दैनिक भास्कर हिंदी: शिवराज अपने 15 साल और मेरे 10 साल के काम पर कर लें चर्चा : दिग्विजय सिंह

August 31st, 2018

डिजिटल डेस्क, शहडोल। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस समन्वय समिति के चेयरमैन दिग्विजय सिंह ने कहा है कि प्रदेश में जब चुनाव आता है तो भाजपा को दिग्विजय सिंह दिखने लगता है। मैंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से कहा है कि आपके 15 साल और मेरे 10 साल के कार्यकाल की आमने-सामने चर्चा कर लीजिए। 

सिंह ने कहा कि 10 साल के कार्यकाल में मेरे ऊपर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा। जिन्होंने आरोप लगाया उन्हें मैं कोर्ट में ले गया। बाद में उन्होंने माफी मांग ली। गुरुवार को यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि शिवराज सिंह और उनके परिवार पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे हैं। फिर वह व्यापमं का मामला हो या खनन का। आरोपों का जवाब क्यों नहीं देते हैं शिवराज। सरकार की बिजली बिल माफ करने की योजना पर उन्होंने कहा कि हमने तो 10 साल तक गरीबों से बिजली का बिल ही नहीं लिया। भाजपा सरकार ने तो 15 साल तक उनसे वसूली की है। जिन्होंने बिल जमा नहीं किए उन पर मुकदमे किए गए, जेल में डाला गया। अब बिल माफ कर रहे हैं, केस वापस ले रहे हैं।

बैंकों में नकली नोट भी जमा हो गए

पूर्व मुख्यमंत्री ने नोटबंदी से लेकर जीएसटी और रफेल डील तक की चर्चा की। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के फैसले ने पूरे देश को परेशान कर सड़क पर ला दिया, इसके बाद भी कुछ नहीं मिला। जितने नोट मार्केट में थे, उतने वापस आ गए। उन्होंने आशंका जताई कि सरकार के इस फैसले की वजह से काफी संख्या में नकली नोट भी बैंकों में जमा करा दिए गए हैं, क्योंकि ग्रामीण इलाकों के पोस्ट ऑफिस और बैंकों में नकली नोट पकडऩे की कोई व्यवस्था नहीं है। रिजर्व बैंक मांगने पर भी इसकी जानकारी नहीं देता है। साथ ही सार्क देशों में चल रही भारतीय करंसी में कितने पुराने नोट अटके हैं, इसकी जानकारी भी आरबीआई नहीं दे रही है।

व्यक्तिगत नहीं पार्टी को देखो

प्रेस कांफ्रेंस से पहले गोरतरा में पार्टी नेताओं की ओर से दिग्विजय सिंह का स्वागत किया गया। यहां पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह ने सिर्फ इतना कहा कि सब एक साथ आ जाइए। व्यक्तिगत नहीं पार्टी को देखिए। साथ ही उन्होंने पार्टी नेताओं को हिदायत दी कि किसी तरह की नारेबाजी न करें। दिग्विजय सिंह जिले के पार्टी नेताओं से वन टू वन चर्चा करेंगे।

जो दूरियां हैं उन्हें खत्म करना है

पार्टी के वरिष्ठ नेता रामेश्वर नीखरा ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि चुनाव के दौरान एक-दूसरे के समर्थन के कारण पार्टी कार्यकर्ताओं में दूरियां बढ़ जाती हैं। उन्हीं दूरियों को कम करने के लिए ही समन्वय समिति का गठन किया गया है। अभी तक समिति के सदस्यों ने 35 जिलों का दौरा कर लिया है और हर एक कार्यकर्ता से बात कर ली है। कार्यकर्ताओं को खुलकर कुछ बोलने में दिक्कत न हो, इसलिए उनसे कहा गया है कि समिति के चेयरमैन या सदस्यों के कान में अपनी बात बता सकते हैं। प्रेसवार्ता के दौरान महेश जोशी, विनयशंकर दुबे, मजीद कुरैशी, हरगोविंद जौहरी, बिसाहूलाल सिंह, श्री नरबरिया, जिला कांग्रेस अध्यक्ष आजाद बहादुर सिंह, कार्यकारी जिलाध्यक्ष यादवेन्द्र पाण्डेय, जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्र मरावी आदि उपस्थित थे।