comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

हेमा मालिनी के गंगा बैले नृत्याविष्कार से नदी संवर्धन का संदेश , पुणे फेस्टिवल में रंगारंग प्रस्तुति

हेमा मालिनी के गंगा बैले नृत्याविष्कार से नदी संवर्धन का संदेश , पुणे फेस्टिवल में रंगारंग प्रस्तुति

डिजिटल डेस्क, पुणे। बहुचर्चित अभिनेत्री हेमामालिनी ने पुणे फेस्टिवल में नृत्य के माध्यम से गंगा नदी के प्रकट की पौराणिक कथा प्रस्तुत की। साथ वर्तमान में सभी नदियों का रक्षण तथा संवर्धन करने का संदेश भी दिया।  प्रति वर्ष गणेशोत्सव के दौरान पुणे में पुणे फेस्टिवल आयोजित किया जाता है जिसमें नृत्य, संगीत, गायन, सांस्कृतिक, साहित्यिक, क्रीड़ा इन क्षेत्रों से संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। हेमामालिनी हर वर्ष पुणे फेस्टिवल में नृत्य पेश करती हैं। इस वर्ष भी अपनी परंपरा अखंडित रखते हुए हेमामालिनी ने गंगा बैले यह नृत्याविष्कार प्रस्तुत किया। यह उनका 28 वां वर्ष था। उनके नाट्यविहार कला केन्द्र द्वारा इस नृत्य बैले की निर्मिती की गई थी। नृत्य में गंगा के रूप में हेमामालिनी 10 फीट ऊंचाई के झूले से मंच पर आगमन करती हैं ऐसा दिखाया गया था। इस बैले को दर्शकों की काफी सराहना मिली। नृत्य के दौरान गंगा के प्रकट से लेकर वह पृथ्वी पर आने तक की सारी पौराणिक कथा प्रस्तुत की गई। साथ ही गंगा का अलग अलग युगों में होनेवाला अस्तित्व भी बयां किया गया। हेमामालिनी का यह बैले देखने के लिए दर्शकों की काफी भीड़ लगी रही ।  पुणे फेस्टिवल के अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी के हाथों हेमामालिनी और उनके सहकलाकारों का सम्मान किया गया। इस समय डॉ. सतीश देसाई, मीरा कलमाड़ी, फेस्टिवल के उपाध्यक्ष कृष्णकुमार गोयल उपस्थित थे।   

बेटी के जन्म पर गांव में निकाली शोभायात्रा

 पुणे जिले के खेड़ तहसील स्थित राजगुरूनगर निवासी थिगले परिवार में 55 सालों बाद बेटी का जन्म हुआ। इससे परिवार खुशी से फुला नहीं समाया।  परिवार ने पारंपारिक वाद्यों के साथ धूमधाम से शोभायात्रा निकालकर बेटी का स्वागत किया। जानकारी के अनुसार राजगुरूनगर निवासी समीर और नीलिमा थिगले इस दंपति को बेटी हुईं। इस परिवार में 55 साल बाद बेटी ने जन्म लिया इस बात से परिवार के सदस्य काफी खुश थे। रविवार को नीलिमा बेटी के साथ घर आईं तब परिवार के सदस्यों ने दोनों का स्वागत बड़ी धूमधाम से किया। आतिशबाजी की गई। सनई, ढोल बजाकर शाेभायात्रा निकाली। घर से दो सौ मीटर की दूरी तक आकर्षक रंगोली निकाली गई । रंगबिरंगी गुब्बारें, फूलों से घर और परिसर सजाया गया। महिलाओं ने सज धजकर फुगड़ी खेली। बेटी का गृहप्रवेश होते ही सभी को मिठाईयां बांटी गई। परिवार ने बेटी का नाम शांभवी रखा है। परिवार के इस उत्साह को देख गांव में खुशी का माहौल बन गया । बेटी की दादी अलका थिगले ने कहा कि इतने सालों के इंतजार के बाद हमारे परिवार में बेटी जन्मीं हैं। इसलिए हम खुश हैं।  बेटी के जन्म का स्वागत हर एक को करना ही चाहिए। बेटा-बेटी समान ही होते हैं। इसे लेकर जनजागृति होनी चाहिए।  
 

कमेंट करें
DMCsK
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।