दैनिक भास्कर हिंदी: क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर ताड़ोबा पहुंचे, प्रकृति-वन्यजीवों के प्रति रहा है लगाव

January 24th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। प्रकृति तथा वन्यजीवों के प्रति अपने लगाव के लिए जाने जानेवाले महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने शुक्रवार, को दुनिया भर में विख्यात बाघों के घर ताड़ोबा से भेंट की। वे नागपुर में सांसद खेल महोत्सव के लिए आए थे। जब-जब विदर्भ आए तब तब उन्होने इस तरह से अभयारण्य की सैर की है। बीते वर्ष उमरेड समीपस्थ करांडला में भी उन्होने बाघदर्शन किये थे। इस बीच ताड़ोबा को लेकर स्वयं सचिन ने कोई ट्विट नहीं किया परंतु शुक्रवार को राष्ट्रिय बेटी दिवस का औचित्य साध कर, बेटियां हमारा गौरव ऐसा ट्विट किया है। गौरतलब है कि बीते वर्ष उन्होने करांडला की तस्वीरें सांझा की थी। 

चंद्रपुर जिले का ताडोबा देश में ही नहीं दुनियाभर में बाघों के गारंटी दर्शन के लिए मशहुर है। यहां के बाघों ने कई लोगों को आकर्षित किया है। पर्यटक ही नहीं, अध्ययनकर्ता व वन्यजीवप्रेमियों को भी आकर्षित किया है। ऐसे में महान क्रिकेटर सचिन भी पीछे नहीं रहे। ताडोबा के बाघों की झलक देखने सचिन यहां पहुंचे है। बीते समय वे करांडला में बाघ दर्शन को गए थे। उन्हें बाघ भी दिखे थे। बताया जाता है कि वे कोलारा गेट से ताडोबा में पहुंचे। शुक्रवार को ताडोबा में उन्हे बाघ दिखे या नहीं, इसकी पुष्टि खबर भेजे जाने तक नहीं हुई थी। 

ताडोबा के ब्रैंड एम्बेसडर
सचिन तेंदुलकर को ताडोबा के ब्रैंड एम्बेसिडर बनने संबंधी प्रस्ताव तत्कालिन वनमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने दिया था। उनसे प्रत्यक्ष मिल कर उन्हें भेट वस्तु भी दी गयी थी। परंतु उसके बाद इस दिशा में कोई हलचलें नहीं हुई। इस बीच शुक्रवार, 24 जनवरी को ताडोबा पहुंचे तेंदुलकर के इस परिपे्रक्ष्य में किसी बयान या स्वागत के बारे में ताडोबा प्रबंधन से पूछा गया तब ऐसा कुछ भी न होने व इस प्रस्ताव की जानकारी न होने की बात कही गयी। उल्लेखनीय है कि विदर्भ का ताड़ोबा व्याघ्र प्रकल्प बाघों के लिए मशहूर है। कुल 625 चौ. किमी में फैले इस वन क्षेत्र में 116.55 चौ. किमी क्षेत्र ताड़ोबा अभयारण्य व 508.85 चौ. किमी क्षेत्र अंधारी अभयारण्य का है। यहां कुल चार बफर जोन है। प्रमुख क्षेत्र में 60 व बफर जोन में 15 बाघों की ऑन रिकॉर्ड मौजूदगी है। इसी के कारण यहां जंगल सफारी का आकर्षण सैलानियों को सबसे ज्यादा है। बता दें कि   क्रीड़ा महोत्सव में शामिल होने क्रिकेट जगत के भगवान माने जाने वाले क्रिक्रेटर सचिन तेंदुलकर नागपुर आये हैं। ऐसे में बाघों को देखने के शौकिन होने के कारण सचिन को ताड़ोबा घूमने का मोह रोक नहीं सका। जिसके चलते वे अपने कुछ साथियों के साथ मंगलवार की सुबह ताड़ोबा पहुंचे थे। दोपहर से उन्होंने जंगल सफारी का लुत्फ लिया। ऐसा नहीं है कि सचिन तेंदुलकर पहली बार विदर्भ के बाघों से रूबरू हो रहे हैं इससे पहले भी वे विदर्भ के उमरेड करांडला में आये हैं। जहां उन्होंने जमकर जंगल सफारी का मजा लिया था। इस बार उन्होंने बाघ के दर्शन के लिए ताड़ोबा जंगल की सैर शुरू की है।  

महाराजबाग पहुंचे गोपीकिशन बजोरिया
कृषि विद्यापीठ में जमीन संरक्षण सभा के लिए एमएलसी गोपीकिशन बजोरिया नागपुर पहुंचे। सभा के बाद सुबह उन्होंने महाराजबाग जू में उपस्थिति दिखाई। करीब डेढ़ घंटा वे परिसर में घूमे। वहीं उन्होंने यहां स्थाई अधिकारियों के साथ कर्मचारियों की व्यवस्था पर जोर दिया। इसके अलावा यहां लगनेवाली निधि की व्यवस्था करने पर भी सकारात्मक रवैया दिखाया है। वन्यजीवों की संख्या को भी आनेवाले समय में नियमाअंतर्गत कराने का विश्वास उन्होंने जताया है।

 

खबरें और भी हैं...