दैनिक भास्कर हिंदी: न खुशी मनेगी- न ही मातम, अयोध्या मंदिर पर फैसले के मद्देनजर मुंबई में बढ़ाई सुरक्षा, सोशल मीडिया पर पैनी नजर

November 6th, 2019

हाईलाइट

  • सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने हर तरफ से हो रही कोशिश 
  • नहीं होगी जश्न या मातम मनाने की इजाजत
  • सोशल मीडिया पर खास नजर

डिजिटल डेस्क, मुंबई। रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीमकोर्ट जल्द ही फैसला सुना सकता है। इसलिए देश की आर्थिक राजधानी और बेहद संवेदनशील महानगर मुंबई की पुलिस भी किसी भी गड़बड़ी से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर रही है। फैसले के बाद किसी को जश्न या मातम मनाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। सोशल मीडिया की निगरानी के लिए भी विशेष टीम बनाई गई है। पुलिस खास एहतियात इसलिए भी बरत रही है क्योंकि बाबरी मस्जिद गिराए जाने के बाद 1992 में सांप्रदायिक दंगे भड़क गए थे।

खबरें और भी हैं...