दैनिक भास्कर हिंदी: 16 से राशन दुकानों में मिलेंगे गैस कनेक्शन के फार्म

July 13th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। धुआं मुक्त महाराष्ट्र अभियान के तहत शहर के सभी राशन दुकानों में मगंलवार 16 जुलाई से उपभोक्ताओं को नए गैस कनेक्शन के प्रोफार्म दिए जाएंगे। उपभोक्ता को आधार कार्ड, राशन कार्ड व पासबुक की फोटो कापी के साथ प्रोफार्म भरकर राशन दुकान में जमा करना होगा। इसके साथ उपभोक्ता को दो फोटो भी देने होंगे। जिले में कुल 1 लाख 10 हजार गैस कनेक्शन बांटे जाएंगे, जिसमें से 56228 गैस कनेक्शन शहर में बांटे जाएंगे। शहर में जिन उपभोक्ताओं के पास गैस कनेक्शन नहीं है, ऐसे लोगों की मैपिंग का काम खाद्यान्न विभाग की तरफ से पहले ही किया गया है। खाद्यान्न विभाग के पास ऐसे लोगों की सूची उपलब्ध है और शहर के सभी 667 राशन दुकानों से गैस कनेक्शन के लिए मुफ्त में प्रोफार्म बांटे जाएंगे।

उपभोक्ता को ये प्रोफार्म भरकर राशन दुकान में जमा करना है। इसके साथ परिवार के सभी सदस्य के आधार कार्ड, राशन कार्ड व बैंक पास बुक की फोटो कापी लगानी है। प्रोफार्म में 16 मुद्दों पर जानकारी मांगी गई है, जो केवायसी के लिए जरूरी है। इसमें उपभोक्ता को अपना मोबाइल नंबर लिखना अनिवार्य है। खाद्यान्न विभाग की तरफ से ये फार्म जरूरी दस्तावेजों के साथ गैस एजेंसियों में भेजे जाएंगे। गैस एजेंसी अगर उपलब्ध जानकारी से संतुष्ट है, तो संबंधित को 7 दिन में गैस कनेक्शन दिया जाएगा। अगर संतुष्ट नहीं हैं तो गैस एजेंसी खाद्यान्न विभाग को प्रोफार्म वापस भेजकर इसमें जरूरी जानकारी उपलब्ध करने को कहेगी। खाद्यान्न विभाग संबंधित व्यक्ति से जरूरी जानकारी प्राप्त कर प्रोफार्म पुन: गैस एजेंसी को भेजेगी।
 
100 रुपए में उपलब्ध हो सकेगा कनेक्शन
राशन दुकान से प्रोफार्म मुफ्त मिलेगा और कनेक्शन महज 100 रुपए में उपलब्ध किया जाएगा। उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन के लिए जितना खर्च आता है, उतना ही खर्च इसमें भी आएगा। बाकी की राशि उपभोक्ता के सब्सिडी से काटी जाएगी। अगर कोई उपभोक्ता एक साथ लगभग 16 सौ रुपए भरने को तैयार हैं तो गैस एजेंसी में जमा कर सकता है। 

राशन कार्ड नहीं है तो भी भर सकते हैं फार्म
जिस परिवार के पास राशन कार्ड नहीं है और गैस कनेक्शन भी नहीं है, ऐसे लोग खाद्यान्न विभाग के पास पहुंच सकते हैं। विभाग जांच पड़ताल के बाद इन परिवारों को राशन कार्ड देगा और इसके बाद ये लोग राशन दुकान से प्रोफार्म प्राप्त कर सकते है। इन्हें भी धुआं मुक्त अभियान का लाभ मिलेगा।
 
जिले को धुआं मुक्त करना हैं
शहर व ग्रामीण में जिन परिवारों के पास गैस कनेक्शन नहीं है, ऐसे परिवारों की सूची खाद्यान्न विभाग के पास उपलब्ध है। इन परिवारों को गैस कनेक्शन देकर जिले (शहर व ग्रामीण) को धुआं मुक्त करना है। एक महीने में 1 लाख 10 हजार कनेक्शन बांटने का लक्ष्य है और इसके बाद राशन कार्ड पर मिलनेवाला केरोसीन पूरी तरह बंद करना है। केरोसीन का कोटा जीरो करना है। धुएं से होनेवाली हानि से परिवारों को बचाना है।
 -लीलाधर वार्डेकर, खाद्यान्न आपूर्ति अधिकारी नागपुर.  

खबरें और भी हैं...