comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

विदेशी महिला ने पुलिस अधिकारी पर लगाया दुष्कर्म का आरोप, नागपुर में मदद के नाम पर एक शख्स से लूट

विदेशी महिला ने पुलिस अधिकारी पर लगाया दुष्कर्म का आरोप, नागपुर में मदद के नाम पर एक शख्स से लूट

डिजिटल डेस्क, मुंबई। उजबेकिस्तान की एक 38 वर्षीय महिला ने एक पुलिस इंस्पेक्टर के खिलाफ बलात्कार के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई है। महिला का दावा है कि आरोपी ने शादी का झांसा देकर उसके साथ कई बार बलात्कार किया और आरोपी से उसे एक बच्चा भी है। आरोपी इंस्पेक्टर का नाम भानुदास उर्फ अनिल जाधव है। वह फिलहाल पुणे के करीब स्थित पिंपरी चिंचवड के एक पुलिस स्टेशन में तैनात है। महिला की शिकायत के आधार पर चेंबूर पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई है। अपनी शिकायत में महिला ने बताया है कि वह साल दिसंबर 2003 में छह महीने के वीजा पर भारत आई थी और फिल्म इंडस्ट्री में काम की तलाश कर रही थी। वीजा अवधि बढ़ाने की कोशिश में वह उस वक्त मुंबई में तैनात आरोपी के साथ संपर्क में आई थी। आरोपी ने महिला की मदद का वादा करते हुए उसका पासपोर्ट ले लिया जो बाद में उसने खोने का दावा किया। इस बीच आरोपी ने महिला को एक होटल में बुलाया और पेय पदार्थ में नशीली चीज मिलाकर उसके साथ बलात्कार किया। महिला के मुताबिक आरोपी दो बार जबरन उसका गर्भपात करा चुका है साथ ही दोनों का पांच साल का बेटा भी है जो विदेश में उसके किसी रिश्तेदार के पास रहता है। महिला के मुताबिक आरोपी ने साल 2006 में अपनी मादक पदार्थ विरोधी पथक में तैनाती के दौरान महिला को फर्जी दस्तावेजों के सहारे कश्मीरी बताकर फिरोजा खान नाम से आधारकार्ड और दूसरे दस्तावेज बनवा दिए। महिला के मुताबिक आरोपी इंस्पेक्टर फर्जी दस्तावेज बनाने के मामले में फंसाने और जान से मारने की धमकी देकर पिछले 15 सालों से उसका यौन उत्पीड़न कर रहा है। महिला ने अपनी शिकायत में यह भी दावा किया है कि आरोपी ने एक और महिला का ड्रग्स देकर बलात्कार किया था जिसमें उस लड़की की मौत हो गई। यही नहीं आरोपी ने पुणे में लड़की के भाई की भी हत्या कर दोनों के शव ठिकाने लगा दिए और वह इसकी चश्मदीद गवाह है। मुंबई पुलिस के डीसीपी प्रणय अशोक के मुताबिक महिला की शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है। हालांकि पीड़िता के वकील नितिन सातपुते का दावा है कि शिकायत दर्ज कराने पहुंची महिला को पुलिसवालों ने अपमानित किया। यह शीना बोरा जैसा मामला है लेकिन पुलिसवाले आरोपी का पक्ष ले रहे थे और उसके साफ सुथरे होने का दावा कर रहे थे। सातपुते के मुताबिक शिकायत महिला पुलिसकर्मी ने दर्ज की लेकिन पुलिस स्टेशन में मौजूद पुरुष अधिकारी भी सारी जानकारियां पढ़ रहें थे जो बेहद आपत्तिजनक है। बता दें कि आरोपी इंस्पेक्टर जाधव को इसी साल 28 सितंबर को सात लाख घूस मांगने और तीन लाख रुपए लेते हुए एसीबी ने रंगेहाथ गिरफ्तार किया था जिसके बाद उसे निलंबित कर दिया गया था। 


पत्नी की हत्या के बाद पति ने की आत्महत्या

एक मामले में किसी बात पर विवाद के बाद एक 60 वर्षीय शख्स ने अपनी पत्नी की चाकू मारकर हत्या कर दी और फिर पांचवीं मंजिल पर स्थित घर की खिड़की से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। वारदात दक्षिण मुंबई के चीराबाजार इलाके की है। एलटी मार्ग पुलिस एफआईआर दर्ज कर छानबीन कर रही है। आनंद मखीजा और उनकी पत्नी कविता मखीजा जेएसएस रोड पर स्थित महेंद्र मेंशन नाम की इमारत की पांचवीं मंजिल पर रहते थे। दंपति के बीच अक्सर विवाद होता रहता था। कविता पिछले चार सालों से अस्थामा की बीमारी से जूझ रहीं थीं आनंद इससे भी परेशान रहता था। गुरूवार रात सात बजे के करीब जब घर में सिर्फ पति-पत्नी ही थे उनके बीच किसी बात पर विवाद हुआ। इससे नाराज आनंद ने घर में रखे चाकू से कविता पर कई वार किए इसके बाद घर की खिड़की खोलकर खुद सड़क पर छलांग लगा दी। आसपास के लोगों ने आनंद को पहचान कर सूचना देने के लिए उनके घर की तरफ दौड़ लगाई लेकिन दरवाजा अंदर से बंद था। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस दोनों को अस्पताल ले गई लेकिन दाखिल करने से पहले ही डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने दंपति की बेटी दीपा की शिकायत के आधार पर आनंद के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। 
 

