comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

दिग्विजय सिंह का तंज, सीएम फडणवीस विठ्ठल भक्त होते तो पंढरपुर जरूर जाते 

July 24th, 2018 13:30 IST

डिजिटल डेस्क, पुणे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर तंज कसते हुए कहा कि वे अगर विठ्ठल भक्त होते, तो पूजा के लिए ज़रूर पंढरपुर जाते। इसमें इतना क्यों डरना? उन्होंने कहा कि मैं पिछले 27 सालों से आषाढ़ी एकादशी के उपलक्ष्य पर पंढरपुर जा रहा हूं। मुख्यमंत्री के हाथों भगवान विठ्ठल की पूजा की परंपरा काफी पुरानी है, इसके बावजूद मराठा और धनगर समाज के विरोध के चलते मुख्यमंत्री ने वहां जाने से इंकार कर दिया। समाज के इस आक्रोश के लिए मुख्यमंत्री स्वंय जिम्मेदार हैं। मुख्यमंत्री ने एक महीने में आरक्षण देने का वादा किया था, लेकिन अभी तक आरक्षण नहीं दिया है। इसलिए समाज का आक्रोश स्वाभाविक है।

 

भाजपा के लिए धर्म महज राजनीति का मुद्दा

दिग्विजय ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव किसी एक व्यक्ति के विरोध में नहीं बल्कि भाजपा जिस संघ के विभाजनवाद विचारधारा अमल कर रही है, उसके विरोध में है। एक ओर चुनाव के मद्देनजर राममंदिर निर्माण का आश्वासन दिया जाता है, वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी निर्वाचन क्षेत्र में मंदिरों को तोड़ा जा रहा है। इसलिए भाजपा के लिए धर्म यह महज राजनीति का मुद्दा बन गया है।

शिवसेना ने भी दिखाया अविश्वास

अविश्वास प्रस्ताव पर उन्होंने कहा कि जो एक समय भाजपा के सहयोगी थे, तेलगू देसम पार्टी (टीडीपी) ने ही अविश्वास प्रस्ताव लाया था। उस समय कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री को गले लगाकर हाथ मिलाया। यह बात संसद की परंपरा के विरोध में नहीं है। इससे पहले भी जनप्रतिनिधि एक दूसरे को मिलते थे, हाथ मिलाया करते थे। इसलिए इस विषय को बिना वजह प्रसिध्दि दी गई, लेकिन राहुल गांधी के भाषण के मुद्दों को प्रधानमंत्री ने जवाब नहीं दिए इस बात की चर्चा तक नहीं हुई।  


 

कमेंट करें
iPG0E