराशा के चलते रोशन  फरकाड़े ने आत्महत्या किए जाने का कयास लगाया जा रहा है। घटना की शिकायत परिजनों ने कोंढाली थाने में दर्ज की। सूचना मिलते ही पुलिस उपनिरीक्षक राम ढगे, संतोष राठोड़, शरद बोबडे आदि मौके पर पहुंचे व पंचनामा किया। शव को पोस्टमार्टम के लिए काटोल ग्रामीण अस्पताल रवाना किया गया। आगे की जांच थानेदार विश्वास फुलरवार के मार्गदर्शन मंे कोंढाली पुलिस कर रही है।

बैग से आभूषण चोरी

उधर बैग से 86 हजार के आभूषण चोरी होने का मामला मंगलवार को सदर पुलिस ने दर्ज किया।  पीड़ित सदर स्थित सीपीडब्ल्यूडी कालोनी स्थित क्वार्टर नंबर-15 निवासी नरसिंहराव गुडप्पा सोमराज (56) है। 6 से 15 अगस्त के बीच में किसी ने उसके बैग से 86 हजार रुपए के सोने के आभूषण चुरा लिए गए, लेकिन सोमराज परिवार को इसकी भनक तक नहीं लगी। संदेह है कि, किसी परिचित व्यक्ति ने ही घटना को अंजाम दिया है। सदर थाने में प्रकरण दर्ज िकया गया है। जांच जारी है।

मर्चेंट नेवी के अधिकारी की बेटी के खाते से उड़ाए 7 लाख

इधर मर्चेंट नेवी के सेवानिवृत्त अधिकारी की बेटी के बैंक खाते से 7 लाख रुपए की धोखाधड़ी किए जाने का मामला सामने आया है। अधिकारी श्रीराम करपटे (69) की शिकायत पर बजाजनगर पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। पानी का बिल भरने कस्टमर केयर पर फोन किया : पुलिस के अनुसार पीड़ित संत नगर निवासी हैंं। उन्होंने बताया कि 16 से 17 अगस्त के बीच उनके साथ ठगी की गई। वे पानी का बिल अपने मोबाइल फोन से ऑनलाइन भरने की कोशिश कर रहे थे। बार- बार प्रयास असफल होने पर उन्होंने कस्टमर केयर पर फोन किया, तो अज्ञात आरोपी ने उनको दूसरे मोबाइल नंबर से फोन करने की सलाह दी। फोन करने पर आरोपी ने उन्हें डेबिट कार्ड से पैसे जमा करने की सलाह दी। उन्होंने अपने सेविंग खाते से पैसे जमा करने की कोशिश की तो उनके बैंक खाते से रकम कटने के बजाय उनकी बेटी के बैंक खाते से 7 लाख रुपए साइबर अपराधी ने ऑनलाइन ट्रांसफर कर लिए। यह बात जब बेटी को पता चली तो उसने पिता से बातचीत की। दरअसल, उनकी बेटी कैलिफोर्निया में इंजीनियर है। श्रीराम का मोबाइल नंबर बेटी के बैंक खाते से अटैच है। जब पिता-पुत्री को ठगी के बारे में पता चला तब श्रीराम ने थाने में शिकायत की। महिला पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ धारा 420 व सहधारा  66(सी), 66(डी) आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

तृतीयपंथियों ने घर में घुसकर की तोड़फोड़

चंदे की आड़ में तृतीयपंथी वसूली पर उतर आए। मंगलवार को दिनदहाड़े नीलडोह स्थित एक मकान में पंद्रह तृतीयपंथियों ने हमला बोल दिया। जमकर उपद्रव मचाया और घर में तोड़फोड़ की। महिला की पिटाई भी की। प्रकरण दर्ज कर आरोपी तृतीयपंथियों को एमआईडीसी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। घटना से कुछ समय के लिए क्षेत्र में तनाव का माहौल रहा। सोमवार को दोपहर 1.30 बजे उसके घर चार तृतीयपंथी श्रावण मास होने से चंदा मांगने के लिए आए। ताराबाई ने उन्हें 50 रुपए दिए, लेकिन तृतीयपंथी 551 रुपए चंदा और दाल-चावल की मांग करने लगे। यह देने से इनकार करने पर तृतीयपंथी गाली-गलौज करने पर उतर आए। हाथ से अश्लील इशारे करने लगे। उन्होंने ताराबाई से गाली-गलौज कर उसकी पिटाई कर दी। एलईडी टीवी, फ्रिज, कांच का टी-टेबल, खिड़कियों के कांच और मोटरसाइकिल की तोड़फोड़ की। करीब डेढ़ लाख रुपए का नुकसान किया है। इस हंगामे से बस्ती के लोग जमा हो गए। हस्तक्षेप करने पर तृतीयपंथियों ने लोगों को भी मारने की धमकी दी। इस बीच किसी ने फोन कर घटना की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने पंद्रह तृतीयपंथियों को हिरासत में लिया।

 


 

 

खबरें और भी हैं...