दैनिक भास्कर हिंदी: अवैध संबंध के शक पर पत्नी को उतार दिया मौत के घाट, पुलिस ने किया अंधी हत्या का खुलासा

May 7th, 2019

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। तिलवारा थाना अंतर्गत हुई महिला की अंधी हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। महिला का हत्यारा और कोई नहीं बल्कि उसका पति रघुवीर यादव ही निकला है। रघुवीर ने अपनी पत्नी की हत्या अवैध संबंधों के शक के चलते की है। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों नाला में एक महिला का खून से सना हुआ शव मिला था, जिसकी विवेचना के बाद चौंकाने वाला खुलासा हुआ है।

इस संबंध में पुलिस ने इस संबंध में बतया कि 30-4-19 को ग्राम एैठाखेडा में तिकारी-चरगवां मार्ग चिन्टू बावरिया के प्लाट रोड किनारे नाली मे एक महिला का शव पड़ा हुआ मिला। पुलिस ने पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम के लिए भिजवाते हुए मर्ग कायम कर जांच में लिया गया। दौरान जांच के शव पंचनामा, घटना स्थल निरीक्षण, एफएसएल अधिकारी की राय एवं पीएम रिपोर्ट के आधार पर अज्ञात व्यक्ति के द्वारा महिला की हत्या कर शव को छिपाने की गरज से तिखारी रोड ग्राम एैठाखेडा मे सिमेंटेड नाली में डाल दिया जाना पाया जाने पर अज्ञात आरोपी के विरुद्ध धारा 302,201 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस ने जांच के दौरान हत्या के आरोप में महिला के पति को गिरफ्तार किया, जब उससे सख्ती के साथ पूछताछ की, तो आरोपी पति ने पुलिस के सामने सारी कहानी बयां की। आरोपी पति अब सलाखों के पीछे है।

मिली थी डेढ़ वर्ष की बच्ची
उल्लेखनीय है कि 27-4-19 को ग्राम एैठाखेडा से लगे गांव रामपुर नकटिया में प्रात: लगभग 6 बजे एक डेढ़ साल की बच्ची लावारिस हालत में मिली थी, जो अपना नाम नहीं बता पा रही थी। बच्ची के माता पिता के सम्बंध मे काफी तलाश पतासाजी की गयी, पता न चलने पर चाईल्ड केयर संस्था को सूचित कर बच्ची को संस्था के सुपुर्द किया गया था। सोशल मीडिया एवं समाचार पत्रों के माध्यम से बच्ची के माता पिता की तलाश के सम्बंध में खबर प्रकाशित करायी गयी, वहीं शहर एवं देहात के सभी थानों तथा जबलपुर जिले से लगे सरहदी जिलों को एक अज्ञात महिला के शव के मिलने एवं बच्ची के सम्बंध में सूचित किया गया, लेकिन कहीं भी किसी भी प्रकार की कोई बच्ची के सम्बंध में गुमशुदगी दर्ज होना नहीं पायी गयी है।

जांच में हुआ खुलासा
अज्ञात महिला व बच्ची के संबंध मे काफी पतासाजी की गई तो पता चला कि बच्ची कशिश अपने माता पिता के साथ धनवन्तरी नगर मडफ़ैय्या मे महेन्द्र जैन के मकान मे किराए से रहती थी। मृतिका की शिनाख्त किरण यादव के रूप मे हुई। किरण यादव की शादी पूर्व मे 2011 मे लम्हेटा घाट निवासी मंगल यादव से हुई थी जो अपने पति व 02 वर्षीय बच्ची मानवी को छोड़कर पिछले 3 साल से रघुवीर यादव जो लम्हेटा गोपालपुर का रहने वाला है उसके साथ पत्नी के रूप मे रहनी लगी थी। रघुवीर यादव भी शादीशुदा है जो लम्हेटा मे अपनी पत्नी व 03 बच्चों के साथ रहता है।

मायके छोड़ने ले गया और रास्ते में उतार दिया मौत के घाट
रघुवीर यादव को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा में लेते हुए सघन पूछताछ की गयी तो पाया गया कि दिनांक 26.04.19 को रघुवीर ने अपनी पत्नी किरण को फोन लगाया फोन नहीं उठाने पर कई बार फोन लगाया, जो पत्नी के फोन नहीं उठाने पर लम्हेटा पहली पत्नी शशि के घर से वापस धनवन्तरी नगर आया और पत्नी किरण से झगड़ा किया। पुलिस का कहना है कि आरोपी को शक हुआ कि उसकी पत्नी किरण किसी अन्य के साथ कही गई थी।

आरोपी ने मृतका को मायके कोहानी घंसौर जिला सिवनी ले जाने को कहकर पत्नी, बच्ची को मोटर साइकिल मे लेकर निकला और तिखारी चरगंवा रोड़ पर किरण को रोड़ में पटक दिया तथा पेचकस से गले मे मारा और मर जाने पर उसे रोड के किनारे सीमेन्ट की नाली में फेंक दिया। आरोपी ने धनवन्तरी नगर का किराए का मकान खाली कर दिया। रघुवीर अपनी पहली पत्नी शशि के पास भी रहता था तथा दूसरी पत्नी किरण के साथ भी रहता था शक के आधार पर कि किरण किसी अन्य आदमी के साथ जाती है। इस वजह से योजना बनाकर उसकी हत्या कर दी। बच्ची कशिश चूंकि ना समझ थी, बच्ची से बेहद प्यार करता था इसलिए बच्ची को रामपुर नकटिया गांव के पास रोड किनारे पेड़ के नीचे सुलाकर चला गया था।

उल्लेखनीय भूमिका
अंधी हत्या का खुलासा करने में थाना प्रभारी तिलवारा सारिका पाण्डे, उनि बी.एल. नवरेती, प्रधान आरक्षक अनिल सिंह, सच्चिदानंद सिंह, आरक्षक शारदा त्रिपाठी, दिलीप पाठक, यशवन्त सिंह की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक जबलपुर निमिष अग्रवाल (भा.पु.से.) ने टीम को नगद पुरस्कार से पुरस्कृत करने की घोषणा की है।