• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Earthquake: Administration on alert, constant contact with scientists - continue to handle disaster

दैनिक भास्कर हिंदी: भूकंप : एलर्ट पर प्रशासन, वैज्ञानिकों से लगातार संपर्क - आपदा से निपटने कवायद जारी, कलेक्टर ने ली बैठक

November 27th, 2020

डिजिटल डेस्क  सिवनी । शहर में बीते शनिवार-रविवार की दरमियानी रात आए रिक्टर स्केल पर 4.3 तीव्रता के भूकंप के बाद जिला प्रशासन वैज्ञानिकों से लगातार संपर्क बनाए हुए है। संबंधित विभागों को एलर्ट पर रखा गया है, वहीं किसी भी आकस्मिक आपदा से निपटने के लिए लगातार उपाय व प्रबंध किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में गुरुवार को कलेक्टर डॉ. राहुल हरिदास फटिंग ने प्रायवेट हॉस्पिटल के संचालकों, एनसीसी, एनएसएस, स्काउड गाइड, शौर्य दल, एनयूएलएम के स्वसहायता समूह, आईएमए, फार्मा एसोसिएशन तथा सिविल डिफेंस सहित अन्य संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक लेकर अप्रत्याशित भूकंप आपदा से निपटने में जिला प्रशासन का सहयोग करने का आग्रह किया गया।
हो रहे जरूरी इंतजाम
कलेक्टर डॉ. फटिंग ने बताया कि लगातार महसूस किए गए भूकंप के झटकों के मद्देनजर आगामी समय में अप्रत्याशित आपदा से निपटने के लिए जिला प्रशासन द्वारा सभी जरूरी व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही हैं। भारतीय मौसम विज्ञान केन्द्र एवं नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी एवं अन्य संबंधित कार्यालायों के वरिष्ठ अधिकारियों के संपर्क में रहकर लगातार आवश्यक जानकारी प्राप्त की जा रही है, वहीं सभी जरूरी व्यवस्थाओं को सुनिश्चित किया जा रहा है।
त्वरित उपचार हो सुनिश्चित
भूकंप को लेकर जिला प्रशासन काफी एहतियात बरत रहा है। बैठक में कलेक्टर डॉ. फटिंग ने सभी प्राइवेट हॉस्पिटलों के संचालकों एवं फार्मा संचालकों से चर्चा कर रेस्क्यू गतिविधियों के दौरान त्वरित उपचार कार्रवाई सुनिश्चित किए जाने आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने चिकित्सकों को आपदा के दौरान काम आने वाले जरूरी संसाधनों जैसे चिकित्सक, एम्बुलेंस, पोर्टेबल एक्स-रे मशीन, ब्लड डोनर की जानकारी, दवाईयां तथा अन्य चिकित्सकिय स्टाफ की स्थानीय स्तर पर उपलब्धता तथा उस दौरान त्वरित सूचनाओं के आदान-प्रदान की व्यवस्था के लिए आवश्यक कार्रवाई पूर्ण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने मेडिकल संचालकों को सभी आवश्यक दवाइयों का भरपूर स्टॉक रखने को कहा है।
प्रशिक्षण दिया जाए  
आपदा पूर्व गतिविधियों में भूकंप के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के प्रति जनजागरुकता के लिए एनसीसी, एनएसएस, स्काउड गाइड, शौर्य दल तथा जनअभियान परिषद,सिविल डिफेंस तथा अन्य संगठनों के प्रतिनिधियों को आम जनों के बीच पहुंचकर उन्हें भूकंप के दौरान जान-माल की हानि से बचने के लिए बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में जानकारी से जागरुक करने की बात कलेक्टर ने कही। एसडीआरएफ दल को भी इन संगठनों के प्रतिनिधियों को आवश्यक प्रशिक्षण देने के निर्देश दिए गए। सभी संगठनों के प्रतिनिधियों को रेस्क्यू गतिविधियों में भी सक्रिय वॉलिंटियर्स की भूमिका निभाकर अपना महत्वपूर्ण योगदान देने की बात कही।
 

खबरें और भी हैं...