दैनिक भास्कर हिंदी: दटके के पदग्रहण समारोह में आग, महिला कार्यकर्ता और मीडिया कर्मी भीड़ में फंसे

June 24th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गणेशपेठ स्थित मंगलम बिल्डिंग की पांचवीं मंजिल पर भाजपा कार्यालय के सभागृह में पदग्रहण समारोह कार्यक्रम आयोजित किया गया । इस दौरान सभागृह के स्वीच बोर्ड में आग लग गई। कार्यकर्ताओं में भगदड़ सी मच गई। कुछ महिला कार्यकर्ता और मीडियाकर्मी भीड़ में फंस गए। चर्चा है कि कुछ महिला कार्यकर्ता गिर पड़ीं। सभागृह में यह घटना जब हुई, तब विधायक सुधाकर देशमुख का भाषण चल रहा था। सभागृह के अंदर महिला व पुरुष कार्यकर्ता बड़ी संख्या में मौजूद थे। महिलाएं जिस जगह पर बैठी थीं, उसी जगह पर आग की यह घटना हुई। 

दो बार पटाखे फूटने की आई आवाज

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सभागृह के अंदर पहले दो बार फटाखा फूटने जैसी आवाज आई।  उसके बाद अचानक स्वीच बोर्ड में आग लग गई।  

महिला कार्यकर्ताओं में नाराजगी

महिला कार्यकर्ताओं का कहना था कि बाहर निकलने के लिए जगह बहुत संकरी थी। धक्का मुक्की के बीच जैसे-तैसे बाहर निकलीं। महिला कार्यकर्ताओं ने नाराजगी जताते हुए कहा कि उनकी सुरक्षा व्यवस्था का ध्यान रखा जाना चाहिए। 

मोबाइल की रोशनी में संबोधन 

आग लगने की घटना के बाद नवनियुक्त भाजपा शहर अध्यक्ष प्रवीण दटके ने इमारत से नीचे वाले भाग में मोबाइल की रोशनी में कार्यकर्ताओं काे संबोधित किया। उनका संबोधन समाप्त होने पर राष्ट्रगान के बाद कार्यक्रम के समापन की घोषणा की गई। आग लगने की खबर मिलने पर गणेशपेठ पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंची। दमकल कर्मियों ने भाजपा कार्यालय के सभागृह में जाकर घटनास्थल का निरीक्षण किया।

इधर फुके के समर्थकों ने तोड़ी एयरपोर्ट की रेलिंग

राज्यमंत्री बनने के बाद डॉ. परिणय फुके रविवार को पहली बार नागपुर पहुंचे। उनके स्वागत में एयरपोर्ट पर समर्थकों का हुजूम उमड़ पड़ा।  इस अति-उत्साह का खामियाजा नागपुर एयरपोर्ट प्रशासन और सरकार को भुगतना पड़ा।  मंत्री पद की शपथ लेने के बाद रविवार को उनका पहला नगरागमन था। टर्मिनल से बाहर आकर जबरदस्त भीड़ देख डॉ. फुके ने  अभिवादन स्वीकारना शुरू किया। इस दौरान कार्यकर्ता वन विभाग की एक गाड़ी पर खड़े हो गए। इस सरकारी कार की छत पिचक गई। अनेक कार्यकर्ता मंत्री के पास पहुंचने की जद्दोजहद में एयरपोर्ट पर लगी लोहे की  रेलिंग पर चढ़ गए। कार्यकर्ताओं के वजन से 3 रेलिंग टूट गई। कुछ कार्यकर्ता नीचे भी गिर गए।