दैनिक भास्कर हिंदी: पुलिस की पिटाई से हुई किसान की मौत, एएसआई सहित 6 निलंबित

April 21st, 2020

डिजिटल डेस्क जबलपुर । गोराबाजार पुलिस द्वारा लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर तिलहरी गाँव के 50 वर्षीय किसान बंशी कुशवाहा को पुलिस ने बेरहमी से पीटा था। पुलिस की पिटाई में गंभीर रूप से घायल किसान को बीती रात सिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहाँ इलाज के दौरान सुबह उसकी मौत हो गयी। किसान की मौत को लेकर क्षेत्र में आक्रोश की स्थिति को देखते हुए एएसआई सहित आधा दर्जन सिपाहियों को सस्पेंड कर घटना की जाँच के आदेश दिए गये हैं। 
सूत्रों के अनुसार शनिवार को किसान बंशी कुशवाहा रात 9 बजे के करीब अपने खेत में बंधी गाय को चारा पानी देकर वापस घर लौट रहा था, तभी रास्ते में गोराबाजार थाने की पुलिस वेन व बाइकों पर सवार होकर पेट्रोलिंग के लिए निकली थी। रास्ते में उन्होंने किसान को रोका और लॉकडाउन के दौरान घूमने का कारण पूछा, इस बात को लेकर हुई बहसबाजी के बाद पुलिस कर्मियों ने डंडों से किसान की जमकर पिटाई कर दी। किसान के पूरे शरीर पर डंडों के  लाल पीले निशान उछल गये थे। इस बीच ग्रामीणों की भीड़ जमा होने पर पुलिस टीम ने किसान को छोड़ दिया था। 
रात में लेकर पहुँचे अस्पताल
 परिजनों ने बताया कि पुलिस की पिटाई से गंभीर रूप से घायल किसान को देर रात अस्पताल में भर्ती कराया गया था। चिकित्सकों के अनुसार पिटाई से किसान की गुदाद्वार की नली फटने से रक्तस्त्राव हो रहा था और अत्यधिक रक्तस्त्राव होने के कारण सुबह उसकी मौत हो गयी। 
मारपीट करने वालों पर गिरी गाज 
 सूत्रों के अनुसार इस घटना की जानकारी लगने पर एसपी अमित सिंह द्वारा तत्काल पेट्रोलिंग करने वाले एएसआई सहित आधा दर्जन सिपाहियों को सस्पेंड कर जाँच के आदेश दिए गए हैं। वहीं इस मामले में केंट टीआई को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इस मामले में एएसआई आलोक सिंह, हवलदार मुकेश पटारिया, आरक्षक राकेश सिंह, गुड्डू सिंह, ब्रजेश व आशुतोष को सस्पेंड कर दिया गया है। 
सीएसपी करेंगे घटना की जाँच 
 पुलिस की पिटाई से किसान की मौत के मामले की जाँच का जिम्मा केंट सीएसपी अखिल वर्मा को सौंपा गया है। वे 24 घंटे के अंदर पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट तैयार कर एसपी के समक्ष पेश करेंगे।
 

खबरें और भी हैं...