दैनिक भास्कर हिंदी: स्कूल परिसर में बनी 13 अवैध इमारतों को गिराने के हाईकोर्ट ने दिए आदेश

September 7th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई।  राज्य के इतिहास की अग्रणी शिक्षाविद सावित्रीबाई फुले के नाम पर अवैध स्कूल बनाने को चिंताजनक मानते हुए बांबे हाईकोर्ट ने सोलापुर के स्कूल कैंपस में बनी 13 अवैध इमारतों को गिराने का निर्देश दिया है। न्यायमूर्ति एससी धर्माधिकारी व न्यायमूर्ति गौतम पटले की खंडपीठ ने सावित्रीबाई फुले शिक्षण प्रसारक मंडल की ओर से दायर याचिका को खारिज करते हुए यह निर्देश दिया है। खंडपीठ ने याचिकाकर्ता पर एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है और अवैध निर्माण को गिराने में खर्च होनेवाली राशि को भी याचिकाकर्ता से वसूल करने का निर्देश दिया है। 

 सोलापुर महानगर पालिका ने महाराष्ट्र रिजनल टाउन प्लानिंग एक्ट के नियमों के उल्लंघन के तहत याचिकाकर्ता द्वारा स्कूल कैंपस में 47.125 एकड़ में किए गए अवैध निर्माण को लेकर 9 मार्च 2018 को नोटिस जारी किया था इसके साथ ही उससे विकास शुल्क के रुप में नौ करोड़ रुपए (दंड की रकम सहित) जमा करने को कहा था। लेकिन याचिकाकर्ता ने नोटिस को नियमों के विपरीत बताते हुए हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। याचिका में दावा किया गया था कि मनपा ने उसे अपना पक्ष व निर्माण कार्य से जुड़ी अनुमति को दिखाने का अवसर नहीं दिया। किंतु मामले से जुड़े तथ्यों पर गौर करने के बाद खंडपीठ ने पाया कि जिस जगह पर निर्माण कार्य किया गया उस भूखंड को गैर कृषि योग्य भूमि (एनए) के रुप में अनुमति भी नहीं ली गई है। खंडपीठ ने याचिकाकर्ता द्वारा किए गए निर्माण कार्य को अवैध मानते हुए उसे राहत देने से इंकार कर दिया। 

खंडपीठ ने कहा कि ऐसे मामलों में कड़ा संदेश दिया जाना जरुरी है। खंडपीठ ने कहा कि स्कूल में फिलहाल तीन हजार बच्चे पढ़ते और वहां पर सैकड़ो कर्मचारी काम करते है। इस आधार पर याचिकाकर्ता के प्रति कोई सहानूभूति नहीं दिखा सकते। खंडपीठ ने याचिकाकर्ता द्वारा आधारहीन याचिका दायर करने के लिए उस एक लाख रुपए का जुर्माना लगाया और उससे अवैध निर्माण को गिराने में खर्च होनेवाली राशि की भी वसूली करने का निर्देश दिया। इस दौरान खंडपीठ ने राज्य की अग्रणी शिक्षाविद सावित्रीबाई फुले के नाम पर अवैध स्कूल का निर्माण करने को लेकर चिंता भी जाहिर की। 

खबरें और भी हैं...