comScore

दफनाने के बाद हुई शिनाख्त, परिजनों ने शव उखड़वाने से किया इनकार

दफनाने के बाद हुई शिनाख्त, परिजनों ने शव उखड़वाने से किया इनकार

डिजिटल डेस्क जबलपुर। भेड़ाघाट के सरस्वती घाट में पानी में उतराती हुई मिली लाश की शिनाख्त में पता चला कि यह लाश उखरी रोड मधुवन कॉलोनी निवासी 70 साल के सीताराम की है। वे नर्मदा दर्शन करने के लिए निकले थे और उसके बाद गायब हो गए थे। उनके घर वाले उनकी तलाश कर रहे थे और उनके गायब होने की रिपोर्ट कोतवाली थाने में कराई गई थी। सीताराम 22 जून को घर से निकले थे और उनका पता नहीं चल रहा  था।  पानी में कई दिनों से लाश पड़ी होने के कारण इतनी ज्यादा बदबू दे रही थी कि उसे दफनाना पड़ा। 
इधर शुक्रवार को सवेरे सीताराम के घर वालों अशोक कुशवाहा एवं अन्य को जानकारी मिली कि सरस्वती घाट में  एक वृद्ध की लाश मिली है, वे जब भेड़ाघाट पहुँचे तो पता चला कि जो कपड़े वृद्ध ने पहने थे वे सीताराम के ही थे। वृद्ध की शिनाख्त होने के बाद उन्होंने जब लाश उखड़वाने के लिए कहा तो उन्हें जानकारी दी गई कि उसके लिए मजिस्ट्रेट की अनुमति लगेगी, तो वे इस बात पर राजी हो गए  कि वे लाश जो कि सरस्वती घाट के पास ही दफन की गई थी वहीं पर अपनी तरफ से जो भी संस्कार होते हैं कर देंगे। उसके बाद उनके अन्य परिवार जन भी वहाँ पहुँच गए और उन्होंने सीताराम के अंतिम संस्कार की क्रियाएँ पूरी कीं। 
कार की टक्कर लगते ही घायलों ने चालक को पीटा
पनागर थानांतर्गत छत्तरपुर गाँव के पास कार की टक्कर से दो लोग घायल हो गये। घायलों ने भी मौका पाकर कार चालक व उसके साथी की िपटाई कर कार में तोडफ़ोड़ कर दी। विसेंधी गाँव निवासी अनिल केवट, 35 वर्ष ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार सुबह 7 बजे वह और उमेश केवट पैदल खेत जा रहे थे तभी पनागर की ओर से आ रही कार क्रमांक एमपी 20 सीई 0320 के चालक ने तेज रफ्तार एवं लापरवाही पूर्वक चलाते हुये दोनों को टक्कर मार दी। इससे दोनों को चोटें आ गईं। वहीं कार चालक पवन अवस्थी ने पुलिस को बताया कि अगला टायर फट जाने से कार बहक गई, जिससे अनिल एवं उमेश घायल हो गये। इस बात पर दोनों ने अपने साथियों के साथ मिलकर लकड़ी से हमला कर घायल कर दिया, कार भी क्षतिग्रस्त कर दी।

कमेंट करें
DH1j2