नागपुर में मदद के नाम पर एक शख्स से लूट

उधर नागपुर में घर छोड़ने का आश्वासन देकर तीन युवकों ने अंधेरे का फायदा उठा एक व्यक्ति को लूट लिया। उसके पास से मोबाइल और नकदी छीन ली। विरोध करने पर उससे मारपीट भी की। घटना गुरुवार मध्यरात्रि गणेशपेठ थाना अंतर्गत हुई है। पुलिस ने फरियादी की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। फरियादी कौस्तुभ रमेश पात्रीकर (33) निवासी रेशीमबाग एनआईटी गार्ड है। घटना की रात घर जाते वक्त उन्होंने गणेशपेठ बस स्टैंड के सामने पान खाया। तभी 3 आरोपी  वहां पहुंचे, उन्होंने फरियादी को घर छोड़ने की बात कही। पीड़ित ने भी उन पर विश्वास किया। एक आरोपी ने पीड़ित की गाड़ी क्रमांक एमएच 49 एन 1902 ली उन्हें पीछे बैठाया, वही बाकी दो अपनी गाड़ी से साथ चलने लगे। बेसा रोड़ पर अंधेरे में गाड़ी रूकाकर आरोपी ने गाड़ी को चेक करना शुरू किया। फरियादी खतरे को भांपते हुए उनका विरोध करने लगे। ऐसे में आरोपियों ने फरियादी से गालीगलौच कर धक्का-बुक्की की। जिससे फरियादी जख्मी पीड़ित का मोबाइल, एटीएम और नकद कुल 40 हजार 3 सौ रुपये का माल छीन लिया। इसके बाद पीड़ित ने घर पहुंचकर आपबीती सुनाई, फिर गणेशपेठ पुलिस स्टेशन में आकर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। चौराहों पर लगे सीसीटीवी फुटेज आदि की मदद से पुलिस आरोपियों का पता लगाने में जुटी है।:

ताला तोड़कर चुरा लिये सोने के आभूषण व नकद 

उधर कोराड़ी में चोर घर का ताला तोड़कर सोने के आभूषण व नकद कुल 89 हजार 200 रुपए ले गए। फरियादी की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु की है। फरियादी प्रकाश लक्ष्मणराव पडोले ( 58) निवासी मसाडा नागपुर है। घटना के दिन वह घर को ताला लगाकर अपने पूरे परिवार के साथ चौदाहवीं के कार्यक्रम में गये थें। लेकिन लौटने पर उन्हें घर का ताला टूटा दिखाई दिया। चेक करने पर अलमारी से नगद 14 हजार रुपए व सोने के आभूषण कुल 89 हजार रुपए का नुक्सान हुआ, अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

कामठी के देह व्यापार अड्डे पर डीसीपी पथक का छापा

उधर कामठी के रमानगर परिसर में चल रहे देह व्यापार अड्डे पर शुक्रवार को डीसीपी पथक ने छापा मार कर एक महिला दलाल को गिरफ्तार कर दो पीड़िता को छुड़ाया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कामठी के रमानगर रेलवे क्रासिंग के पास एक मकान से देह व्यापार संचालित होने की जानकारी परिमंडल 5 के डीसीपी निलोत्पल द्वारा गठित विशेष पथक को मिली। खबर के आधार पर पुलिस ने अपना एक पंटर उक्त अड्डे पर भेजा। पंटर ने वहां मौजूद संगीता राजेश साखरे (49) से युवती का 500 रुपए में सौदा पक्का किया। सौदा पक्का होते ही दलाल महिला ने जैसे ही कमरे में जाने को कहा। इधर दबिश देकर बैठी पुलिस को पंटर ने इशारा कर दिया। पुलिस ने अड्डे पर छापा मारकर वहां से दो पीड़ित युवतियों को हिरासत में लिया। इस मामले में पुलिस ने आरोपी दलाल महिला के खिलाफ धारा 3, 4, 5, 7 के तहत कामठी के नया पुलिस थाने में मामला दर्ज किया है। पीड़ित दोनों युवतियों को बाद में रिहा कर दिया गया। उक्त कार्रवाई नागपुर शहर पुलिस परिमंडल 5 के डीसीपी निलोत्पल, एसीपी राजरतन बंसोड़, वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक संतोष बाकल के मार्गदर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक प्रशांत डी अन्नछत्रे, सूरज भारती, योगेश तातोड, विनोद सोनटक्के, प्रभाकर मानकर, रवींद्र राऊत, चेतन जाधव, मृदुल नगरे, महिला पुलिस कर्मचारी सुजाता पाटील ने की।
 

कमेंट करें
6XiZr
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।