comScore

Kisan Special Train: कोरोना काल में किसानों के लिए रेलवे की पहल, कल से चलेगी 'किसान स्पेशल पार्सल ट्रेन'

Kisan Special Train: कोरोना काल में किसानों के लिए रेलवे की पहल, कल से चलेगी 'किसान स्पेशल पार्सल ट्रेन'

हाईलाइट

  • पहली किसान स्पेशल पार्सल ट्रेन महाराष्ट्र से बिहार के लिए होगी रवाना
  • इन ट्रेनों से सब्जियां, फल इत्यादि चीजें उपभोक्ताओं तक पहुंच सकेंगी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोना काल में किसानों की मदद के लिए भारतीय रेलवे ने नई पहल की है। जिसकी शुरुआत कर यानी शुक्रवार से होने जा रही है। दरअसल मध्य रेलवे किसानों को राहत पहुंचाने के लिए सप्ताहिक "किसान स्पेशल पार्सल ट्रेन" 7 अगस्त से 30 अगस्त तक देवलाली (महाराष्ट्र) और दानापुर (बिहार) के बीच चलाने जा रहा है, जिससे सब्जियां, फल इत्यादि चीजें समय पर उपभोक्ताओं तक आसानी से पहुंच सकेंगी।

कल पहली किसान स्पेशल पार्सल ट्रेन को हरी झंडी
रेलवे कल महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के लिए पहली किसान स्पेशल पार्सल ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेगा। केंद्रीय बजट 2020-21 में किए गए वादे के अनुसार, इसमें परिवहन योग्य सामान भेजे जाएंगे। रेल मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा, ट्रेन शुक्रवार को देवलाली से 11 बजे रवाना होगी और अगले दिन शाम को 6.45 बजे तक बिहार के दानापुर पहुंचेगी। 1519 किलोमीटर का यह सफर 32 घंटों में पूरा होगा।

इसी तरह ट्रेन अपने रिवर्स ट्रिप में दानापुर से रविवार को चलेगी और अगले दिन सोमवार को देवलाली पहुंचेगी। रेलवे अधिकारी ने कहा, मध्य रेलवे स्थित भुसावल संभाग एक कृषि आधारित संभाग है, क्योंकि नासिक और आस पास के इलाकों में काफी मात्रा मे ताजे फल, सब्जियां, फूल, प्याज व अन्य कृषि उत्पादों का उत्पादन होता है, जोकि परिवहन योग्य है। इन उत्पादों को मुख्यत: पटना, इलाहाबाद, कटनी और सतना जैसे क्षेत्रों में भेजा जाएगा।

अधिकारियों के अनुसार, ट्रेन का स्टॉपेज नासिक रोड, मनमाड, जलगांव, भुसावल, बुरहानपुर, खंडवा, इटारसी, जबलपुर, सतना, कटनी, मानिकपुर, प्रयागराज, पंडित दिन दयाल उपाध्याय नगर और बक्सर में होगा। परिवहन योग्य सामग्रियों को ट्रांसपोर्ट करने के लिए स्थानीय किसानों, एपीएमसी और लोगों के साथ तेजी से मार्केटिंग की जा रही है।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में पीपीपी मॉडल के जरिए किसान रेल शुरू करने का प्रस्ताव रखा था। किसान रेल में रेफ्रिजरेटेड कोच लगे होंगे। इसे रेलवे ने 17 टन की क्षमता के साथ नए डिजाइन के रूप में निर्मित करवाया है। इसे रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला में बनाया गया है। भारतीय रेल के पास ऐसे नौ रेफ्रिजरेटेड वैन का बेड़ा है और इसे राउंड ट्रिप आधार पर बुक किया जा सकता है।

कमेंट करें
mvWCV