दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र में शिवसेना के झटके से बचने की हो रही कवायद, BJP तलाश रही रास्ता

July 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। महाराष्ट्र में भाजपा की परेशानी का सबब शिवसेना है। पार्टी रणनीतिकारों का मानना है कि यदि शिवसेना भाजपा से अलग होकर चुनाव लड़ती है, तब लोकसभा चुनाव के बाद होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव में पार्टी को जोर का झटका लगेगा। लिहाजा इस बात पर मंत्रणा चल रही है कि महाराष्ट्र विधानसभा का चुनाव समय से पहले लोकसभा चुनाव के साथ कराने की स्थिति में पार्टी को मोदी के चेहरे का कितना फायदा मिलेगा। सूत्र बताते हैं कि महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड में समय से पहले चुनाव कराकर भाजपा जनता में सत्ता त्यागने की अपनी छवि गढ़ने की भी कोशिश करेगी। इन तीनों राज्यों में वर्ष 2019 के अंत में विधानसभा चुनाव नियत हैं।

बता दें कि ‘एक राष्ट्र एक चुनाव’ के तहत मोदी सरकार इस वर्ष होने वाले मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और मिजोरम के विधानसभा चुनावों को आगे खिसकाने और वर्ष 2019 मंे लोकसभा चुनाव के बाद होने वाले कुछ राज्यों के चुनाव समय से पहले कराने की योेजना पर काम कर रही है। यह अलग बात है कि विपक्षी पार्टियां इसे अव्यवहारिक बताकर खारिज करने में जुटी हैं।