दैनिक भास्कर हिंदी: शराब बिक्री के विरोध में पूर्व आबकारी मंत्री, कहा-कोरोना के संक्रमण रहने तक शराब दुकान नहीं खुलने दें

April 26th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लाकडाउन के साथ ही शराब बिक्री पूरी तरह से बंद है। शराब की अवैध बिक्री व शराब के शौकीनों की परेशानियों के  बीच शराब दुकान को लेकर विविध प्रतिक्रियाएं भी सामने आने लगी है। ऐसे में राज्य के पूर्व आबकारी मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने कहा है कि किसी भी स्थिति में कोरोना संकट कायम रहने तक शराब बिक्री को अनुमति नहीं दिया जाना चाहिए। देश व राज्य में कोनोना संक्रमण शुरु है। संक्रमण थमने तक देशी विदेशी शराब पर बंदी कायम रखा जाना चाहिए। बावनकुले के अनुसार राज्य में वर्ष भर में 5 हजार करोड रुपये का शराब का व्यवसाय होता है। 2.75 लाख लीटर देसी शराब, 1.75 लाख लीटर विदेशी शराब  व 3 करोड लीटर बीयर की बिक्री होती है। शराब बिक्री शुरु रही तो लोगों के परिवार के पालनपोषण का रुपया शराब पर खर्च होगा।

शराब पीने वालों की भीड़ रहेगी। सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन नहीं हो पाएगा। रोजगार नहीं है,व्यवसाय बंद है, किसानों के पास कोई कमाई नहीं है ऐसे में शराब बिक्री शुरु रखना धोखादायक है। गौरतलब है कि अभिनेता ऋषिकपूर ने सुझाव दिया था कि नियमों का पालन कराते हुए शराब बिक्री शुरु रखना चाहिए। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने भी इस संबंध में बयान दिया था। यह तक कहा जा रहा था कि शराब का संबंध स्वास्थ्य से भी है। कई लोग कम मात्रा में शराब का सेवन दवा के तौर पर करते हैं। अल्कोहल नहीं मिलने से उन शौकीनों का स्वास्थ्य बिगड़ रहा है। फिलहाल राज्य सरकार ने इस संबंध में कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

खबरें और भी हैं...