• Dainik Bhaskar Hindi
  • National
  • Fire broke out at gas well of Oil India Ltd at Baghjan in Tinsukia Assam some people died NDRF teams present Oil Well Fire

दैनिक भास्कर हिंदी: Fire in Assam: असम में तेल के कुएं में लगी भीषण आग अब गांवों तक फैली, दो लोगों की मौत, 6 घायल

June 10th, 2020

हाईलाइट

  • तिनसुकिया में ऑयल इंडिया के तेल के कुएं में आग
  • गांवों में भी फैली भीषण आग की लपटें, 2 की मौत

डिजिटल डेस्क, दिसपुर। असम के तिनसुकिया जिले में स्थित ऑयल इंडिया लिमिटेड (Oil India Ltd) के कुएं में गैस के रिसाव के कारण मंगलवार से लगी आग अब और विकराल होती जा रही है। भीषण आग की लपटें आसपास के गांवों में फैलती जा रही है। बुधवार को आग में झुलसने से दो लोगों की मौत भी हो गई। कई लोगों के घायल होने की खबर है। हालांकि नेशनल डिजास्टर रेस्पॉन्स फोर्स (एनडीआरएफ) की टीम घटनास्थल पर मौजूद है। आग बुझाने का काम भी लगातार जारी है। 

दो किमी दूर से दिखाई दे रहीं आग की लपटें
आग इतनी भीषण है कि इसकी लपटें दो किलोमीटर दूर से भी दिखाई दे रही हैं। अब तक ऑयल फील्ड के आसपास के कम से कम 30 मकान आग की चपेट में आ चुके हैं। एहतियात के तौर पर 1600 से अधिक परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है। आग बुझाने के लिए ऑयल इंडिया, ओएनजीसी के दमकल और तिनसुकिया व डिब्रूगढ़ जिले से फायर टेंडर की कई गाड़ियां मौके पर भेजी मौजूद हैं। जिला प्रशासन के आला अधिकारी भी घटनास्थल पर हैं। आग बुझाने के काम में वायुसेना की भी मदद ली जा रही है।


असम के सीएम सर्बानंद सोनोवाल ने कहा, आग को अब 50 मीटर के दायरे तक सीमित कर दिया गया है। विशेषज्ञों का मानना है, स्थिति को नियंत्रित करने के लिए उन्हें लगभग 25 से 28 दिन का समय लगेगा। हमने उस क्षेत्र से लोगों को सफलतापूर्वक निकाल लिया है। पीएम मोदी ने राज्य को पूर्ण सहायता का आश्वासन दिया है।

तेजी से गांवों की ओर बढ़ रही आग
असम के पर्यावरण एवं वन मंत्री परिमल सुखाबैद्य ने बताया, असम सरकार लगातार आग पर काबू पाने की पूरी कोशिश कर रही है लेकिन आग तेजी से गांवों की ओर बढ़ रही है। अब तक इस घटना में 6 लोग घायल हुए हैं।

गैस रिसाव पर काबू पाने की कोशिश जारी
जानकारी के मुताबिक, सिंगापुर की आपातकालीन प्रबंधन फर्म की एक विशेषज्ञ टीम गैस रिसाव पर काबू पाने की कोशिश कर रही है। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने मंगलवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से बात की थी, ताकि भारतीय वायु सेना की मदद से धधकती आग को रोका जा सके। सोनोवाल ने गैस रिसाव के मामले को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से भी बात की।

14 दिन से हो रहा है गैस रिसाव
बता दें कि, असम में गुवाहाटी से लगभग 550 किलोमीटर दूर तिनसुकिया के बागजान में ऑयल इंडिया लिमिटेड का तेल का कुआं है। यहां पिछले 14 दिनों से गैस का रिसाव हो रहा है। 27 मई को कुएं में गैस रिसाव होने के बाद से क्षेत्र में तैनात एनडीआरएफ की टीमें आग पर काबू पाने के लिए भरसक प्रयास कर रही हैं। असम के शीर्ष अधिकारी भी स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं, लेकिन इसी बीच मंगलवार को कुएं में आग लग गई। आग की बड़ी लपटें भी शुरू हो गईं, जो कि आस-पास के इलाकों में फैलती ही जा रही हैं।

प्रभावित परिवारों को 30 हजार रुपये की वित्तीय सहायता
इसकी वजह से क्षेत्र के वन्यजीवों को भारी नुकसान पहुंचा है। खड़ी फसलों के साथ-साथ तालाबों और आसपास के गांवों की खेती की जमीन भी बुरी तरह प्रभावित हुई है और हर दिन खतरा बढ़ता ही जा रहा है। क्षेत्र के कई छोटे चाय उत्पादकों ने भी उनके चाय बागानों तक गैस पहुंचने का दावा किया है। ऑयल इंडिया लिमिटेड (OIL) ने प्रभावित परिवारों में से प्रत्येक को 30,000 रुपये की वित्तीय सहायता देने की घोषणा की है। 

देखिए आग से धधकते असम की तस्वीरें...