दैनिक भास्कर हिंदी: कोहरे का असर : वाया नागपुर डेढ़ दर्जन ट्रेनें लेट, जानिए कैसा रहेगा मौसम

December 30th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। उत्तर भारत में लगातार ठंड और कोहरे के चलते रेलवे में ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हो रहा है। कई ट्रेनें रद्द की गई हैं, तो कई घंटों देरी से चल रही हैं। इसमें ज्यादातर उत्तर भारत से आने वाली ट्रेनें हैं। सोमवार को नागपुर होकर जाने वाली डेढ़ दर्जन ट्रेनें देरी से चलीं। इसमें 12511 गोरखपुर-तिरुअनंतपुरम सेंट्रल राप्तिसागर सुपरफास्ट 8 घंटे, 22692 हजरत निजामुद्दीन-केएसआर बंगलुरु राजधानी एक्सप्रेस 6.30 घंटे, 22512 कामाख्या-मुंबई एलटीटी कर्मभूमि 3.00 घंटे, 22886 टाटानगर-मुंबई एलटीटी अंत्योदय एक्सप्रेस 1 घंटा, 12616 नई दिल्ली-चेन्नई सेंट्रल जीटी एक्सप्रेस, 02111 सोलापुर-नागपुर सुपरफास्ट स्पेशल फेयर 1.30 घंटे, 22112 नागपुर-भुसावल इंटरसिटी एक्सप्रेस 2.50 घंटे, 12622 नई दिल्ली-चेन्नई सेंट्रल तमिलनाडु एक्सप्रेस 7 घंटे, 15120 मंडुआडीह-रामेश्वरम साप्ताहिक एक्सप्रेस 1.30 घंटे, 12723 हैदराबाद डेक्कन-नईदिल्ली तेलंगाना एक्सप्रेस 3.30 घंटे, 12512 मंडुआडीह-रामेश्वरम साप्ताहिक एक्सप्रेस 10 घंटे, 12722 हजरत निजामुद्दीन-हैदराबाद डेक्कन दक्षिण सुपरफास्ट एक्सप्रेस 5.30 घंटे, 12950 संतरागाछी-पोरबंदर कवि गुरु सुपरफास्ट एक्सप्रेस 1.30 घंटे, 12296 संघमित्रा सुपरफास्ट एक्सप्रेस 1 घंटा, 22404 नई दिल्ली-पुडुचेरी सुपरफास्ट एक्सप्रेस 3.30 घंटे, 17609 पटना-पूर्णा एक्सप्रेस 1 घंटा, 12269 एमजीआर चेन्नई सेंट्रल-हजरत निजामुद्दीन दुरंतो एक्सप्रेस 6 घंटे और 12650 हजरत निजामुद्दीन-यशवंतपुर कर्नाटक संपर्क क्रांति एक्सप्रेस 2 घंटे देरी से चली।

फेल रेलवे का अभियान

अबकी बार कोहरे पर वार' नाम से इस बार रेलवे ने कोहरे से निपटने के लिए विशेष अभियान चलाया था। इसमें ट्रैक पर पेट्रोलिंग बढ़ाई गई। सिग्नल लाइट को और गहरा किया गया, साथ ही ट्रेनों में विशेष फॉग सेफ्टी डिवाइस भी लगाए गए। बावजूद इसके ट्रेनें लगातार देरी से चल रही हैं।

हवा बदलेगी, पारा चढ़ेगा, ठंड से मिलेगी थोड़ी राहत

तीन दिन की जबरदस्त ठंड के बाद हवा की दिशा बदलने जा रही है। उत्तरी हवा की जगह अब दक्षिणी हवा आ सकती है। इसी के साथ पारा चढ़ेगा आैर ठंड से थोड़ी निजात मिल सकती है। सोमवार को अधिकतम तापमान 26 डिग्री व न्यूनतम तापमान 6.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मंगलवार को न्यूनतम तापमान 5 डिग्री तक बढ़ सकता है। मौसम विभाग के अनुसार उत्तरी हवा के कारण नागपुर समेत विदर्भ में तीन दिन तक जबरदस्त ठंडी रही। ठंडी के साथ ही शीतलहर जैसी स्थिति रही, जिससे हर कोई गर्म कपड़े पहनने को मजबूर हो गया। साल के आखरी दिन ठंडी से थोड़ी राहत मिल सकती है। दक्षिणी हवा में नमी होती है। इससे आसमान में बादल बने रहेंगे। कुछ जगह हल्कि बारिश हो सकती है। आसमान में बादल छाए रहने से ठंड अपना असर नहीं दिखा सकेगी। 2-3 दिन तक इसीतरह की स्थिति रहेगी। 2-3 तीन थोड़ा-थोड़ा न्यूनतम तापमान बढेगा। नागपुर में कोहरे जैसी स्थिति रह सकती है। 2 जनवरी के बाद फिर से ठंड अपना असर दिखा सकती है।

शीतलहर ने बेदम कर दिया

उत्तरी हवा ने शहरवासियों को एकतरह से बेदम कर दिया। ठंड व शीतलहर से लोग कांप रहे है। गर्म कपड़े भी ठंडी से पूरीतरह निजात नहीं दे पा रहे है। 28 दिसंबर को न्यूनतम पारा 5.1, 29 को 5.3 व 30 दिसंबर को न्यूनतम तापमान 6.5 डिग्री रहा। लोग अलाव का सहारा ले रहे है। 2-3 दिन न्यूनतम तापमान जैसे-जैसे बढ़ेगा शहरवासियों को ठंडी से राहत मिलेगी।