comScore

महाराष्ट्र में मिले चार नए मरीज, पीड़ितों की संख्या 52 तक पहुंची, दुनियाभर से 26 हजार भारतीय पहुंचेगे मुंबई

महाराष्ट्र में मिले चार नए मरीज, पीड़ितों की संख्या 52 तक पहुंची, दुनियाभर से 26 हजार भारतीय पहुंचेगे मुंबई

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 52 हो गई है। इसमें से एक मरीज की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को राज्य में 4 नए मरीज मिले हैं। मुंबई में 2, पुणे में 1 और पिंपरी-चिंचवड में 1 नया मरीज मिला है। शुक्रवार को प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि अस्पतालों में भर्ती 41 लोगों में कोरोना वायरस के कोई लक्षण नहीं हैं। जबकि 8 लोगों में सौम्य लक्षण पाए गए हैं। वहीं मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती 2 लोगों की हालत गंभीर है। टोपे ने कहा कि कोरोना वायरस के जिन मरीजों ने 14 दिन का क्वारंटाइन पूरा किया है, उनकी दोबारा जांच में रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें घर जाने की अनुमति दी जाएगी। अस्पताल में भर्ती 5 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इन लोगों को जल्द ही घर जाने की व्यवस्था की जाएगी। 

विदेश यात्रा से लौटे हैं ये नए मरीज 

टोपे ने बताया कि शुक्रवार को कोरोना वायरस पीड़ित मुंबई में मिले एक 38 वर्षीय युवक ने हाल ही में तुर्किस्तान की यात्रा की थी जबकि दूसरे 62 वर्षीय व्यक्ति इंग्लैंड से लौटे हैं। पुणे में मिले 20 साल के युवक ने स्कॉटलैंड की यात्रा की है। फिलीपींस और सिंगापुर से लौटे पिंपरी-चिंचवड निवासी 22 वर्षीय युवक का भाई भी अब कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है। जबकि यह युवक पहले से ही कोरोना ग्रसित है। 

होम कोरेंटाईन मरीजों के लिए सार्वजनिक परिवहन सेवा नहीं 

टोपे ने कहा कि जिन लोगों के हाथ पर होम क्वारंटाइन का स्टांप है। अगर ऐसे लोग सार्वजनिक स्थलों पर पाए गए तो उनको सरकारी परिवहन सेवा से नहीं ले जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए जाएंगे। क्योंकि सरकारी परिवहन सेवा में बैठे दूसरे यात्रियों के मन में डर पैदा हो जाता है। 

तो दो दिन में बंद करनी पड़ेगी लोकल ट्रेन सेवा

टोपे ने कहा कि मुंबई में सभी दुकानें और कार्यालय बंद रहेंगे तो लोकल ट्रेनों में भीड़ नहीं होगी। फिर भी अगर लोकल ट्रेनों में अगले कुछ दिनों तक भीड़ नजर आई तो अगले दो दिनों में लोकल ट्रेन सेवा को बंद करना पड़ेगा। सरकार को यह फैसला मजबूरी में करना पड़ेगा। टोपे ने कहा कि केंद्र सरकार के जो कार्यालय महाराष्ट्र में हैं। उन कार्यालयों में भी केवल 25 प्रतिशत कर्मचारियों को बुलाने का राज्य सरकार के फैसले का पालन करना पड़ेगा। टोपे ने कहा कि मुंबई, नागपुर, पुणे और पिपंरी-चिंचवड में सभी दुकानें और निजी कार्यालयों को 21 मार्च से बंद किया जाएगा। इसका मतलब है कि लोगों को अपने घरों में रहना चाहिए। टोपे ने कहा कि नागरिकों को घबराने की जरूरत नहीं है। यदि दुर्भाग्य से किसी को कोरोना वायरस का संक्रमण हुआ तो यह ठीक होने वाली बीमारी है। इसलिए किसी को डरने की जरूरत नहीं है। 

कहां पर कितने मरीज 

पिंपरी- चिंचवड मनपा में 12, पुणे मनपा में 9, मुंबई में 11 (1 मृत), नागपुर में 4, यवतमाल में 3, नई मुंबई में 3, कल्याण में 3, अहमदनगर में 2, रायगड में 1, ठाणे में 1, उल्हासनगर में 1, औरंगाबाद में 1 और रत्नागिरी में 1 मरीज सहित कुल 52 कोरोना पॉजिटिव हैं। 


