comScore

नागपुर विणकर सहकारी कॉटन मिल के कर्मचारियों के बकाया वेतन देने का निर्देश 

नागपुर विणकर सहकारी कॉटन मिल के कर्मचारियों के बकाया वेतन देने का निर्देश 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने नागपुर विणकर सहकारी कॉटन मिल के कर्मचारियों के बकाया वेतन के मामले में तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कॉटन मिल के कर्मचारियों के बकाया वेतन और हातमाग महामंडल की ओर से अदा की जाने वाली निधि जल्द से जल्द उपलब्ध कराया जाएं। शुक्रवार को विधानभवन में कॉटन मिल के कर्मचारियों की विभिन्न मांगों को लेकर बैठक हुई। बैठक में कर्मचारियों के बकाया वेतन और सानुग्रह अनुदान देने के बारे में चर्चा हुई। उन्होंने महामंडल को कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए उचित कदम उठाने को निर्देश दिया। इस दौरान प्रदेश के वस्त्रोद्योग मंत्री राम शिंदे, वस्त्रोद्योग राज्यमंत्री अर्जुन खोतकर, विधायक विकास कुंभारे, कृष्णा खोपडे उपस्थित थे।

नाइट स्कूल के अंशकालिक शिक्षकों को मिलेगा पूर्णकालिक दर्जा

प्रदेश सरकार राज्य के नाइट स्कूलों के अंशकालिक शिक्षकों को पूर्णकालिक करेगी। विधान परिषद में प्रदेश के शिक्षा मंत्री आशीष शेलार ने यह आश्वासन दिया। शेलार ने कहा कि नाइट स्कूलों के शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मचारियों के लिए सरकारी सेवा व सुविधा का लाभ देने के लिए 17 मई 2017 को शासनादेश जारी किया गया है। इस शासनादेश को प्रभावी रूप से लागू किया जाएगा। इससे नाइट स्कूलों के शिक्षकों को चिकित्सा खर्च की प्रतिपूर्ति, अनुकंपा के आधार पर भर्ती समेत अन्य सुविधाएं मिलेंगी। शुक्रवार को सदन में भाजपा के सदस्य अनिल सोले ने नाइट स्कूलों के शिक्षकों की विभिन्न समस्याओं का मुद्दा उठाया था। शेलार ने कहा कि नाइट स्कूलों के शिक्षकों से जुड़ी विभिन्न समस्याओं को लेकर अगले दो महीनों में बैठक बुलाई जाएगी। शेलार ने बताया कि राज्य में 176 नाइट स्कूल हैं। लगभग 1400 शिक्षक हैं। 500 से अधिक शिक्षकेत्तर कर्मचारी हैं। एक पूर्णकालिक नाईट महाविद्यालय है।  

रक्त उपलब्ध होने की जानकारी मिलेगी ऑनलाइन

प्रदेश के सभी ब्लड बैंकों में रक्त की उपलब्धता के बारे में लोगों को ऑनलाइन पता चल सकेगा। महाराष्ट्र राज्य रक्त संक्रमण परिषद के माध्यम से ऑनलाइन व्यवस्था तैयार की जाएगी। विधान परिषद में प्रदेश के नगर विकास राज्य मंत्री योगेश सागर ने यह जानकारी दी। सागर ने कहा कि ऑनलान सुविधा होने के कारण मरीजों को काफी मदद मिल सकेगी। शुक्रवार को सदन में भाजपा सदस्य प्रवीण दरेकर ने मरीजों के लिए रक्त उपलब्ध कराने को लेकर सवाल पूछा था। 

वर्धा नदी पर बेरेज बनाने का काम मार्च 2020 तक  

वर्धा जिले के आजनसरा गांव के पास वर्धा नदी पर बेरेज बनाने की परियोजना को प्रधानमंत्री सिंचाई योजना में शामिल करने के लिए मार्च 2020 तक फैसला किया जाएगा। विधान परिषद में प्रदेश के जलसंसाधन राज्य मंत्री विजय शिवतारे ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि परियोजना के लिए फिलहाल सर्वेक्षण का काम शुरू है। इसके बाद भूमिअधिग्रहण और पुनर्वसन का काम होगा। शुक्रवार को सदन में भाजपा सदस्य रामदास आंबटकर ने परियोजना को लेकर मुद्दा उठाया था। 
 

कमेंट करें
GO82z