comScore

संतोष आंबेकर पर दुष्कर्म का मामला, मदद के नाम पर करता था ब्लैकमेल

October 19th, 2019 16:05 IST
संतोष आंबेकर पर दुष्कर्म का मामला, मदद के नाम पर करता था ब्लैकमेल

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर के बदमाश संतोष आंबेकर पर लकडगंज थाने में एक महिला चिकित्सक से दुष्कर्म किए जाने का मामला भी सामने आया है। आरोपी संतोष आंबेकर पर दुष्कर्म करने का मामला भी दर्ज कर लिया गया है। लकडगंज के वरिष्ठ थानेदार पिदुरकर के आदेश पर थाने के उपनिरीक्षक इंगोले ने धारा 354 (ए), 354 (डी), 376 (2) (एन), 506(ब) व सहधारा 12 पाक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। पीडिता का आरोप है कि आरोपी आंबेकर के बेटे की वह मित्र है। आंबेकर के यहां उसका आना- जाना था। आंबेकर ने उसे मदद करने के बहाने अपने जाल में फंसाकर उसका शोषण करता रहा। करीब 8 साल से वह पीड़िता की मदद के नाम पर परेशान कर शोषण करता आ रहा है।

पीडिता का आरोप है कि जब वह मेडिकल की पढाई कर रही थी तब भी आरोपी आंबेकर ने उसे मुंबई और बंगलुरू में ले जाकर कई बार शारीरिक संबंध बनाया। आंबेकर की आपराधिक छवि के कारण वह खामोश रही। बता दें कि संतोष आंबेकर द्वारा गुजरात के दो व्यापारियों से करोड़ों की ठगी करने का मामला अभी पूरी तरह शांत भी नहीं हुआ  कि आंबेकर पर दुष्कर्म किए जाने का मामला भी दर्ज किया गया है। आंबेकर के गिरफ्तार होने के बाद अब पीड़ितों ने हिम्मत जुटाई है। वह आंबेकर के खिलाफ शिकायतें करने सामने आ रहे हैं। पुलिस ने भी आह्वान किया है कि पीडित उसके खिलाफ शिकायत करने आगे आएं।

पुलिस सूत्रों के अनुसार एक 23 वर्षीय महिला चिकित्सक की शिकायत पर लकडगंज थाने में संतोष आंबेकर पर दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है। आरोपी आंबेकर पर आरोप है कि उसने पीडिता के साथ मार्च 2011 से 11 अक्टूबर 2019 के दरमियान कई बार बाहर ले गया। वह उसे ब्लैकमेल करके बाहर ले जाता था। पीडिता का यह भी आरोप है िक आरोपी संतोष आंबेकर उससे लगातार फोन कर उससे असभ्य तरीके से बातचीत करता था। उसे रास्ते से जाते समय भी विचित्र इशारे कर बातचीत करने का प्रयास किया करता था। आरोपी संतोष आंबेकर पर पीड़िता ने आरोप लगाया है कि वर्ष 2015 में अलग- अलग बहाने से घर और कार्यालय में बुलाता था। वह अपने कार्यालय के ऊपरी मंजिल पर बने कमरे , मुंबई स्थित घाटकोपर परिसर में होटल व बंगलुरू में अमन वन नामक रिसोर्ट में लेकर जाता था।

बदनाम करने की देता था धमकी

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि आरोपी संतोष आंबेकर के बेटे की वह मित्र थी। वह मेडिकल की पढ़ाई करती थी। इस दौरान संतोष ने उसकी कई बार मदद की। वर्ष 2015 में संतोष ने पीडिता को महंगे गिफ्ट दिए और पैसे की मदद कर उसे अपने प्रेमजाल में फंसाया। जब पीड़िता को उसने अपने चंगुल में फांस लिया तब कई बार उससे जबरन संबंध बनाया। घटना के बारे में किसी को कुछ बताने पर संतोष ने उसे बदनाम करने की धमकी देने लगा। बाद में वह उसे धमका कर बाहर ले जाने लगा। उसने पीडिता के साथ जबरन संबंध बनाये और उसे परेशान करता रहा। वह उसे अपने साथ मुंबई और गोवा भी कई बार ले जा चुका है। पुलिस मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

कमेंट करें
LBv6N