दैनिक भास्कर हिंदी: पत्नी के साथ मिलकर प्रेमिका का गला घोंटा, बच्चे ने खोला राज

March 25th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। उमरेड क्षेत्र की एक युवती की उसके ही प्रेमी ने गला घोंटकर हत्या कर दी थी। मृतक का नाम ऐश्वर्या सुनील चव्हाण है। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी ने अपनी पत्नी के साथ मिलकर प्रेमिका को एक खेत में गड्ढा खोदकर रात में दफना दिया था। 19 वर्षीय ऐश्वर्या के गुमशुदा होने की शिकायत उसके परिजनों ने दो वर्ष पहले उमरेड थाने में दर्ज कराई थी। दो साल से एेश्वर्या का कुछ पता नहीं चल रहा था। ऐश्वर्या के परिजनों ने उमरेड थाने की सहायक पुलिस निरीक्षक शीतल खोब्रागड़े से दो तीन बार मुलाकात की। शीतल इस केस की स्टडी कर आरोपी जितेश वामन कुंभरे तक पहुंच गई। हत्या की इस वारदात में जितेश की पत्नी भी आरोपी है। लाश को गड्ढे में दफनाने में जितेश को पत्नी ने मदद की  थी। जब आरोपी जितेश अौर उसकी पत्नी को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ की तो दोनों पूरा सच उगल दिया। पुलिस की गिरफ्त में आते ही जितेश की तबीयत अचानक खराब हो गई। उसे नागपुर के मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बच्चे की जानकारी पर आगे बढ़ी जांच
सहायक पुलिस निरीक्षक शीतल खोब्रागड़े ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए छानबीन शुरू की तो उन्हें पता चला कि, ऐश्वर्या का जितेश के साथ प्रेम संबंध था। उन्होंने नागभीड़ जाकर जितेश के बारे में पूछताछ शुरू की। जितेश को इस बात की भनक लग गई कि, पुलिस उसके बारे में पूछताछ करने आई थी। पूछताछ में शीतल खोब्रागड़ को यह भी मालूम हुआ कि, जितेश के साथ एक युवती थी, लेकिन बाद में वह नजर नहीं आई। जितेश के गांव के एक बच्चे से पुलिस को यह बात पता चली कि, जितेश के साथ जो लड़की थी, उसका मर्डर करके उसने शव को कहीं दफना दिया है। बच्चे की बात को सच मानकर शीतल ने जितेश और उसकी पत्नी को शक के आधार पर पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। दोनों से अलग-अलग पूछताछ करने पर जितेश और उसकी पत्नी ने सच उगल दिया। 

आरोपी ने एक और युवती को बनाया गर्भवती 
सहायक पुलिस निरीक्षक शीतल खोब्रागड़े ने बताया कि, आरोपी जितेश कुंभरे युवतियों को झांसा देकर उन्हें प्रेमजाल में फंसाने में माहिर है। उसकी पहली पत्नी उससे उम्र में 6 साल बड़ी है। उसे पहली पत्नी से एक बेटी है। उसने पहली शादी की बात छिपाकर दूसरी युवती को प्रेमजाल में फंसाया। उससे शादी का नाटक किया। यह युवती फिलहाल गर्भवती है। 

गांव में ठाट-बाट से रहता था आरोपी
आरोपी जितेश अवैध शराब की खेप पहुंचाने का काम करता था। वह एक बार शराब की खेप लेकर जाने के बदले में दो हजार रुपए लेता था। इस पैसे से वह गांव में ठाट-बाट से रहता था। उसके रहन-सहन को देखकर कोई भी गांव की युवती उस पर मोहित हो जाया करती थी। एेश्वर्या भी उसकी इसी अदा के चलते उससे प्रेम कर बैठी थी। आरोपी जितेश ने एेश्वर्या को अगस्त 2018 में प्रेमजाल में फंसाया। वह एेश्वर्या को शादी के सपने दिखाकर उसे धोखा दे रहा था। एेश्वर्या ने जब उससे शादी की बात की तो वह टाल गया। इससे परेशान एेश्वर्या अगस्त-2018 में जितेश से मिलने उसके गांव नागभीड़ पहुंची, तब उसे पता चला िक, जितेश पहले से ही शादीशुदा है। उसे बेटी और पत्नी है। 

पति छोड़ न दे इसलिए हत्या में दिया साथ
जितेश ने ऐश्वर्या को समझाया कि, उसकी पत्नी उससे शादी करने नहीं देना चाहती है।  उसकी पत्नी को लग रहा था कि, एश्वर्या के चक्कर में कहीं उसका पति उसे न छोड़ दे। इसलिए वह एेश्वर्या को पवनी के जंगल में घुमाने ले गए और वहां उसका गला घोंटकर हत्या कर दी। इधर ऐश्वर्या को जितेश के साथ गांव के कई लोगों ने देखा था। उस बच्चे ने भी देखा था। बस यहीं शक की सुई थम गई थी।