दैनिक भास्कर हिंदी: सिवनी में भूकंप से डोली धरती, दहशत में घरों से निकले लोग  

October 27th, 2020

रिक्टर पैमाने पर 3.3 मापी गई तीव्रता, मोहगांव सड़क के पास केन्द्र, गुस्साए लोगों ने डूंडासिवनी थाने में किया प्रदर्शन 
डिजिटल डेस्क सिवनी ।
शहर में मंगलवार की तड़के भूकंप आने से धरती डोल उठी। जोरदार कंपन व तेज आवाज से गहरी नींद में सोए लोग घबराकर उठ गए। दहशत में लोग घरों के बाहर निकल आए। लोगों ने सुबह 3 बजकर 50 मिनट से सवा 4 बजे तक कई बार झटके महसूस किए, लेकिन रिक्टर स्केल पर 3.3 तीव्रता का भूकंप  सुबह 4 बजकर 10 मिनट 50 सेकेण्ड पर दर्ज किया गया है। लोगों ने पहले भूकंप को शहर में दो-तीन माह से लगातार लग रहे झटके ही समझा। इस मामले में प्रशासन द्वारा गंभीरता न बरतने का आरोप लगाते हुए दर्जनों लोग डूंडासिवनी थाना पहुंच गए और जमकर आक्रोश जताया। हालांकि अफसरों की समझाइश के बाद वे लौट गए। कुछ समय बाद प्रशासन द्वारा स्पष्ट कर दिया गया कि वाकई में भूकंप आया है। 
10 से ज्यादा झटके 
शहर में भूकंप का पहला झटका तड़के 3.50 बजे महसूस किया गया। इसके बाद तेज आवाज के साथ कई बार कंपन हुआ। 4.11 बजे के 10 सेकेण्ड पहले सबसे तेज झटका लगा। इससे दहशत की स्थिति बन गई और लोग घरों के बाहर निकल आए। डूंडा सिवनी, राजपूत कालोनी, छिंदवाड़ा चौक, बारापत्थर, जबलपुर रोड, बुधवारी, शुक्रवारी, भैरोगंज सहित शहर के हर हिस्से में लोग सड़कों पर एकत्र हो गए थे। डूंडा सिवनी क्षेत्र में घबराहट में लोग काफी देर तक घरों के भीतर वापस नहीं गए और बाहर ही मौजूद रहे।  
मोहगांव सड़क के पास केन्द्र  
भारतीय मौसम विज्ञान केन्द्र द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 21.92 उत्तरी अक्षांश 79.50 पूर्वी देशांतर के निकट 3.3 रिक्टर तीव्रता के भूकंप का केन्द्र कुरई विकासखण्ड के मोहगांव सड़क से 2.91 किमी दूर 15 किमी की गहराई में था। भारतीय मौसम विज्ञान केंद्र के इंचार्ज राडार एवं सिस्मोलॉजी श्री वेद प्रकाश सिंह के अनुसार भूकंप दर्ज होने के अगले 24 घंटे के भीतर सौम्य झटके आने की संभावना रहती है। लोगों को इस अवधि में सतर्क रहना चाहिए।  
क्रेशरों पर की जाए कार्रवाई 
लोगों ने भूकंप को शहर में दो-तीन महीने से लगातार हो रहे कंपन व लग रहे झटके ही माना और डूंडासिवनी थाना में एकत्र हो गए। लोगों ने थाने के समक्ष जमकर आक्रोश जताया और शहर से लगे मानेगांव, बिठली क्षेत्र में चल रहे क्रेशरों पर कार्रवाई की मांग की। के्रशरों में होने वाले ब्लास्ट से कंपन होने के आरोप लगाए। समझाइश दिए जाने के बाद लोग वापस लौटे। 
प्रशासन हुआ अलर्ट
भूकंप आने के बाद प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया। कलेक्टर डॉ. राहुल हरिदास फटिंग ने पुलिस, होमगाड्र्स, एसडीआरएफ, स्वास्थ्य एवं प्रशासनिक अमले को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं। चौबीस घंटे के भीतर फिर झटके आने की संभावना के चलते उन्होंने लोगों से अपील की है कि सतर्कता बरतते हुए सुरक्षित रहने का प्रयास करें। खास तौर पर कच्चे मकानों में रहने वाले लोग विशेष सतर्कता बरतें।
जांच में बारिश कारण 
शहर में लगातार हो रहे कंपन व भूकंप की अफवाह के चलते कलेक्टर डॉ. राहुल हरिदास फटिंग ने भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण विभाग जबलपुर से दो सदस्यीय टीम बुलाकर सितंबर माह में जांच कराई थी।  जियोफिजिसिस्ट एमएस पठान व असिस्टेंट जियोलॉजिस्ट सुजीत कुमार ने जांच के बाद 27 सितंबर को भेजी रिपोर्ट में कहा था कि सिवनी जिला सेंट्रल इंडियन टेक्टोनिक जोन में स्थित है। लगातार आ रहे झटकों को भूकंप के झुण्ड में वर्गीकृत करते हुए रिपोर्ट में कहा था कि यह हल्के झटके हैं, जो भारी वर्षा के बाद छोटे क्षेत्र में कुछ मामलों में महीनों तक चलते हैं। मानसून के कारण पानी की मेज में बदलाव के चलते इस तरह के झटके आने की संभावना होती है।  
इनका कहना है- 
रिक्टर स्केल पर 3.3 तीव्रता का भूकंप दर्ज किया गया है। इसका केन्द्र मोहगांव सड़क से 2.91 किमी दूर 15 किमी गहराई में रहा। आगामी चौबीस घंटे में फिर झटके आने की संभावना के चलते नागरिकों से सतर्कता बरतने का आग्रह किया गया है। भारतीय मौसम विज्ञान केन्द्र से लगातार संपर्क में हैं। पुलिस सहित संबंधित अमले को अलर्ट कर दिया गया है। 
- डॉ. राहुल हरिदास फटिंग, कलेक्टर, सिवनी

खबरें और भी हैं...