comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

शादी की परमीशन लेने दर्जनों खड़े कतार में, दफ्तर में लटका था ताला

शादी की परमीशन लेने दर्जनों खड़े कतार में, दफ्तर में लटका था ताला

डिजिटल डेस्क जबलपुर । कोरोना संक्रमण फैलने और लॉकडाउन लगने के बाद सबसे ज्यादा वे लोग परेशान हैं जिनके घरों में हाल ही के दिनों में शादियाँ होनी हैं। सोमवार को दर्जनों लोग कलेक्ट्रेट में कतार लगाये खड़े थे और दफ्तर में ताला लटका था। लोगों का कहना था कि बिना परमीशन के उनके घरों में वैवाहिक कार्यक्रम कैसे होगा। शासन ने दोनों पक्षों के लिये 10 लोगों की परमीशन शादी के लिये दी है लेकिन यहाँ तो यह भी नहीं मिल रही है।  कलेक्ट्रेट पहुँचे दमोहनाका निवासी सुनील कुमार, पिपरिया के अशोक यादव, गुरंदी भरतीपुर की अनीता वंशकार और रांझी के झन्नालाल अहिरवार व गुरमीत माखीजा का कहना है कि शादी के कार्ड छप गये हैं, रिश्तेदारों को निमंत्रण भेज दिया है, अब कह रहे हैं कि परमीशन नहीं देंगे ऐसे में वे कहाँ जायें। 
एसडीएम कार्यालय से लौटा रहे
रांझी एसडीएम कार्यालय में सोमवार की सुबह परमीशन को लेकर विवाद की स्थिति बन गई थी। बड़ी मुश्किल से लोग शांत हुए। इसी तरह अधारताल एसडीएम कार्यालय से भी जब लोगों को भगाया गया तो वे आक्रोशित हो गये। यही हाल गोरखपुर स्थित कार्यालय का है यहाँ प्यून को परमीशन देने बैठाया गया है जो लोगों से बहस करता है। कुल मिलाकर लोग परेशान हैं। 
इनका कहना है
कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोगों को वैवाहिक कार्यक्रम अभी टालना चाहिये। अगर फिर भी किसी को परमीशन चाहिये तो संबंधित क्षेत्र के एसडीएम ही अनुमति देंगे। कलेक्ट्रेट से कोई अनुमति जारी नहीं होगी। अगर कोई परमीशन के बाद नियम तोड़ेगा तो वर-वधु पक्ष वालों पर एफआईआर दर्ज कराई जायेगी। 
कर्मवीर शर्मा, कलेक्टर
 

कमेंट करें
OjgTD