comScore

नवरात्र में गरबा-डांडिया पर रहेगी रोक, रावण दहन के लिए करना होगा नियमों का पालन

नवरात्र में गरबा-डांडिया पर रहेगी रोक, रावण दहन के लिए करना होगा नियमों का पालन

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना महामारी की मार इस बार नवरात्रि उत्सव पर भी पड़ी है। राज्य में नवरात्रि उत्सव के दौरान गरबा, डांडिया और अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन नहीं किया जा सकेगा। इसके ऐवज में प्रदेश सरकार ने रक्तदान शिविर जैसे उपक्रम आयोजित करने की अपील की है। मंगलवार को राज्य सरकार के गृह विभाग ने सार्वजनिक नवरात्रोत्सव के संबंध में दिशानिर्देश जारी किया है। राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने 17 अक्टूबर से शुरू होने वाले नवरात्रोत्सव, दुर्गापूजा और दशहरा के त्यौहार को सादगी से मनाने का आह्वान किया है। नवरात्रोत्सव में सार्वजनिक मंडलों में देवी की मूर्ति की ऊंचाई चार फीट तक सीमित रखनी होगी। जबकि घरेलू देवी की मूर्ति की ऊंचाई दो फीट तक रखी जा सकेगी। देवी के दर्शन की सुविधा ऑनलाईन, केबल नेटवर्क, वेबसाइट और फेसबुक आदि माध्यमों पर उपलब्ध करना होगा।  

धातु-संगमरमर की मूर्ति से करें पूजन 

सरकार ने इस साल मिट्टी की देवीमूर्ति की बजाय धातु, संगमरमर की मूर्ति के पूजन का आग्रह किया है। मूर्ति पर्यावरण पूरक होने पर विसर्जन घर पर करने का आह्वान किया गया है। विसर्जन घर पर संभव नहीं होने पर कृत्रिम विसर्जन स्थल पर विसर्जन करने के लिए संबंधित स्थानिक प्रशासन से समन्वय रखना पड़ेगा। सार्वजनिक नवरात्रोत्सव के लिए मंडलों को संबंधित मनपा और स्थानीय प्रशासन की नीति के अनुसार पूर्व अनुमति लेना आवश्यक होगा। कोरोना की स्थिति, अदालत के आदेश, मनपा और संबंधित स्थानीय प्रशासन की नीति के अनुसार मंडप बनाना होगा। इस साल नवरात्रि उत्सव सादगी से मनाने की अपेक्षा होने से घरेलू और सार्वजनिकदेवी मूर्ति की सजावट उसी आधार पर करना होगी। आरती, भजन, कीर्तन और अन्य धार्मिक कार्यक्रम आयोजित करते समय यह सुनिश्चित करना होगा कि भीड़ न हो। साथ ही ध्वनि प्रदूषण संबंधी नियमों का पालन करना होगा। मंडप में सेनिटेशन और थर्मल स्क्रीनिंग की पर्याप्त व्यवस्था करनी होगी। दर्शन के लिए इच्छुक भक्तों को शारीरिक दूरी और मास्क, सैनिटायजर के इस्तेमाल आदि नियमों का पालन करना होगा। देवी का आगमन व विसर्जन पर जुलूस नहीं निकाला जा सकेगा। मंडप में एक समय में पांच से अधिक कार्यकर्ता उपस्थित नहीं रह सकेंगे। मंडप में खाद्यपदार्थ अथवा पेयजल की व्यवस्था नहीं की जा सकेगी। नवरात्रोत्सव के लिए दानदाताओं से दान स्वीकारा जा सकेगा। दान के पैसों के जरिए स्वास्थ्य और सामाजिक संदेश देने वाले विज्ञापन लगाने के लिए प्रयास करने को कहा गया है। सरकार की "मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ अभियान के बारे में जनजागृति करनी होगी। 

रावण दहन के लिए करना होगा नियमों का पालन

दशहरा के दिन रावण दहन का कार्यक्रम सभी नियमों का पालन करते हुए प्रतीकात्मक स्वरूप में करना होगा। रावण दहन के लिए कम से कम व्यक्तियों की बुलाना होगा। रावण दहन का फेसबुक समेत सोशल मीडिया पर लाइव प्रसारण किया जा सकेगा। 

कमेंट करें
JYWME