दैनिक भास्कर हिंदी: मिट्‌टी ढहने से कुएं में चार मजदूर दबे, 1 की मौत

May 15th, 2018

डिजिटल डेस्क, भंडारा। जिले के लाखांदुर तहसील अंतर्गत ग्राम नांदेड स्थित एक खेत में जारी कुएं के निर्माण कार्य के तहत मिट्टी ढहने से एक मजदूर की मौत हो गई जबकि खेत मालिक समेत चार लोग घायल हो गए। इनमें से तीन की हालत गंभीर होने से उन्हें उपचार के लिए भंडारा के जिला रुग्णालय भेजा गया है। घटना मंगलवार की  है। मृतक का नाम कलमना निवासी आनंदराव सखाराम ढोरे है। घायलों में खेत मालिक जगदीश बवनकर(55), करांडला निवासी , मजदूर सुधाकर यशवंत टोंडरे(55), शंकर नानाजी शहारे(46), जागेश्वर खुशाल ठाकरे(55) शामिल हैं। 

रिंग डालते समय हुआ हादसा 
गौरतलब है कि इन दिनों सर्वत्र जल संकट की स्थिति बनी हुई है। ग्रामीण आंचल में किसानों द्वारा अपने खेतों में कुएं खुदवाने का कार्य किया जा रहा है।  लाखांदुर तहसील के ग्राम नांदेड निवासी जगदीश शीताराम बावनकर(55) द्वारा अपने खेत में कुएं के निर्माण का कार्य शुरू किया। यह कुआं जेसीबी की सहायता से करीब 15 से 20 फीट खोदा गया।  पानी लगने से मंगलवार की सुबह बावनकर द्वारा कुएं के भीतर सीमेंट रिंग डालने का कार्य शुरू किया गया। कुएं में नीचे की एक सीमेंट रिंग डाली गई, इस समय कुएं के भीतर जगदीश बावनकर के साथ मजदूर आनंदराव ढोरे, करांडला निवासी सुधाकर टोंडरे, शंकर शहारे, जागेश्वर ठाकरे  भी काम कर रहे थे। 

मिट्‌टी खिसकने से दब गए सभी मजदूर 
एक सीमेंट रिंग का कार्य पूर्ण होने पर दूसरे का कार्य शुरू ही हुआ था कि अचानक कुएं के उपरी हिस्से की मिट्टी खिसकने लगी और कुएं के भीतर जा गिरी। जिससे कुएं के भीतर काम कर रहे पाचों लोग मिट्टी के नीचे दब गए यह देख कुएं पर काम कर रहे अन्य मजदूरों व खेत के आस पास के नागरिकों ने तत्काल मिट्टी निकालते हुए पाचों को बाहर निकाला किंतु आनंदराव ढोरे की मिट्टी के नीचे दबने तथा दम घुटने से घटनास्थल पर ही मौत हो चुकी थी । अन्य घायलों को गंभीर अवस्था में लाखांदुर के ग्रामीण अस्पताल पहुंचाया गया। जहां जगदीश बावनकर को तो खतरे से बाहर बताया गया किंतु सुदाकर टोंडरे, शंकर शहारे तथा जागेश्वर ठाकरे की स्थिति नाजुक बनी हुई है।  तीनों को भंडारा के जिला शासकीय रुग्णालय रवाना किया गया है  जहां तीनों पर उपचार जारी है। मामले की जांच जारी है।