comScore

चुनाव के पूर्व अलर्ट : एक और गिरोह के खिलाफ पुलिस ने मकोका के तहत कसा शिकंजा

चुनाव के पूर्व अलर्ट : एक और गिरोह के खिलाफ पुलिस ने मकोका के तहत कसा शिकंजा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। चुनाव के पूर्व पुलिस आयुक्त ने एक और गिरोह के खिलाफ मकोका कार्रवाई के तहत शिकंजा कसा है। गिरोह में एक नाबालिग भी शामिल है, जो बालसुधार गृह में है, जबकि गिरोह के चार सदस्यों के खिलाफ मकोका के तहत कार्रवाई की गई है। डेढ़ वर्ष के भीतर 38 अपराधिक तत्वों के खिलाफ एमपीडीए और 4 के खिलाफ मकोका के तहत कार्रवाई कर उनकी दहशत कम करने का प्रयास किया गया है। आरोपियों में गिरोह का सूत्रधार खुशाल उर्फ भट्टी उर्फ रिंकू प्रभाकर राजुरकर (26), अक्षय उर्फ रजत कमलेश फुसाटे (25), अक्षय रामटेके, सूर्यकांत उर्फ सुल्ली राजुरकर और एक नाबालिग ने कुछ महीने पहले सदर मंगलवारी बाजार में दोपहिया वाहन को लेकर हुए लेन-देन में सुभाष हरिश्चंद्र मोहर्ले की हत्या की थी। घटना के बाद आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया। अदालत के निर्देश पर नाबालिग को सुधारगृह और आरोपियों को जेल भेज दिया है। जांच के दौरान आरोपियों द्वारा संगठित होकर अपराधिक वारदातों को अंजाम देने का पता चला।

हत्या, चोरी, डकैती, लूटपाट, शस्त्र लेकर घूमना, लोगों में दहशत उत्पन्न करना आदि कुल 28 प्रकरण आरोपियाें के खिलाफ सदर, बर्डी, लकड़गंज, इमामवाड़ा, अजनी, सोनेगांव, जरीपटका, धंतोली, गिट्टीखदान, गणेशपेठ और ग्रामीण क्षेत्र में भी मामले दर्ज है। आरोपियों के परिसर में रहते हुए नागरिकों में हमेशा अपनी जान और माल को लेकर भय का माहौल देखा गया है। परिसर में अपराधिक तत्वों की दहशत होने से चुनाव में समय उनका इस्तेमाल किए जाने की आशंका बनी हुई थी। जिससे जोन क्र.2 की उपायुक्त विनिता शाहू के गिरोह के खिलाफ मकोका के तहत कार्रवाई करने का प्रस्ताव पुलिस आयुक्त डॉ.भूषणकुमार उपाध्याय के पास भेजा था। बुधवार को पुलिस आयुक्त ने प्रस्ताव पर मुहर लगाई। उल्लेखनीय है कि डेढ़ में कई अपराधिक तत्वों को जेल की हवा खिलाई गई है। जिसके चलते 38 अपराधिक तत्वों के खिलाफ एमपीड़ीए के और 4 गिरोह के खिलाफ मकोका के तहत कार्रवाई कर उन्हें जेल में बंद किया गया है। 

कमेंट करें
4dNkS