दैनिक भास्कर हिंदी:  पालकमंत्री शिंदे के पीए व मनसे शहर अध्यक्ष ने मांगी 10 लाख की फिरौती

April 21st, 2018

डिजिटल डेस्क, अहमदनगर।  जिले के पालकमंत्री प्रा. राम शिंदे के पीए बापूसाहेब बाचकर व मनसे के जिलाध्यक्ष गजेंद्र राशिनकर के खिलाफ एक रेत कान्ट्रक्टर से 10 लाख रुपए की फिरौती मांगने का मामला कोतवाली पुलिस थाने में दर्ज किया गया है।  कलेक्टर ऑफिस में बाचकर व राशिनकर द्वारा 10 लाख रूपये मांगने की शिकायत रेत कॉन्ट्रक्टर ने कोतवाली पुलिस थाने में दी। जानकारी के अनुसार  जिले के देसवंडी तहसील राहुरी निवासी रेत ठेकेदार कचरू गागरे  अपने किसी काम को लेकर कलेक्टर ऑफिस आया था।

गुरुवार की शाम मनसे के शहर अध्यक्ष गजानन राशिनकर ( निवासी निर्मलनगर, सावेडी, अ. नगर ) व मंत्री राम शिंदे के पीए बापू श्रीधर बाचकर ( निवासी पाइपलाइन लाइन रोड, सावेडी, अ. नगर ) ने कांट्रक्टर नंदकुमार गागरे को  फोन किया और रेत का भंडार चलाने के लिए  10 लाख रुपए देने की मांग की। जिस पर गागरे ने किस बात के 10 लाख देने हैं ऐसा कहने पर राशिनकर व बाचकर ने गागरे को गालियां दी व जान से मारने की दी धमकी दी। तब कॉन्ट्रक्टर नंदकुमार गागरे ने इसकी शिकायत कोतवाली पुलिस थाने में दी।  

मंत्री राम शिंदे की बढ़ सकती है मुश्किल  
रेत कॉन्ट्रक्टर गागरे को रेत भंडार चलाने के लिए 10 लाख रुपए की फिरौती मांगने वाले अपराधियों में से एक  बापू बाचकर  जिले के पालकमंत्री प्रा. राम शिंदे के  पीए हैं। बता दें कि भाजपा सरकार का नारा पारदर्शी कार्यप्रणाली का है ऐसे में मंत्री शिंदे के पीए बाचकर पर सीधे शासन के रेत भंडार में रिश्वत मांगने का आरोप है। लेकिन इस फिरौती मामले के पीछे कौन है?  पीए बाचकर के कारनामे से मंत्री राम शिंदे के सामने मुश्किलें बनने के आसार है। बाचकर की गिरफ्तारी से और  मामले सामने आने की संभावना है।  गजानन राशिनकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेने के शहर अध्यक्ष हैं और यह मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे के करीबी माने जाते हैं। राशिनकर का अवैध रेत सप्लाई का कारोबार है।