comScore

लापता किशोरी के पिता का कुएं में मिला शव, पुलिस पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप

लापता किशोरी के पिता का कुएं में मिला शव, पुलिस पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप


डिजिटल डेस्क केवलारी/सिवनी। केवलारी थाना क्षेत्र में एक शख्स का कुएं में शव मिलने से सनसनी फैल गई।  ग्रामीणों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए प्रदर्शन किया। प्रदर्शन को देखते हुए गांव में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। ग्रामीणों और पीडि़तों का आरोप है कि तीन माह से लापता किशोरी के मामले में पुलिस ने कार्रवाई में कोताही की है, जिसके कारण मानसिक रूप से प्रताडि़त होकर शख्स ने आत्महत्या की है। वहीं पुलिस अधिकारी फिलहाल गांव में स्थिति शांत होने की बात कहते हुए जांच कराए जाने का आश्वासन दे रहे हैं।  फिलहाल पुलिस ने आरोपी के पिता-माता और बहन को गिरफ्तार कर लिया है।  


यह है मामला
केवलारी थाना क्षेत्र के खैररांजी में रहने वाली एक किशोरी को गांव के ही एक शख्स प्रदीप कु मार पिता नोक सिंह ने उसका लगातार शारीरिक शोषण किया। जिससे किशोरी गर्भवती हो गई। जिसके बांद गांव में सामाजिक पंचायत बुलाई गई जहां पर प्रदीप और उसके पिता ने अपनी गलती स्वीकारते हुए लड़की को अपनी बहू बनाने की बात स्वीकार कर ली थी। आरोप है कि इसके बाद जब घर में कोई और नहीं था तब प्रदीप कुमार लड़की को लेकर 11 जुलाई 2019 को गांव से कहीं चला गया। लड़की की अपने स्तर पर पतासाजी करने पर भी पता नहीं चलने पर लड़की की मां केवलारी थाना पहुंची, लेकिन पुलिस ने लड़के वालों के दबाव में उसकी शिकायत दर्ज नहीं की। पीडि़त महिला का कहना है कि वह चार-छह बार थाने गई। लगातार शिकायत दर्ज न होने पर महिला जब 26 अगस्त को गांव के चार-छह लोगों को लेकर थाने गई तो पुलिस ने 363 धारा के तहत मामला दर्ज कर लिया। रिपोर्ट होने के बावजूद पुलिस ने गांव में वापस लौट आए प्रदीप से कभी कोई पूछताछ नहीं की। महिला की आर्थिक स्थिति कमजोर होने और पढ़ा लिखा न होने के कारण वह आगे शिकायत नहीं कर पाई।


पुलिस देती रही गोलमोल जवाब
महिला का कहना है कि पुलिस इस मामले में गोलमोल जवाब देती रही। थाना प्रभारी केके अवस्थी ने एक दो बार लड़की के वापस आने की जानकारी भी मीडियाकर्मियों को दी। पुलिस ने कभी भी प्रदीप और उसके परिजनों से पूछताछ नहीं की और लड़की को तलाशने की तीन माह तक कोई कोशिश नहीं की। जिसके कारण लड़की का मानसिक रूप से कमजोर पिता परेशान रहने लगा था। बुधवार को उसका शव गांव में एक कुएं में प्राप्त हुआ। लोगों का आरोप है कि पुलिस की उदासीनता के कारण पीडि़त की मौत हुई है।


एसपी, सांसद को भी शिकायत
इस मामले में कार्रवाई न होने पर पीडि़त मां ने सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते को भी पांच अक्टूबर को एक शिकायत दी थी जिसे कुलस्ते ने एसपी सिवनी को फारवर्ड करते हुए प्रकरण में स्वयं रुचि लेकर कार्रवाई करें का नोट लिखा था। बावजूद इसके किसी तरह की पुलिस कार्रवाई नहीं की गई।


गांव में आक्रोश, छावनी बना खैररांजी
बुधवार को जैसे ही किशोरी के पिता का शव कुएं में मिलने की जानकारी मिली वैसे ही ग्रामीण आक्रोशित हो गए जिसके बाद आसपास के थानों की पुलिस गांव में तैनात कर दी गई। गांव को पुलिस ने फिलहाल छावनी में तब्दील कर दिया है। पुलिस अधीक्षक ने जानकारी दी है कि इस मामले में प्रदीप के पिता, बहन और मां को गिरफ्तार कर अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया है। कुछ दिन पहले एक ऑडियो रिकार्डिंग वायरल हुई थी जिसमें खुलासा हुआ था कि ये लोग अपने पुत्र के साथ लगातार बात कर रहे हैं।


इनका कहना है
गांव में हालात सामान्य हैं। ऐहतियातन गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है।
कमलेश खरपुसे, एएसपी, सिवनी
मामले में एक ऑडियो वायरल होने पर संज्ञान लेते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया है। गांव में हालात सामान्य हैं।
कुमार प्रतीक, एसपी सिवनी

कमेंट करें
Q8Ctc