comScore

मेट्रो नॉन फेअर रेवेन्यू कमाई में दोहरे शतक की ओर 197.72 करोड़ कमाएं

मेट्रो नॉन फेअर रेवेन्यू कमाई में दोहरे शतक की ओर 197.72 करोड़ कमाएं

डिजिटल डेस्क, नागपुर। माझी मेट्रो टिकट बिक्री में भले ही ज्यादा अर्निंग नहीं कर पा रही है, लेकिन नॉन फेअर रेवेन्यू में तेजी से आगे बढ़ रही है। स्टाम्प ड्यूटी व एफएसआई से अब तक प्रशासन ने 197 करोड़ 72 लाख रुपये का रेवेन्यू प्राप्त कर लिया है। आनेवाले दिनों में इसमें और भी इजाफा होने की उम्मीद प्रशासन ने दिखाई है।

उल्लेखनीय है कि  गत 4 वर्ष से नागपुर में मेट्रो चलाने की हर तरह से तैयारी शुरू है। शहर के चारों दिशा में मेट्रो चलाने की योजना के साथ इसका निर्माण कार्य चल रहा है। वर्तमान स्थिति में मेट्रो का एक सेक्शन रीच-1 शुरू हो गया है। लेकिन इसके अधूरे स्टेशन यात्रियों को पूरी तरह से इस व्यवस्था पर निर्भर नहीं कर रहे हैं। ऐसे में टिकट बिक्री कर मेट्रो को ज्यादा कुछ हासिल नहीं हो रहा है। लेकिन नॉन फेअर रेवेन्यू से अच्छी-खासी आमदनी हो रही है। अधिकृत आंकड़ों के अनुसार अब तक मेट्रो ने केवल स्टैम्प  ड्यूटी से ही 165 करोड़ 69 लाख रुपये रेवेन्यू प्राप्त किया है। वहीं एफएसआई से 32 करोड़ 2 लाख राजस्व मिल सका है। कुल मिलाकर नॉन फेअर बॉक्स से 197 करोड़ 72 लाख रुपये का रेवेन्यू मेट्रो प्रशासन को हासिल हो सका है।

बढ़ते जाएगा रेवेन्यू 

बता दें कि अभी मेट्रो की पूरी व्यवस्था शुरू नहीं हुई है। आनेवाले समय में जैसे- जैसे मेट्रो का काम आगे बढ़ते जाएगा, वैसे- वैसे रेवेन्यू भी बढ़ते जाएगा। प्रापर्टी लेन-देन के साथ डेवलपमेंट, एनएचआई का काम करने आदि से राजस्व मिलेगा। वर्तमान स्थिति में हॉगकॉग मेट्रो एक ऐसी मेट्रो है, जहां 40 प्रतिशत रेवेन्यू मिलता है। माझी मेट्रो ने इसे पीछे छोड़ने का लक्ष्य सामने रखा है। नागपुरियंस का इसे ड्रीम प्रोजेक्ट कहा जाता रहा है। जब से मेट्रो शुरू होने का ऐलान हुआ तब से लेकर इसके शुरू होने तक लोगों में इसे लेकर आकर्षण बना हुआ है। नागपुर सहित आसपास के लोग भी मेट्रो की सवारी का आनंद लेने के लिए उत्साहित हैं।
 

कमेंट करें
1VRLa