comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

मुंबई में शुरु हुआ ड्राइव इन वैक्सीनेशन सेंटर, विकलांग-बुजुर्गो को वाहन में लगाए जा रहे टीके

मुंबई में शुरु हुआ ड्राइव इन वैक्सीनेशन सेंटर, विकलांग-बुजुर्गो को वाहन में लगाए जा रहे टीके

डिजिटल डेस्क, मुंबई। 45 साल से ज्यादा आयु के जो विकलांग और बुजुर्ग कतार में नहीं खड़े हो सकते उनके लिए मुंबई में मंगलवार को ड्राइव इन वैक्सीनेशन सेंटर शुरू किया गया है। दादर के शिवाजी पार्क के पास स्थित बहुमंजिला कोहिनूर पार्किंग को टीकाकरण केंद्र बनाया गया है। अधिकारियों के मुताबिक यहां आने वालों को उनकी गाड़ी में ही कोरोना संक्रमण से बचाव के टीके लगाए जाएंगे।कोहिनूर पार्किंग में 60 से 70 वाहनों के खड़े होने की जगह है। फिलहाल 45 साल से ज्यादा आयु के लोग ही इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। मंगलवार सुबह 10 बजे ही टीकाकरण की शुरूआत हुई और यहां पहुंचे व्यक्ति को नामांकन के बाद कार में ही टीका लगाया गया। मुंबई महानगर पालिका के जी-उत्तर वार्ड में विकलांगों और बुजुर्गों के टीकाकरण के लिए दो ड्राइव इन बूथ बनाए गए हैं साथ ही यहां एक रजिस्ट्रेशन स्टॉल भी लगाया जा रहा है। मुंबई शहर में महानगर पालिका ने टीकाकरण के लिए 135 सेंटर बनाएं हैं। महानगर में इस साल 16 जनवरी से टीकाकरण की प्रक्रिया चल रही है। सोमवार शाम तक महानगर में 24 लाख 59 हजार 883 लोगों को टीके की पहली या दोनों खुराक लगाई जा चुकी थी।

बच्चों के लिए पालनाघर

ऐसे बच्चें जिनके माता-पिता दोनों कोरोना संक्रमित हो गए हैं उन्हें रखने के लिए मुंबई महानगर पालिका पालनाघर बनाएगी। मुंबई की महापौर किशोरी पेडणेकर ने मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के पास आधार कार्ड नहीं है और जो बेघर हैं उन्हें भी टीका लगाने पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि चार दिन बाद मुंबई के 59 केंद्रों पर 45 साल से ज्यादा आयु वालों को टीके लगाए जा रहे हैं। फिलहाल जिन्हें दूसरी खुराक दी जानी है उन्हें प्राथमिकता दी जा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार रजिस्ट्रेशन के लिए अलग ऐप तैयार करेगी जिससे समस्या खत्म की जा सके। क्योंकि बड़ी संख्या में लोग कोविन ऐप क्रैश होने की शिकायत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के चलते मुंबई में संक्रमण का फैलाव रोकने में काफी मदद मिली है।

कमेंट करें
i2l0v