comScore

पत्नी के प्रेमी की हत्या कर रेलवे टै्रक पर फेंकी थी लाश, दो आरोपी गिरफ्तार

पत्नी के प्रेमी की हत्या कर रेलवे टै्रक पर फेंकी थी लाश, दो आरोपी गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क शहडोल । एक युवक ने अपने साथी के साथ मिलकर अपनी पत्नी के आशिक की हत्या कर रेलवे लाइन किनारे फेंक दिया। मृतक की पहचान व इस अंधी हत्या का पर्दाफाश करने में पुलिस को एक वर्ष का समय लग गया। जिसकी हत्या हुई उसकी पहचान अनिल साहू 19 वर्ष निवासी भदियापुर थाना धाता जिला फतेहपुर उप्र के रूप में हुई। जबकि आरोपी आरोपी बिहारीलाल उर्फ मुन्नु चर्मकार 26 वर्ष तथा रामपाल चर्मकार 22 वर्ष दोनों निवासी झरौसी थाना ब्यौहारी के निकले। जिनके विरुद्ध धारा 302, 201, 34 भादवि के तहत प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। 
यह पूरा मामला किसी हिंदी फिल्म की थ्रिलर से कम नहीं है। मृतक के पिता  कंधई लाल साहू ने 28 जुलाई 2019 को ब्यौहारी थाने में अपने पुत्र के लापता होने की सूचना दर्ज कराई थी। क्योंकि पूना जाने के लिए यूपी से निकला अनिल को 20 जून 2019 को ग्राम मऊ ब्यौहारी में देखा गया था। पुलिस ने गुम इंसान का मामला दर्ज किया था। इस बीच ग्राम देवगांव इमलिहा टोला ब्यौहारी के रेल्वे लाइन के पास 27 जून 2019 को अज्ञात पुरुष का शव मिला। पुलिस ने मर्ग कायम किया। पुलिस गुम इंसान व मर्ग दोनों मामले की अलग-अलग जांच कर रही थी, लेकिन एक वर्ष बाद पता चला कि यह दोनों मामले एक ही हैं, क्योंकि गुमशुदा अनिल की लाश है। 
बात-बात में आरोपी ने कर दिया खुलासा
पुलिस गुम इंसान व मर्ग की विवेचना कर ही रही थी कि कुछ दिन पहले एक अहम क्लू मिला। मुखबिर से सूचना मिली थी कि आरोपी यह कहते सुने गए हैं कि एक वर्ष पहले किसी की हत्या की है। पुलिस ने संदेह के आधार पर दोनों आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, जिन्होंने आखिरकार स्वीकार किया उन्होंने ही 20 जून 2019 की रात्रि 10 बजे अनिल की हत्या की थी।  पुलिस के अनुसार अनिल का चचेरा भाई संतोष साहू ने ब्यौहारी रेल्वे लाइन फाउंडेशन का ठेका लिया था। अनिल तथा ग्राम झरौसी के बिहारी लाल चर्मकार, रामपाल चर्मकार वगैरहा साथ में काम करते थे। अनिल का बिहारी लाल के घर आना जाना था। जिससे उसके संबंध बिहारी की पत्नी से हो गए। अपै्रल 2019 में उसे यूपी भी ले गया था। 20 दिन बाद लौट आया। इस बीच 20 जून 2019 की रात में बिहारी ने अपनी पत्नी को  अनिल के साथ रेलवे लाइन के पास देख लिया। जहां उसने रामपाल के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। पत्नी को भी धमकी देकर चुप करा दिया था। मामले का खुलासा होने के बाद मृतक के पिता को यहां बुलाया गया। जिसने कपड़ों आदि से पहचान की। 

कमेंट करें
E4oTt