दैनिक भास्कर हिंदी: विकास कार्य में फर्जीवाड़ा, 10 करोड़ से बनी सीमेंट सड़क दो माह में उखड़ी

August 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, हिंगना(नागपुर)। हिंगना तहसील की वानाडोंगरी ग्राम पंचायत भ्रष्टाचार के मामलों को लेकर चर्चा में है। 10 करोड़ से बनी सीमेंट सड़क दो माह में ही उखड़ने से सवाल उठने लगे हैं। बता दें कि विधायक समीर मेघे के प्रयास से 26 अक्टूबर 2016 को वानाडोंगरी, नगर परिषद का दर्जा प्राप्त हुआ। नप बनते ही नगर विकास मंत्रालय द्वारा नए से स्थापन नगर परिषद अंतर्गत 8 करोड 95 लाख का निधि क्षेत्र में विकास के लिए प्राप्त हुआ। साथ ही नगराध्यक्ष के तहत 76 लाख और दलितोत्तर योजना के तहत 50 लाख रुपए, ऐसे कुल 10 करोड़ 21 लाख रुपए का निधि वानाडोंगरी नपा को प्राप्त हो चुका है। कुल 10 करोड़ 21 लाख की निधि में से 8 करोड़ 74 लाख रुपए निधि के विकास कार्य प्रगति पथ पर है, लेकिन इन विकास कार्यों में ठेकेदार द्वारा बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं। 

घरों में घुस रहा बारिश का पानी
वानाडोंगरी नपा अंतर्गत प्रभाग 9 में वैभवनगर से हनुमाननगर तक बनाए गई 50 लाख की सीमेंट सड़क अभी से उखड़ने लगी हैं। हिंगना मुख्य मार्ग से वैभवनगर जाते वक्त एक हार्डवेअर दुकान के सामने उखड़ी हुई सीमेंट रोड को साफ देखा जा सकता है। इस रास्ते का निर्माण एक लेवल में भी नहीं हुआ है। पुराने रास्ते की खुदाई कर लेवल मिलाए बगैर ही सीमेंट रोड का निर्माण किया गया। इससे रास्ते किनारे रहने वालों के घरों में बारिश का पानी घुस रहा है। इस रास्ते का निर्माण कार्य श्री साईं कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा किया जा रहा है। 8 करोड़ 74 लाख में से 2 करोड़ 39 लाख के काम इस श्री साईं कंंस्ट्रक्शन कंपनी को मिले हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, अन्य कंपनी के नाम पर भी श्री साईं कंस्ट्रक्शन कंपनी काम लेकर विकास कार्य कर रही है। इसके संचालक एस.के. अरोरा हैं। 

8 करोड़ 74 लाख में 77 काम
वानाडोंगरी नप में चल रहे 8 करोड़ 74 लाख रुपए निधि के विकास कार्यों में से 3 करोड़ 50 लाख के काम पूरे हो चुके हैं। इसमें 50 लाख रुपए का काम वैभवनगर से हनुमाननगर सीमेंट रोड के रूप में हुआ है।पहले चरण में 7 करोड़ 54 लाख रुपए का टेंडर हुआ था। इसमें 68 सीमेंट रोड, नाली और खड़ीकरण रास्तों का समावेश है। दूसरे चरण में 1 करोड़ 20 लाख रुपए का टेंडर हुआ।  इसमें 11 सीमेंट रोड, नाली, खड़ीकरण का काम शामिल। कुल 8 करोड़ 74 लाख में 77 काम शुरू हैं। 

शिकायत करने की नहीं किसी में हिम्मत
पहले चरण में श्री साईं कंट्रक्शन द्वारा बनाए गए 50 लाख रुपए के सीमेंट सड़क के निर्माण कार्य में भ्रष्टाचार की चर्चा रही। लिहाजा, दूसरे चरण के काम में भी अंदेशा जताई जा रही है।  देख-रेख के लिए निजी कंसल्टेंट एजेंसी नियुक्त की गई थी। ठेकेदार द्वारा कंसल्टेंसी एजेंसी और अधिकारियों की मिलीभगत से इस भ्रष्टाचार को अंजाम देने की बात कही जा रही है। हिस्सा ऊपर से नीचे तक बंटा हुआ है, इसलिए कोई शिकायत नहीं करता। 

खुदाई पर शक
रोड की खुदाई कर लेवल मिलाए बगैर ही उस पर ही सीमेंट रोड डाला गया है। रोड करीब 2 फीट ऊंचा हो गया है। घरों में बारिश का पानी घुस रहा है। पूरा रोड एक लेवल में नहीं है। 
(वी.एम. ठाकुर, वैभवनगर)

जांच होगी

मैं अभी वानाडोंगरी नपा में नया हूं। मेरे आने के पहले ही सभी कामों के टेंडर हो चुके थे। वैभवनगर से हनुमाननगर तथा अन्य रास्तों की जांच  करवाकर कार्रवाई की जाएगी।
(प्रवीण मानकर, मुख्याधिकारी, नप वानाडोंगरी) 

निरीक्षण करेंगे

तत्काल संबंधित सभी कामों का निरीक्षण कर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
(एस.बी. मुलकलवार, अभियंता)