प्रशासक राज: प्रशासन की लापरवाही से राष्ट्रीय महामार्ग पर फैल रहा अतिक्रमण

February 27th, 2022

डिजिटल डेस्क, कामठी/कन्हान। नगर परिषद का पंचवर्षीय कार्यकाल समाप्त होकर प्रशासक राज शुरू हो गया है। इन पांच सालों में शहर में अतिक्रमण का जल फैल गया है। राजनीतिक पार्टीयों के दबाव से शहर के अतिक्रमण को लोगों ने पक्के निर्माण कार्य में बदल दिया है। इतना ही नहीं इन जगहों की संबंधित विभाग से मांग कर इस पर टैक्स भी लागू करवा लिया है। इन अतिक्रमण को कौन हटाएगा? यह सवाल नागरिकों द्वारा प्रशासन से किया जा रहा है।ज्ञात हो कि शहर से गुजरनेवाले राष्ट्रीय महामार्ग पर स्टेट बैंक से लेकर कमसरी बाजार तक के मार्ग के दोनों ओर अतिक्रमणकारियों ने अपना कब्जा कर रखा है। इनके हौसले इतने बुलंद है कि राष्ट्रीय महामार्ग पर ही अपनी दुकानों के सामान रख देते हैं। जिससे यह मार्ग संकरा हो गया है तथा दुर्घटनाएं होने का भय हमेशा बना रहता है। इन अतिक्रमणकारियों के पास जगह का मालिका हक भी नहीं है फिर से वे प्रशासन के आंखों में धूल झोंककर या फिर राजनीतिक शरण में अतिक्रमण को बढ़ावा दे रहे हैं। 12 फरवरी से नगर परिषद पर प्रशासक राज शुरू हो गया है। किसी भी राजनीतिक पार्टी का हस्तक्षेप नहीं होने से प्रशासक श्याम मदनूरकर ने मुख्याधिकारी संदीप बोरकर को अतिक्रमण पथक बनाकर शहर में फैले अतिक्रमण को हटाने की मुहिम शुरू करने की मांग सजग नागरिकों ने की हैं।