तेल कंपनियों की जेब भर रही सरकार, ऐन चुनाव के वक्त कम होगी कीमत : विखेपाटील

Government filling pockets of oil companies, But time of election price will decrease
तेल कंपनियों की जेब भर रही सरकार, ऐन चुनाव के वक्त कम होगी कीमत : विखेपाटील
तेल कंपनियों की जेब भर रही सरकार, ऐन चुनाव के वक्त कम होगी कीमत : विखेपाटील

डिजिटल डेस्क, मुंबई। विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण पाटील ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार आगामी चार राज्यों के विधानसभा चुनावों से पहले पेट्रोल और डीजल कंपनियों की जेब भर रही है। जिससे ऐन चुनाव के वक्त कीमतों में थोड़ी कमी कर जनता को खुश करने की कोशिश की जा सके। विखेपाटिल ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के लिए सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि इस साल दिसंबर में राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में विधानसभा चुनाव हैं। सरकार को डर है कि चुनाव वक्त पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई तो जनता नाराज हो जाएगी। इस लिए चुनाव से पहले कीमतों में बढ़ोतरी कर ज्यादा से ज्यादा पैसे जुटाने की योजना है। जिससे चुनाव के वक्त पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी कर जनता को खुश करने कि कोशिश की जा सके। 

विखेपाटील ने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी से लोग परेशान हैं। पूरे देश से कीमतों में कमी की मांग हो रही है। पर केंद्र सरकार उत्पाद शुल्क को कम करने के लिए तैयार नहीं है। इसकी बजाय वे राज्य सरकारों से अपील कर रहे हैं कि अपने करों में कटौती करे। महाराष्ट्र में भाजपा सरकार है। इसके बावजूद राज्य सरकार केंद्र की अपील मानने को तैयार नहीं है। विपक्ष के नेता ने कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर भाजपा-शिवसेना द्वारा जनता के साथ की जा रही धोखाधड़ी को लोग भूलेंगे नहीं। 

Created On :   4 Sep 2018 2:08 PM GMT

और पढ़ेंकम पढ़ें
Next Story