दुनियाभर से 26 हजार भारतीय पहुंचेगे मुंबई, बीएमसी करेंगी कोरेंटाईन की व्यवस्था 

कोरोना के संकट से निपटने में जुटे प्रशासन के लिए आने वाले कुछ दिन और चुनौतीपूर्ण होंगे क्योंकि विदेश में फंसे करीब 26 हजार भारतीयों को 31 मार्च से पहले मुंबई लाया जाएगा। मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) इन लोगों को 14 दिन एकांतवास (कोरेंटाईन) में रखने की व्यवस्था करेगी। देश में फिलहाल कोरोना के सबसे ज्यादा पॉजिटिव मामले महाराष्ट्र में ही है और बीमारी को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने कई अहम कदम उठाए हैं। अब विदेश से लाए जाने वाले लोगों के लिए मुंबई महानगर पालिका ने विशेष तैयारी शुरू कर दी है। इन लोगों के लिए कोरेंटाईन केंद्र बनाए गए हैं। महानगर पालिका के साथ निजी अस्पतालों में भी कोरेंटाईन केंद्र बनाए गए हैं। अंधेरी के सेवन हिल अस्पताल में बिस्तरों की संख्या 300 से बढ़ाकर 1 हजार कर दी गई। पवई इलाके में इंजीनियरों की ट्रेनिंग के लिए बनाए गए केंद्र को भी कोरेंटाईन केंद्र बनाया जाएगा। इमारत में स्थित कांफ्रेंस रूम में 100 बेड तैयार किए जाएंगे। इमारत की दूसरी जगहों में भी यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था की जाएगी। उपमुख्य कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दक्षा शाह ने बताया कि मनपा व निजी अस्पतालों के अलावा होटलों और रेलवे अस्पतालों में भी कोरेंटाईन की व्यवस्था की जा रही है।    


सरकारी कार्यालयों में न हो एसी का इस्तेमाल, घरों में भी कम इस्तेमाल की अपील 

कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए सभी सरकारी कार्यालयों में एसी का इस्तेमाल टालने का निर्देश दिया गया है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रदीप व्यास ने सभी सरकारी  विभागों को यह सूचना दी है। दरअसल वातानूकुलित कक्ष (एसी) में विषाणू ज्यादा समय तक जीवित रहते हैं। इस लिए एसी का इस्तेमाल न करने को कहा गया है। कोरोना के विषाणू छिंकने और खांसने से फैलते हैं। ये विषानू धुलकण के साथ चीजों के पिछले हिस्से में रहते हैं। कम तापमान वाली जगहों पर ये अधिक समय तक रहते हैं। कोरोना को लेकर केंद्र सरकार द्वारा जारी मार्गदर्शन सूचना में एसी का कम इस्तेमाल करने को कहा गया है। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी परिपत्र में कहा गया है कि सभी विभाग प्रमुख अपने कर्मचारियों को यह बात बताए। परिपत्र में कहा गया है कि सरकारी कार्यालयों के अलावा निजी कार्यालयों और लोगों को अपने घरों में भी एसी का इस्तेमाल कम करना चाहिए।   

नागपुर के क्वारंटाइन सेंटर से 9 को घर भेजा, एक मेयो में भर्ती

उधर नागपुर के क्वारंटाइन सेंटर से 9 लोगों को घर भेज दिया गया, जबकि एक व्यक्ति को इलाज के लिए मेयो अस्पताल में भर्ती किया गया। क्वारंटाइन सेंटर में 39 लोगों को रखा गया है। क्वारंटाइन किए गए लोगों को घर के भोजन की भी सुविधा दी गई है। विदेश से लौटे हर व्यक्ति को क्वारंटाइन करना है। विधायक निवास के क्वारंटाइन सेंटर में गुरुवार शाम को 34 लोग थे। रात को एक व्यक्ति को आैर क्वारंटाइन किया गया। शुक्रवार को विदेश से नागपुर लौटे 14 आैर लोगों को क्वारंटाइन किया गया। कुल 49 लोगों में से शुक्रवार को 9 को घर भेज दिया गया। अब ये लोग 12 दिनों तक घर में ही क्वारंटाइन रहेंगे। खांसी की शिकायत के बाद एक व्यक्ति को मेयो अस्पताल में भर्ती किया गया। अब क्वारंटाइन सेंटर में 39 लोग हैं। क्वारंटाइन किए गए लाेगों को वैसे तो सारी सुविधा प्रशासन की तरफ से मुफ्त दी जा रही है, लेकिन अगर कोई घर का भोजन करना चाहे तो कर सकते है। अधिकांश लोगों के परिजन यहां भोजन लेकर पहुंच रहे है। भोजन का डिब्बा पहुंचने के बाद संबंधित व्यक्ति को नीचे बुलाकर डिब्बा दिया जाता है। परिजनों से बातचीत भी की जा सकती है। दोनों मास्क पहनकर व तय दूरी रखकर बात कर सकते है। 

विदेश से आए व्यक्ति को देर रात एमएलए हॉस्टल में रखेंगे

पिछले दिनों विदेश से नागपुर लौटे मानेवाड़ा निवासी एक व्यक्ति को 14 दिन के िलए घर पर क्वारंटीन होने की सलाह दी गई थी लेकिन खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वह पिछले कुछ दिनों से लगातार बाहर घूम रहा है। इस पर शिकंजा कसने के िलए शुक्रवार की रात को योजना बनाकर उसे पकड़ने की तैयारी कर ली है। इसके बाद उसे एमएलए हॉस्टल में रखा जाएगा। जानकारी के अनुसार एक व्यक्ति पिछले दिनों विदेश से लौटा था। नियमानुसार उसे 14 दिन तक घर में रहने की सलाह दी गई लेकिन उक्त व्यक्ति घर पर नहीं रह रहा है। खुफिया विभाग ने लगातार उस पर अपनी नजर बनाए हुए था।  एक बार से अधिक घर से बाहर निकलकर घूमते दिखाई देने पर मामले की शिकायत प्रशासन को की गई। उक्त व्यक्ति को देर रात घर से उठाकर एमएलए हॉस्टल में बने क्वारंटीन रखने की तैयारी कर ली गई है।

कमेंट करें
NJgxz