दैनिक भास्कर हिंदी: पाबंदियों के साथ बढ़ रहा फर्जीवाड़ा, बगैर जांच कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट देने वाले गिरफ्तार 

April 20th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। राज्य में कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए कई राज्यों ने कोविड की निगेटिव रिपोर्ट देखनी शुरू कर दी है लेकिन इसका इस्तेमाल कुछ लोग ठगी के लिए कर रहे हैं। मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने दो ऐसे आरोपियों को गिरफ्तार किया है जो ज्यादा पैसे लेकर बिना किसी जांच के कोरोना संक्रमण के निगेटिव रिपोर्ट दे देते थे। आरोपी बिना मुलाकात किए वाट्सएप के जरिए रिपोर्ट भेजकर गूगल पे के जरिए पैसे ले रहे थे।गिरफ्तार आरोपियों के नाम बिलाल शेख और राशिद शेख हैं। अपराध शाखा ने गुप्त सूचना के बाद जोगेश्वरी इलाके में रहने वाले आरोपियों से फर्जी ग्राहक के जरिए संपर्क किया और जब आरोपियों पैसे लेकर बिना जांच के रिपोर्ट वाट्सएप कर दी, तो उन्हें जाल बिछाकर दबोच लिया गया। आरोपी लाइफ केयर डायग्नोस्टिक्स और केआरएसएनएए डायग्नोस्टिक्स के नाम पर फर्जी निगेटिव रिपोर्ट दे रहे थे। पुलिस ने जांच में पाया कि आरोपियों ने अपने मोबाइल और लैपटॉप में साफ्टवेयर की मदद से फर्जी रिपोर्ट तैयार की थी।

सीनियर इंस्पेक्टर किरण लोंढे के मुताबिक राशिद ग्राहक खोजता था, जबकि बिलाल फर्जी रिपोर्ट तैयार करता था। आरोपी निगेटिव रिपोर्ट के लिए 800 से एक हजार रुपए तक लेते थे। पुलिस इस बात की छानबीन कर रही है कि आरोपियों ने अब तक कितने लोगों को फर्जी निगेटिव रिपोर्ट दी है। मेघवाडी पुलिस स्टेशन में आरोपियों के खिलाफ ठगी और धोखाधड़ी के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। आरोपियों के मोबाइल फोन और लैपटॉप भी जब्त कर लिए गए हैं। इससे पहले भी मुंबई और मीरारोड में फर्जी तरीके से बिना जांच के लोगों को निगेटिव रिपोर्ट देने के मामले पकड़े जा चुके हैं।  

    

खबरें और भी हैं...