दैनिक भास्कर हिंदी: राफेल पर सियासत गरम : रक्षामंत्री ने कहा - कीमत को लेकर गुमराह कर रही कांग्रेस, पूनम ने भी साधा निशाना

December 17th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने राफेल विमान की कीमत को लेकर कांग्रेस पर जानबूझकर गुमराह करने का आरोप लगाया है। सीतारमण ने कहा कि राफेल विमान की कीमत भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) को बताई जा चुकी है। सीएजी उसकी रिपोर्ट लोक लेखा समिति (पीएसी) को भेजेगी। उन्होंने कहा कि संसदीय प्रणाली में एक प्रक्रिया के तहत यह काम होता है। सोमवार को मुंबई भाजपा कार्यालय वसंत स्मृति में पत्रकारों से बातचीत में सीतारमण ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस ने कमाल की ढिठाई दिखाई है। उन्होंने राफेल रक्षा सौदे की जांच के लिए कांग्रेस की संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) गठन करने की मांग को खारिज करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जेपीसी से जांच कराने की मांग उचित नहीं है। राजनीतिक रूप से विभाजित जेपीसी बोफोर्स मामले की जांच कर चुकी है। बोफोर्स जांच का नतीजा सबके सामने है। 

सीतारमण ने कहा कि राफेल मामले में सीएजी और पीएसी की रिपोर्ट के संबंध में संशोधन के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करना सरकार की नाकामी नहीं है। उन्होंने कहा कि हमने सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में हमने कहा है कि ‘रिपोर्ट के संबंध में अदालत को समझाने में कुछ गलती हुई है। अदालत इसे देखकर सही करें।’ सीतारमण ने कहा कि मैं इस मामले में ज्यादा कुछ नहीं बोलना चाहती हूं क्योंकि मामला अदालत में है। इस पर सुप्रीम कोर्ट में  5 जनवरी को सुनवाई होगी। 

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि यूपीए सरकार के समय विपक्षी दल भाजपा ने जिन मामलों की जांच जेपीसी से कराने की मांग की थी, उसके लिए तत्कालीन यूपीए सरकार ने मंजूरी दी थी। इसके जवाब में सीतारमण ने कहा कि राफेल के मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ चुका है। विपक्ष में रहते हुए भाजपा ने जिन मामले के लिए जेपीसी जांत की मांग कि थी। उस पर अदालत से निर्णय नहीं आया था। 

शिवसेना का रवैया गलत
रक्षामंत्री सीतारमण ने राफेल विमान सौदे के मामले पर केंद्र सरकार की आलोचना करने वाली भाजपा की सहयोगी शिवसेना की भूमिका पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि शिवसेना की तरफ से सवाल उठना उचित नहीं है। क्योंकि शीर्ष अदालत ने जांच में वायु सेना के अफसरों से जानकारी लेने के बाद ही यह फैसला दिया है। 

राफेल प्रकरण को लेकर राहुल गांधी माफी मांगे - पूनम महाजन 
उधर पुणे में भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा की अध्यक्षा सांसद पूनम महाजन ने सोमवार को कहा कि बोफोर्स घोटाले का दाग मिटाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल करार को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर झूठे आरोप लगाए। इसलिए वह पहले माफी मांगे अन्यथा हम पूरे देश में कांग्रेस के कार्यालयों के बाहर आंदोलन करेंगे। महाजन ने कहा कि राफेल को लेकर राहुल गांधी झूठी जानकारी के आधार पर प्रधानमंत्री पर आरोप लगा रहे हैं। जबकि जानकारी देने वाला मुखबिर कौन है यह राहुल बताएं। वर्ष 2007 से 2014 तक जब उनकी सत्ता थी तब देश की रक्षा के लिए विमान खरीदी क्यों नहीं की? अगर राहुल गांधी ने माफी नहीं मांगी तो भाजपा पूरे देश में कांग्रेस के कार्यालयों के सामने आंदोलन करेगी।

खबरें और भी हैं...